धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने वाले होते हैं अशिक्षित

बिहार लोक संवाद डॉट नेट

जो लोग धर्म के नाम पर हिंसा फैलाते हैं और दूसरे धर्मवालों पर निशाना साधते हैं, वे दअरअसल अशिक्षित हैं और अपने ही धर्म की मूल भावना और देश के संविधान को नहीं समझते। वर्तमान समय की ये तल्ख़ सच्चाइयां पटना स्थित जेवियर इंस्टीच्यूट ऑफ सोशल रिसर्च के डायरेक्टर डॉ. जोस कालापुरा ने बयान कीं। डॉ. जोस रविवार को खुदा बख्श लाइब्रेरी में ‘रेलिजन एंड वर्ल्ड पीस’ शीर्षक से आयोजित एक लेक्चर समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शांति और भाईचारा के लिए हिंसा को खत्म करना जरूरी है। हिंसा न हो, इसके लिए इंसान के अंदर माफ कर देने का गुण होना चाहिए।

बिहार लोक संवाद डॉट नेट से खास बातचीत करते हुए डॉ. जोस ने कहा कि दुनिया के हरेक धर्म में शांति का कोर वैल्यू मॉजूद है।

डॉ. जोस ने भारत की धर्मनिरपेक्षता को सारी दुनिया में सबसे अनूठा करार दिया। उन्होंने कहा कि इसे पश्चिमी देशों के सेक्यूलरिज्म से तुलना करके कंफ्यूज नहीं करना चाहिए।

इस अवसर पर खुदा बख्श लाइब्रेरी की डायरेक्टर डॉ. शाइस्ता बेदार ने कहा कि आपसी रिश्ते को खुशगवार बनाने के लिए लोगों को हरेक धर्म के मूल तत्वों का अध्ययन करना चाहिए।

धर्म के नाम पर देश का माहौल अक्सर बिगाड़ा जाता है। इस पृष्ठभूमि में इस प्रकार के लेक्चर सीरीज का आयोजन कई मायनों में महत्वपूर्ण है।

 447 total views

Share Now

Leave a Reply