छपी-अनछपी: सीबीआई के बाद लालू परिवार ईडी के निशाने पर, हांगकांग फ्लू से देश मे दो की मौत

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। कुछ दिनों पहले सीबीआई ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार से पूछताछ की थी और अब इंफोर्समेंट डायरेक्टरेट (ईडी) ने उनपर और करीबियों पर छापेमारी की है जिसमें राजद के पूर्व विधायक अबू दोजाना भी शामिल हैं। इससे जुड़ी ख़बरें सभी जगह छाई हुई है। भारत में H3N2 यानी हांगकांग फ्लू से 2 लोगों की मौत की खबर भी प्रमुखता से ली गई है।

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी सुर्खी है: लालू की बेटियों व राजद नेता के ठिकानों पर छापे। जागरण की मेन हेडलाइन है: उप मुख्यमंत्री तेजस्वी, लालू की तीन बेटियों व करीबियों के यहां छापेमारी। भास्कर की सबसे बड़ी खबर है: लालू के परिवार व राजद नेता के परिसरों पर दिल्ली से पटना तक ईडी की छापेमारी। ईडी की विशेष टीम ने नौकरी के बदले जमीन मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की बेटियों मीसा भारती, रागिनी यादव, चंदा यादव और हेमा यादव, नजदीकी राजद नेता अबु दोजाना और करीबियों के पटना सहित 24 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। पटना के अलावा दिल्ली, गुरुग्राम, गाजियाबाद, रांची और मुंबई में इनके ठिकानों को खंगाला। पटना में अबु दोजाना और उनके सीए नायक के पांच ठिकानों पर सुबह से देर शाम तक छापेमारी की गई। फुलवारीशरीफ के हारून कॉलोनी में दोजाना के मकान, एसपी वर्मा रोड में कार्यालय, डाक बंगला चौराहा पर पटना वन मॉल समेत चार ठिकानों और उनके सीए के बुद्धा कॉलोनी स्थित घर में तलाशी ली गई। यहां से बड़ी संख्या में जमीन-जायदाद, निवेश व बैंक खाते के दस्तावेज मिले हैं।

अबू दोजाना की बहुत चर्चा

हिन्दुस्तान ने अंदर के पेज पर खबर दी है: दोजाना के घर की टाइल्स तक उखाड़ी। अबु दोजाना के फुलवारीशरीफ के हारुण कॉलोनी में मौजूद आलीशान बंगला के पॉर्टिको और गार्डेन के कुछ स्थानों पर लगी टाइल्सों को ईडी की टीम ने जांच के दौरान उखड़वा दिया। इसके नीचे एक चैंबरनुमा गड्डा मिला, जिसमें बड़ी संख्या में कागजात के अलावा सोना-चांदी के बरामद होने की बात सामने आ रही है। इसमें छिपाकर रखे गए कई अहम दस्तावेज भी बरामद हुए हैं, लेकिन ईडी अधिकृत तौर पर इसके बारे में कुछ भी नहीं बता रही है।

रसोइए को घर जाने नहीं दिया

जागरण की सुर्खी है: लालू के करीबी अबू दोजाना के ठिकानों पर सुबह 8:00 बजे धमकी ईडी की टीम, फॉल्स सीलिंग तक खंगाला। अखबार के अनुसार उनके घरों और कार्यालयों के 12 घंटे 35 मिनट तक छानबीन की गई। इस दौरान ईडी ने छज्जा, पाया, फॉल्स सीलिंग, अलमीरा, सूटकेस सब को हर संभव तरीके से देखा। अबू दोजाना ने कहा कि उन्होंने भाजपा का ऑफर नहीं माना तो यह कार्रवाई हुई है। एक और सुर्खी है: दोजाना के रसोइए को लौटाया, बाहर से मंगाया नाश्ता। ईडी ने 9 पेजों के 3 सेट में 27 पेजों की जब्ती सूची तैयार की। 2009 की कंपनी लालू के रिश्तेदार की जमीन पर सगुना मोड़ के पास बड़ा मॉल बना रही थी।

कौन क्या बोला

  • राजद ने दी भाजपा को चुनौती, साहस है तो सामने से लड़ाई करें
  • भ्रष्टाचार से समझौता कर लालू परिवार को बचा रहे नीतीश: सुशील मोदी
  • सीबीआई, ईडी और वाई प्लस सुरक्षा के भरोसे भाजपा लड़ेगी चुनाव: पप्पू यादव
  • राजद नेताओं के यहां छापे दुर्भावना से प्रेरित: माले
  • लालू की बेटी रोहिणी ने केंद्र सरकार को कंस की याद दिलाई

हांगकांग फ्लू

भास्कर ने पहले पेज पर खबर दी है देश में पहली बार एच3एन2 इनफ्लूएंजा से 2 की गई जान, अब तक इस संक्रमण से 3038 मामले सामने आ चुके हैं। हिन्दुस्तान ने लिखा है: चिंता: हांगकांग फ्लू से देश में दो की मौत। देश में इंफ्लुएंजा-ए के उपस्वरूप एच3एन2 (हांगकांग फ्लू) से पहली बार दो मौतें होने की पुष्टि हुई है। इनमें से एक मरीज हरियाणा और दूसरा कर्नाटक का रहने वाला था। देश में पिछले तीन महीनों में इसके करीब साढ़े चार सौ मामले सामने आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को इंफ्लुएंजा के बढ़ते मामलों पर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। इस फ्लू में बुखार के अलावा दस्त, मतली, सांस की तकलीफ और खांसी की शिकायत होती है।

