बिहार में कोरोना संक्रमण दर 11 प्रतिशत से अधिक, 30 अप्रैल तक दो लाख केस की आशंका

बिहार लोक संवदा डॉट नेट
बिहार में कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण दर काफी बढ़ी हुई है। बुधवार को आयी रिपोर्ट के मुताबिक 24 घंटे में जिन एक लाख पांच हजार नौ सौ अस्सी नमूनों की जांच की गयी उनमें करीब 11.5 प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित निकले।
उधर, राज्य सरकार ने हाईकोर्ट को बताया है कि पॉजिटिविटी रेट 15-16 प्रतिशत बढ़ रही है। यानी पहले 100 जांच कराने वालों में 10 संक्रमित निकल रहे थे तो यह अब 11.5 से 11.6 प्रतिशत लोेेग कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। इस रफ्तार पर काबू न पाया गया तो 30 अप्रैल तक बिहार में कुल दो लाख नये केस हो जाएंगे। यानी हर दिन बीस हजार लोग कोरोना संक्रमित निकलेंगे। तब तक सक्रिय केस की संख्या डेढ़ लाख हो जाएगी।
पॉजिटिवटी रेट इतनी बढ़ने के साथ कोरोना से होनी वाली मौत की दर भी करीब बीस प्रतिशत बढ़ गयी हैै। यानी अगर पहले सौ बीमार में दस की मौत हो रही थी, तो अब यह 12 हो रही है।
राज्य सरकार की ओर से पटना हाईकोर्ट को बताया गया है कि नये केसों में कुल 45 हजार लोगों को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत होगी। इनमें से 15 हजार को ऑक्सीजन वाले बेड की जरूरत होगी।
पटना में अब भी राज्य के सबसे अधिक कोरोना मरीज मिल रहे हैं। बुधवार की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में कुल 12 हजार 222 केस मिले थे। इनमें से 2919 केसे अकेले पटना के थे। मंगलवार को पटना जिले से 2180 केस मिले थे। इस तरह यहां केस में 33 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हो गयी है। हालांकि अच्छी बात यह है कि करीब 65 हजार लोग ठीक हुए हैं, इसलिए अब सक्रिय केस 15 हजार ही बचे हैं।

 326 total views

Share Now

Leave a Reply