छपी-अनछपी: सेंटर की नौकरियों में ओबीसी कोटे से भी कम, कुढ़नी उपचुनाव के लिए वोटिंग आज, कतर की चांदी

बिहार लोक संवाद डॉट नेट पटना। रिज़र्वेशन के मुद्दे पर जारी लंबी बहस के बीच यह खबर आई है कि केंद्र सरकार की नौकरियों में ओबीसी की संख्या अपने 27% के कोटे से भी कम है। यह ख़ास ख़बर आज हिंदुस्तान में पहले पेज पर छपी है। मुजफ्फरपुर जिले की कुंडली विधानसभा सीट पर आज उपचुनाव के लिए वोटिंग होगी। गुजरात में विधानसभा के लिए दूसरे व अंतिम चरण की वोटिंग भी आज ही होगी। इसकी खबर सभी अखबारों में प्रमुखता से छपी है। हालांकि सभी अखबारों की लीड अलग अलग है। साथ ही जानिएगा कि कतर में फुटबाॅल विश्व कप होने से वहां के टूरिज्म को क्या फायदा हुआ है।

अस्पतालों में दो पालियों में होगी ओपीडी

हिन्दुस्तान की पहली सुर्खी है : राज्य के अस्पतालों में दो पालियों में होगी ओपीडी। स्वास्थ्य विभाग ने तय किया है कि सदर अस्पतालों, अनुमंडल अस्पतालों और पीएचसी आदि में पहली पाली सुबह नौ बजे से एक बजे तक होगी। इसके बाद दो घंटे का विश्राम होगा। फिर दूसरी पाली तीन से पांच बजे तक होगी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जल्द इस बाबत आधिकारिक निर्णय लिया जाएगा।

कोटे के बावजूद केंद्रीय सेवाओं में सिर्फ 20% ओबीसी

हिन्दुस्तान की खास खबर है: कोटे के बावजूद केंद्रीय सेवाओं में सिर्फ 20% ओबीसी कर्मचारी। इसमें बताया गया है कि केंद्र सरकार की नौकरियों में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को 27% कोटा मिला है लेकिन केंद्र की नौकरियों में ओबीसी की हिस्सेदारी सिर्फ 20% हो पाई है। कार्मिक मंत्रालय की ओर से हाल में जारी वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, एक जनवरी 2019 को केंद्र सरकार के 55 मंत्रालयों और विभागों में ओबीसी कर्मचारियों की संख्या महज 20.43 फीसदी थी। अनुसूचित जातियों की हिस्सेदारी केंद्रीय नौकरियों में 17.39% है, जबकि उन्हें 15%आरक्षण प्राप्त है। इसी प्रकार अनुसचित जनजाति को 7.5% आरक्षण प्राप्त है तथा उनकी हिस्सेदारी 7.64% दर्ज की गई हैै।

कांग्रेस की बैठक

जागरण की सबसे बड़ी सुर्खी है: जवाबदेही से बचने वाले नेता किए जाएंगे कांग्रेस से बाहर। यह सख्त संदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने संचालन समिति की बैठक में दिया है। उन्होंने पार्टी की चुनावी जीत के लिए संगठनात्मक जवाबदेही को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का ऐलान किया। इसके साथ ही पार्टी के राज्य प्रभारियों को 30 से 90 दिनों के भीतर जनता से जुड़े मुद्दों पर जन आंदोलन करने और उसकी रिपोर्ट देते रहने का निर्देश दिया गया।

टैक्स नहीं देने वाले कोचिंग संस्थानों पर कसेगा शिकंजा

प्रभात खबर की सबसे बड़ी हैडलाइन है: टैक्स नहीं देने वाले कोचिंग संस्थानों पर कसेगा शिकंजा। वाणिज्य कर विभाग  ने शिक्षा विभाग से आंकड़ा लेकर कोचिंग संस्थानों के सर्वे और निरीक्षण की योजना बनाई है। इसके अनुसार राज्य भर में 87 सौ कोचिंग सेंटर हैं हालांकि इनमें महज 400 कोचिंग ही रजिस्टर्ड हैं। एक औसत कोचिंग संस्थान में एक बार में लगभग 7000-8000 छात्र एडमिशन लेते हैं जिनसे हर महीने 35 लाख से 80 लाख रुपये तक की कमाई होती है। इन्हें हर माह जीएसटी रिटर्न दाख़िल करना होता है मगर वे ऐसा नहीं करते।

वर्ल्ड कप से कतर के पर्यटन में बूम

भास्कर की पहली खबर है: वर्ल्ड कप से कतर के पर्यटन में बूम, पड़ोसी देशों में 200% तक बढ़ा, 2030 तक हर साल 60 लाख पर्यटक आएंगे। इस खबर में बताया गया है कि 20 नवंबर से शुरू फीफा वर्ल्ड कप आधा पड़ाव पार कर चुका है। कतर को उम्मीद थी कि 18 दिसंबर को फाइनल तक 15,00,000 विदेशी पर्यटक आएँगे। हालांकि उम्मीद से अधिक रिस्पॉन्स मिलने से कतर समेत आसपास के खाड़ी के देशों की बांछें खिल उठी है। फर्स्ट राउंड तक ही 8,00,000 से अधिक पर्यटक कतर पहुँच चुके हैं।