फर्जी वीडियो पटना में बना

भास्कर की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: बिहार के श्रमिकों से मारपीट का वायरल वीडियो पटना में बनाया गया, दो गिरफ्तार। हिन्दुस्तान ने लिखा है: पटना के जक्कनपुर में बनाया गया था फर्जी वीडियो। तमिलनाडु में बिहारी श्रमिकों समेत हिन्दीभाषियों के साथ दुर्व्यवहार के झूठे मामले को भड़काने और इसे हकीकत का रंग देने के लिए फर्जी वीडियो बनाया गया था। इसे पटना के जक्कनपुर मोहल्ले के बंगाली टोला में एक किराए के मकान में 6 मार्च को शूट किया गया था। इस मामले को लेकर आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने एक दूसरी एफआईआर संख्या- 4/23 दर्ज की है। इसमें तीन यू-ट्यूब चैनल के तीन मालिक समेत चार को नामजद किया गया है। फर्जी वीडियो में अनिल कुमार और आदित्य कुमार मरहम पट्टी लगाकर नक़ली मरीज़ बने थे। वीडियो को राकेश रंजन ने 6 मार्च को यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया था जिसे 8 मार्च को यूट्यूब पर मनीष कश्यप ने ट्वीट कर प्रसारित कर दिया था। ईओयू की दोनों ही प्राथमिकी में नामजद अभियुक्त मनीष कश्यप पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है एडीजी ने बताया कि मनीष कश्यप आदतन अपराधी है। यह जानकारी एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र सिंह गंगवार ने पुलिस मुख्यालय में शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता में दी। इस बीच बिहार की टीम ने तमिलनाडु हिंसा के सारे वीडियो को फर्जी बताया है।

जर्मनी में शूटआउट

भास्कर ने इस खबर को प्रमुखता से छापा है धार्मिक उन्माद जर्मन चर्च में शूटआउट में 7 की मौत खुद को भी हमलावर ने गोली मारी। जर्मनी का हैम्बर्ग शहर गुरुवार देर शाम गोलियां की तड़तड़ाहट से दहल उठा। यहां के यहोवा विटनेस किंगडम हॉल चर्च में गोलीबारी की गई। हिन्दुस्तान के अनुसार इसमें आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि आठ घायल हुए जिनमें चार की हालत गंभीर है। हमलावर भी मौके पर मारा गया। पुलिस ने बताया कि 100 से ज्यादा राउंड फायरिंग की गई है। जांच में आतंकी हमले की बात सामने नहीं आई है।

फुलवारी मामले में हवाला एंगल

जागरण ने खबर दी है: पीएफआई को हवाला के जरिए यूएई से हुई करोड़ों की फंडिंग, पांच गिरफ्तार। अख़बार के अनुसार पीएफआई को यूएई से हवाला के जरिए करोड़ों रुपए का फंड मुहैया कराया जा रहा था। खासकर बिहार, केरल और कर्नाटक जैसे राज्यों में नेटवर्क काम कर रहा था। अखबार का दावा है कि फुलवारीशरीफ पीएफआई केस की जांच के सिलसिले में एनआईए ने इसका पर्दाफाश किया है। इस मामले में एनआईए ने छापेमारी कर कर्नाटक और केरल से पीआईएस से जुड़े 5 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

कुछ और सुर्खियां

  • कार खरीदने में पटना, पूर्णिया अव्वल
  • आश्वासन: ऑस्ट्रेलिया में मंदिर और भारतीयों की सुरक्षा बढ़ेगी
  • ओयो होटल के संस्थापक के पिता की बालकनी से गिरकर संदिग्ध परिस्थिति में मौत
  • इसी माह 75000 पुलिसकर्मियों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी
  • कश्मीर में प्रेस की आजादी पर न्यूयॉर्क टाइम्स के आलेख को अनुराग ठाकुर ने झूठ का पुलिंदा बताया
  • हज के लिए 20 मार्च तक कर सकते हैं आवेदन

अनछपी: तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों के खिलाफ कथित हिंसा के फर्जी वीडियो के मामले में जो सच्चाई सामने आ रही है वह बेहद डराने वाली है। हिंसा के फर्जी वीडियो का एक मामला तो यह होता है कि किसी और घटना को अपने पसंद की घटना बताकर वायरल कर दिया जाए। बिहार पुलिस यह दावा कर रही है कि जो फर्जी वीडियो बनाया गया है उसके लिए बाजाब्ता एक्टिंग की गई और फर्जी तरीके से रंग-रुई लगा कर दो लोगों को जख्मी दिखाया गया। इसमें जिस यूट्यूबर मनीष कश्यप का नाम सामने आया है वह एक खास राजनीतिक विचारधारा का मालूम होता है। उसके बारे में पुलिस का दावा है कि वह आदतन अपराधी है। इन सब के बीच जो अच्छी बात सामने आई कि तमिलनाडु और बिहार दोनों सरकारों ने इस फर्जीवाड़े का तत्काल नोटिस लिया और पुख्ता जांच करवाई। इस जांच को अंजाम तक पहुंचाने के लिए जरूरी है कि इस में जुड़े सभी लोगों को चाहे उनका संबंध किसी नेता, किसी संगठन से हो, कानून के मुताबिक कठोर से कठोर सजा दिलवाई जाए। बिहार सरकार के अलावा तमिलनाडु सरकार ने भी अपनी तरफ से एफ आई आर दर्ज कराई है। वहां की सरकार को भी चाहिए कि कोई भी दोषी किसी तरह की कोताही की किसी का लाभ उठाकर छूट ना जाए। बेकसूर को नहीं पकड़ना और कसूरवार को किसी हाल में नहीं छोड़ना ही सही नीति है लेकिन सरकारें अक्सर इस में फेल हो जाती हैं। इस बार दोषियों को जल्दी कठोर सजा दिला कर बिहार सरकार अपनी छवि को बदल सकती है।

 

 

 

 

 623 total views

Share Now

Leave a Reply