गुलनाज के परिवार को नौकरी और 25 लाख का मुआवजा देने की मांग, 23 नवम्बर को प्रतिरोध मार्च, दरभंगा में विरोध प्रदर्शन

बिहार लोक संवाद ब्यूरो
पटना, 18 नवंबर: जबरन शादी के लिए मिट्टी का तेल छिड़क कर गुलनाज खातून को जलाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का एक शिष्टमंडल मृतक गुलनाज के घर रसूलपुर हबीब पहुँचा।

पार्टी के राज्य मंत्री कॉमरेड रामनरेश पांडेय, बखरी विधायक सूर्यकांत पासवान, जिला मंत्री अमृत गिरी, एआईएसएफ के राज्य अध्यक्ष रंजीत पंडित के नेतृत्व में शिष्टमंडल मृतक गुलनाज के परिजन से मिला। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल ने चाँदपुरा ओपी प्रभारी ललन सिंह से मुलाकात करके पूरे मामले की जानकारी ली। प्रभारी ने कहा कि एक की गिरफ्तारी हो गई है और अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी शीघ्र होगी।

गुलनाज के घर रसूलपुर हबीब पहुँच कर हालात का जायजा लेते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का शिष्टमंडल

 

सीपीआई के राज्य मंत्री और पूर्व विधायक रामनरेश पांडेय ने बताया कि बिहार में कानून व्यवस्था पूरी तरह धवस्त हो चुकी है। लड़कियों और महिलाओं पर लगातार अत्याचार हो रहा है और सरकार गहरी नींद में सोई हुई है। घटना के 20 दिनों के बाद केवल एक आरोपियों की गिरफ्तारी होने से नितीश कुमार की यह सरकार कटघरे में है।

शिष्टमंडल ने गुलनाज की माँ और भाई को सरकारी नौकरी देने, मृतक के परिवार को 25 लाख रुपये सहायता प्रदान करने और इस मामले का स्पीडी ट्रायल कराकर दोषियों को सजा दिलाने की माँग की है।

इस मामले को लेकर सीपीआई 23 नवम्बर को हाजीपुर में प्रतिरोध मार्च निकालेगा, धर्मनिरपेक्ष महागठबंधन के लोगों को भी इस मार्च में शामिल होने का आहवान् सीपीआई के जिला मंत्री अमृत गिरी ने किया है।

सीपीआई नेता एवं बखरी के विधायक सूर्यकांत पासवान ने कहा कि डबल इंजन की इस सरकार में बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ जुमला साबित हुआ है। ऐसे वीभत्स काम करने वाले लोगों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने एवं मृतक के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए सड़क से लेकर सदन तक आवाज उठाऊंगा।

शिष्टमंडल में सीपीआई के विश्वनाथ राय विप्लवी, सूरज राय, सफदर इरशाद, उत्तम कुमार ठाकुर, मुकेश पटेल, मोहित पासवान, विन्देश्वर राय, जितेंदर प्रसाद सिंह, जितेश् कुमार, मो. अली, चंदन तेजपुंज, कामिल रजा सहित अन्य लोग भी मौजूद थे।

दूसरी तरफ, वैशाली की बेटी के साथ हुई दरिंदगी और देश की तमाम बेटियों को दबाने, कुचलने तथा उनकी इज्जत आबरू से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ आज दरभंगा शहर के लालबाग स्थित वीर अब्दुल हमीद चैक पर स्थानीय जांबाज बेटियों समेत कई लोगों ने अपनी आवाज बुलंद की।

दरभंगा में विरोध प्रदर्शन का एक दृश्य

इस अवसर पर प्रदर्शनकारियों ने अपना पुरजोर विरोध दर्ज कराया और महिलाओं को प्रताड़ित करने वाली पुरुष मानसिकता के खिलाफ लड़ने और इसे जड़ से खत्म करने को लेकर एक लंबी लड़ाई लड़ने की प्रतिज्ञा ली। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व एस.आई.आ.े दरभंगा के जिला अध्यक्ष अमानुल्लाह ने किया।

 

 

 

 

 852 total views

Share Now

Leave a Reply