कुढ़नी उपचुनाव, गुजरात विधानसभा चुनाव

जागरण ने गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए आज होने वाले मतदान की खबर के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर छपी है जिसमें वह अपनी मां के चरण स्पर्श कर रहे हैं। इस खबर के साथ एक और सुर्खी है  विधानसभा सीट के लिए भी आज वोटिंग 13 प्रत्याशी मैदान में 8 को मतगणना। हिन्दुस्तान में पहले पेज पर सुर्खी है: कुढ़नी में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान आज। इसमें जानकारी दी गई है कि यहां 15 कंपनी पुलिस बलों की तैनाती की गई है। यहां 195286 वोटर है।

ईरान की ‘धार्मिक पुलिस’ की इकाइयां भंग

जागरण की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: ईरान की ‘धार्मिक पुलिस’ की इकाइयां भंग। अखबार लिखता है: हिजाब व सख्त ड्रेस कोड को लेकर महीने से चल रहे विरोध प्रदर्शन के बाद सरकार ने यह कदम उठाया है। इस पुलिस को ‘गश्त ए इरशाद’ या मोरल पुलिस भी कहा जाता है। ईरान के पब्लिक प्रॉसिक्यूटर मोहम्मद जाफर मोन्तज़री ने कहा कि धार्मिक पुलिस न्यायपालिका के अधीन नहीं थी, इसे खत्म कर दिया गया है। इसका गठन 2006 में हुआ था। ईरान में 22 वर्षीय युवती महसा अमीनी को धार्मिक पुलिस ने सख्त ड्रेस कोर्ट का उल्लंघन करने के आरोप में पकड़ा था और उसकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। इसके बाद राजधानी तेहरान समेत देश के अन्य हिस्सों में करीब ढाई महीने से हिजाब विरोधी प्रदर्शन चल रहे हैं।

सेन लेबोरेटरी के निदेशक नहीं रहे

बिहार के सबसे मशहूर पटना स्थित जांच सेंटर सेन लेबोरेटरी के निदेशक डॉ संदीप सेन की शनिवार को हार्ट अटैक से मौत हो गयी। वे बंगलुरू में थे। जागरण के अनुसार रविवार की रात फ्लाइट से उनका पार्थिव शरीर पटना के कंकड़बाग स्थित उनके आवास पर पहुंचा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डॉक्टर संदीप के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।

मध्यप्रदेश में 200 करोड़ का घोटाला

जागरण की एक खास खबर है मध्य प्रदेश के 120 अस्पतालों ने आयुष्मान योजना में किया 200 करोड़ का घोटाला। इस योजना के तहत 620 अस्पतालों को 3 साल में 1048 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ है। इनमें इंदौर भोपाल ग्वालियर और जबलपुर के नामी अस्पताल भी शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग अब इन प्राइवेट अस्पतालों पर जुर्माना लगा रहा है। कुल 104 अस्पतालों से जुर्माना वसूलने के लिए नोटिस जारी किए जा चुके हैं। इस घोटाले की जांच में यह बात उजागर हुई है कि अस्पतालों में खुद के कर्मचारियों के नाम आयुष्मान कार्ड बनवा दिए गए थे और उन्हें मरीज बनाकर रखम निकाली गई। इसी तरह किसी मरीज का बिल 50000 का बना तो से बढ़ाकर ₹200000 की राशि सरकार से वसूल ली जाती थी।

ढाका को पाकिस्तान बताने पर तनाव

जागरण ने खबर दी है: शिवहर सांसद के बयान से ढाका में तनाव। कुर्मी विधानसभा उपचुनाव के प्रचार के दौरान शिवहर की सांसद भाजपा की रमा देवी के एक बयान से ढाका की राजनीति में भूचाल आ गया है। उनके इस बयान का वीडियो वायरल हो गया है जिसमें सांसद ने ढाका को पाकिस्तान बताया था इसके बाद माहौल गर्म हो गया। इलाक़ा सिकरहना अनुमंडल में पड़ता है यहां के एसडीओ इस्तकार अहमद ने किसी भी दल को वहां कार्यक्रम करने की अनुमति देने से इंकार कर दिया। इधर जिला मुख्यालय से भी काफी संख्या में पुलिस बल भेजे गए हैं। दूसरी और सांसद रमा देवी ने बयान को खारिज करते हुए कहा कि वीडियो एडिट करके जनता को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है।

अनछपी: बिहार की सरकार से अलग होने के बाद भारतीय जनता पार्टी के कुछ खास नेता लगातार ऐसे बयान दे रहे हैं जिससे समाज में तनाव पैदा हो सकता है। शिवहर के सांसद रमा देवी ने हालांकि अपने वीडियो के बारे में यह कहा है कि उसे एडिट किया गया है लेकिन उन्होंने ढाका विधानसभा क्षेत्र के बारे में जरूर ऐसी कोई बात कही है जिससे लोगों का मन आहत हुआ है। आरोप है कि उन्होंने ढाका को पाकिस्तान बताया है इसके बाद वहां तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। ऐसे में वहां भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लंबे समय तक भारतीय जनता पार्टी के साथ काम कर चुके हैं और उन्हें इस बात के लिए चौकन्ना रहना होगा कि ऐसे गैर जिम्मेदाराना और तनाव पैदा करने वाले बयान को लेकर प्रशासन सही कार्रवाई करें। प्रशासन की जिम्मेदारी है कि सांसद के बयान की सच्चाई का पता लगाएं और साथ ही सांसद पर भी कार्रवाई करने की जरूरत हो तो उससे हिचकिचाए नहीं।

 

 

 567 total views

Share Now

Leave a Reply