छ्पी-अनछपी: मोदी कैबिनेट में पीएम समेत 72 मंत्री, कश्मीर में बस पर आतंकी हमले में 9 मरे

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। तीसरी बार प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में उनके समेत कुल 72 मंत्री बनाए गए हैं। कश्मीर में तीर्थयात्रियों की बस पर आतंकी हमले में नौ लोगों की मौत हो गई है। कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने कहा है कि वह मेडिकल प्रवेश परीक्षा ‘नीट’ का मुद्दा संसद में उठाएंगे। टी 20 वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को 6 रनों से हरा दिया। आज के अखबारों की यह अहम खबरें हैं।

भास्कर के अनुसार मैं नरेंद्र दामोदर दास मोदी ईश्वर की शपथ लेता हूं… इन्हीं शब्दों के साथ नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार पीएम बन गए। राष्ट्रपति भवन में हुए शपथ ग्रहण समारोह में 72 सांसदों ने शपथ ली। इससे पहले मोदी सरकार में कभी भी इतने मंत्रियों ने एक साथ शपथ नहीं ली है। 2019 में पीएम के अलावा 57 लोगों ने मंत्री की शपथ ली थी। नए मंत्रिमंडल में पीएम के अलावा 30 कैबिनेट मंत्री, पांच स्वतंत्र प्रभार वाले और 36 राज्य मंत्री हैं। 240 सीटों वाली भाजपा से पीएम समेत 61, 16 सीटों वाली टीडीपी से दो और 12 सीटों वाली जदयू से दो सांसदों ने मंत्री पद की शपथ ग्रहण की। कैबिनेट में 35 नए चेहरों को जगह दी गई है 36 रिपीट है। इस बार उत्तर प्रदेश से मंत्रियों की संख्या 14 से घटकर 10 रह गई। महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश से 6-6 मंत्री बनाए गए हैं। जेपी नड्डा के मंत्री बनने के साथ यह बहस शुरू हो गई है कि भारतीय जनता पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा।

बिहार से आठ मंत्री

केंद्रीय मंत्रिमंडल में बिहार से आठ सांसद मंत्री बने हैं। इनमें चार कैबिनेट मंत्री और चार राज्य मंत्री हैं। कैबिनेट मंत्री बनने वालों में भारतीय जनता पार्टी के गिरिराज सिंह और जनता दल (यूनाइटेड) के राजीव रंजन सिंह भूमिहार जाति से हैं। हिंदुस्तानी एवं मोर्चा के जीतन राम मांझी और लोक जनशक्ति पार्टी के चिराग पासवान भी कैबिनेट मंत्री बने हैं। राज्य मंत्रियों में जदयू के रामनाथ ठाकुर, भारतीय जनता पार्टी के नित्यानंद राय और राज भूषण चौधरी लोकसभा सांसद हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी के ही सतीश चंद्र दुबे राज्यसभा सदस्य हैं जो मंत्री बनाए गए हैं।

कश्मीर में आतंकी हमला, 9 मरे

हिन्दुस्तान के अनुसार जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में रविवार शाम आतंकवादियों ने उत्तर प्रदेश के तीर्थयात्रियों को ले जा रही एक बस पर गोलीबारी की, जिससे बस खाई में जा गिरी। इस घटना में नौ लोगों की मौत हो गई और 33 अन्य घायल हुए हैं। रियासी की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहिता शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार, आतंकवादियों ने घात लगाकर शिव खोड़ी से कटरा के लिए रवाना हुई बस पर गोलीबारी की।

राहुल संसद में उठाएंगे नीट का मुद्दा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी विवाद को लेकर रविवार को नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नए कार्यकाल के लिए मोदी के शपथ लेने से पहले ही परीक्षा में कथित अनियमितताओं के कारण 24 लाख से अधिक छात्रों को नुकसान पहुंचा है। राहुल गांधी ने देश के छात्रों को आश्वासन दिया कि वह संसद में उनकी आवाज बनेंगे और उनके भविष्य से जुड़े मुद्दों को जोरदार तरीके से उठाएंगे। राहुल गांधी ने एक्स पर एक पोस्ट में लिखा, नीट परीक्षा में हुई धांधली ने 24 लाख से अधिक छात्रों और उनके परिवारों को तोड़ दिया है।

भारत ने पाकिस्तान को हराया

प्रभात खबर के अनुसार आईसीसी टी 20 विश्व कप 2024 के एक रोमांचक मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को छह रनों से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम 19 ओवर में 119 बनाकर आउट हो गई। जवाब में पाकिस्तान की टीम काफी मजबूत स्थिति में दिख रही थी। 14वें ओवर में एक वक्त पाकिस्तान का स्कोर 3 विकेट पर 80 रन था। इसके बाद रिजवान व शादाब आउट हुए और मैच पलट गया। पाकिस्तान की पूरी टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 113 रन ही बना सकी। भारत की ओर ऋषभ पंत ने 42 रन बनाए जबकि जसप्रीत बुमराह ने 14 रन देकर  तीन विकेट लिए।

