छपी-अनछपीः फरवरी तक पूरी होगी जातीय गणना, भारतीय दल पहुंचा तालिबान वाले अफगानिस्तान

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। बिहार में जातीय गणना कराने के फैसले के बाद शुक्रवार को भी इससे संबंधित खबरें पटना के सभी अखबारों की सबसे प्रमुख खबर बनी हुई है। इसके अलावा वैशाली में जेवर दुकान से दो करोड़ की लूट की खबर भी बड़ी है। एक छोटी सी खबर यह भी छपी है कि सरकार ने अब रसोई गैस पर दी जानी वाली सब्सिडी पूरी तरह खत्म कर दी है।
हिन्दुस्तान, जागरण, भास्कर और प्रभात खबर में बताया गया है कि यह जातीय गणना बिहार सरकार अपने आकस्मिक मद से कराएगी जिसमें 500 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके फरवरी 2023 तक पूरी होने की उम्मीद है। इस बीच भाजपा के एक और सीनियर सदस्य और पूर्व मंत्री रविशंकर ने फिर इस बारे में रोहिंग्या राग छेड़ा है। वे गुरुवार को बेगूसराय में एक प्रेस में बोले कि बिहारी बनकर रोहिंग्या लोग जनगणना में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं।
जागरण ने अपने दूसरे पेज की लीड की हेडिंग लगायी है- कश्मीर में निशाने पर हिन्दू, हमलों में बिहार के श्रमिक समेत दो की मौत। यह खबर बाकी अखबारों में भी प्रमुखता से छपी है।
जागरण की खास खबर है कि तालिबान के आने के बाद पहली बार काबुल पहुंचा भारतीय दल, हालांकि भारत ने अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को मान्यता नहीं दी है। विदेश मंत्रालय के संयुक्त सविच जेपी सिंह के नतृत्व में पहुंचे इस दल ने वहां के विदेश मंत्री से मुलाकात की और वहां चल रहे मानवीय सहायता के कार्यों का जायजा लिया।
नौकरी की खबरः प्रभात खबर ने पहले पेज पर खबर दी हैः अस्पतालों जल्द नियुक्त होंगे 702 डेंटल हाइजिनिस्ट। यह उन उम्मीदवारों के लिए बेहतरी अवसर है जिनके पास डेंटल हाइजीन में डिप्लोमा है। हिन्दुस्तान में 55 ड्रग इंस्पेक्टरों की बहाली के लिए तैयारी की खबर छपी है। इससे पहले 2008 में इस पद पर बहाली हुई थी।
अनछपीः हालांकि जागरण ने भारतीय प्रतिनिधमंडल के काबुल दौरे की खबर छापी है लेकिन इसके बारे में बहुत सी बातें अनछपी चल रही हैं। पहली बात तो यह कि इस दौरे को बहुत प्रचारित नहीं किया जा रहा है। दूसरी बात यह है कि यह एक तरह से अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को मान्यता देने की तैयारी है।

 448 total views

Share Now

Leave a Reply