एमआईएम ने सीमांचल के विकास का नारा किया बुलंद, तेजस्वी का सरकार पर हमला

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
पटना, 27 नवंबरः  सत्रहवीं विधानासभा के 23 नवंबर से शुरू हुए पांच दिवसीय सत्र के आखिरी दिन आज शुक्रवार को भी विपक्षी सदस्यों ने सदन के अंदर और बाहर भारी हंगामा किया। सदन के अंदर विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद ने सरकार की कार्यशैली की आलोचना की।

विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। कांग्रेस विधायक अजित शर्मा ने कहा कि सरकार सदन में विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है। भाकपा माले विधायक महबूब आलम ने कहा कि सरकार किसानों के हित की अनदेखी कर रही है। राजद विधायक आलोक मेहता ने कहा कि सदन में जवलंत मुद्दों को उठाना विपक्ष का दायित्व है। राजद नेता भाई वीरेंद्र ने कहा कि आने वाले दिनों में ये सब को पता चल जाएगा कि कौन लुटेरा है और किन लोगों ने भ्रस्टाचार किया है।

दूसरी तरफ उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण पर विपक्ष द्वारा चर्चा न करके संशोधन का प्रस्ताव दिया गया जो कि बेहद निंदनीय है। जदयू विधायक श्रवण कुमार ने कहा कि सरकार अपना काम कर रही है लेकिन विपक्ष मुख्य मुद्दों पर चर्चा न करके दूसरे मुद्दे उठाकर सदन को भटका रहा है। विपक्ष के पास बोलने के लिए कोई मुद्दा ही नहीं है। भाजपा विधायक राणा रणधीर सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री पर विपक्ष द्वारा निजी टीका टिप्पणी करना बेहद निंदनीय है।

सदन के बाहर विपक्षी सदस्यों ने जहां एक तरफ किसानों के मुद्दे पर नारेबाजी की वहीं एमआईएम के विधायक और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखतरुल ईमान ने सीमांचल के विकास का मुद्दा उठाया।

 464 total views

Share Now

Leave a Reply