जेईई एडवांस्ड में वेद लाहौटी टॉपर

हिन्दुस्तान के अनुसार संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)-एडवांस्ड के नतीजे रविवार सुबह घोषित कर दिए गए। इसमें भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली जोन के वेद लाहोटी ने 360 में से 355 अंक हासिल कर शीर्ष स्थान प्राप्त किया है। इस बार परीक्षा आयोजित करने वाले आईआईटी मद्रास के अनुसार, आईआईटी बंबई जोन की द्विजा धर्मेशकुमार पटेल को 360 में 322 अंक मिले और वह छात्राओं में शीर्ष स्थान पर रहीं। वहीं देशभर में वह सातवें स्थान पर रहीं। पटना के अनिकेत कुमार देश में 96 वीं रैंक लाकर बिहार टॉपर बने हैं।

प्रशांत किशोर 2 अक्टूबर को बनाएंगे पार्टी

जन सुराज अभियान के सूत्रधार प्रशांत किशोर ने कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों को धूल चटकार जन सुराज अपने बूते सरकार बनाएगी। जन सुराज 2 अक्टूबर को राजनीतिक दल के रूप में बदल जाएगा जिसका नाम जन सुराज पार्टी होगा। वे रविवार को पटना के ज्ञान भवन में आयोजित जिला संगठन पदाधिकारी के अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे। 2 अक्टूबर 2022 को चंपारण के भितीहरवा गांधी आश्रम से जन सुराज पदयात्रा अभियान की शुरुआत प्रशांत किशोर ने की थी। पदयात्रा सितंबर तक पूरी हो जाएगी।

कुछ और सुर्खियां

  • औरंगाबाद जिले के दाउदनगर थाने में बालू माफिया ने सिपाही को ट्रैक्टर से रौंद डाला
  • ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार 12 जून को लगी शपथ
  • बिहार के 11 जिले लू की चपेट में, दो दिनों के बाद मिल सकती है राहत
  • मुंबई में भारी बारिश से आफत, सड़क धंसी, कई जगह यातायात
  • मुंबई हवाई अड्डे पर एक ही रनवे पर आ गए दो जहाज, मामले की जांच शुरू
  • कंगना रनौत को थप्पड़ मामले की जांच के लिए तीन सदस्यों वाली एसआईटी बनी
  • रिजर्व बैंक की पाबंदियां हटीं, अब विदेशी फंड्स में भी निवेश कर सकेंगे भारतीय
  • नालंदा में शराब कांड के आरोपी ने जेल में फांसी लगाई, परिजनों का हंगामा

अनछ्पी: नरेंद्र मोदी के तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का यह अरमान भी पूरा हुआ कि संख्या के हिसाब से उनके दल को मंत्रिपरिषद में जगह दी जाए। चिराग पासवान और जीतन राम मांझी भी मंत्री बन गए। अब यह सवाल पूछा जाना चाहिए कि इस कथित डबल इंजन की सरकार ने बिहार के लिए क्या किया और क्या कर सकती है। नीतीश कुमार जब इंडिया गठबंधन में थे तो वह खुद और उनके वरिष्ठ मंत्री विजय चौधरी यह आरोप लगाया करते थे कि केंद्र सरकार बिहार को उसके हिस्से का पैसा नहीं दे रही है। और भी कई शिकायतें थीं। उम्मीद की जानी चाहिए कि अब बिहार को उसके हिस्से का पैसा भी सही से मिलेगा और जो शिकायत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और विजय चौधरी की थी वह भी दूर होगी। यहां हिन्दुस्तान में छपी एक छोटी सी खबर की चर्चा जरूरी मालूम होती है। अख़बार लिखता है कि प्रधानमंत्री की ओर से घोषित बिहार पैकेज के तहत चयनित सड़क परियोजनाएं 9 साल बाद भी पूरी नहीं हो सकी हैं। अभी 15 परियोजनाओं का टेंडर नहीं हुआ है। केवल 30 परियोजनाओं का ही काम पूरा हो सका है। काम की रफ्तार को देखते हुए साफ है कि पीएम पैकेज के तहत चयनित परियोजनाओं को पूरा करने में अभी वर्षों लगेंगे। ध्यान रहे कि 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान आरा की एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के लिए सवा लाख करोड़ के विशेष पैकेज की घोषणा की थी। यह बिहार का दुर्भाग्य है कि नीतीश कुमार जैसे नेता रहते हुए भी बिहार को उसका हक नहीं मिल रहा है और ऐसा कहा जाता है कि नीतीश कुमार भी इसके खिलाफ तब आवाज उठाते हैं जब वह नरेंद्र मोदी से अलग होते हैं। जैसे ही वह नरेंद्र मोदी के साथ होते हैं बिहार के हक में आवाज उठाना बंद कर देते हैं। बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा एक ऐसा ही मुद्दा है। पूरे लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलने का मुद्दा नहीं उठाया। बिहार के लोगों के लिए फिलहाल यह सबसे बड़ा सवाल बना है कि डबल इंजन की सरकार में बिहार को वो अधिकार मिलेंगे जिनके न मिलने की शिकायत नीतीश कुमार किया करते थे।

 

 

 

 

 898 total views

Share Now

Leave a Reply