छपी-अनछपी: जेपी जयंती पर नीतीश ने पूछा, बापू का हत्यारा कौन? एसपी साहब निकले घूसखोर

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। जयप्रकाश नारायण की जयंती यानी 11 अक्टूबर को नीतीश कुमार पूरे फॉर्म में नजर आए। उन्होंने आजादी और महात्मा गांधी की बात पर आरएसएस और भाजपा को घेरा। दूसरी ओर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार का नाम लिए बगैर उन्हें इस बात के लिए कोसा कि वे कांग्रेस की गोद में बैठ गए। नीतीश कुमार इस मौके पर पटना के बापू सभागार में बोल रहे थे तो अमित शाह सिताबदियारा यानी जयप्रकाश नारायण की जन्मस्थली पर थे। आज के अखबारों के सबसे बड़ी खबर यही है।

उधर पूर्णिया के एसपी दयाशंकर के यहां आय से अधिक संपत्ति मामले में छापेमारी की खबर भी प्रमुखता से छपी है। 

हिन्दुस्तान और भास्कर ने अमित शाह और नीतीश कुमार के बयान अगल-बगल छापे हैं। हिन्दुस्तान की सुर्खी है: जेपी की जयंती पर सियासी शास्त्रार्थ। इसके नीचे दो सुर्खियां हैं: 1. जेपी के मार्ग से भटकने वालों को सत्ता से बेदखल करें: अमित शाह 2. हम जेपी के सिद्धांतों पर चलकर ही कर रहे बिहार का विकास: नीतीश।

जागरण की सबसे बड़ी सुर्खी है आप कांग्रेस की गोद में बैठ गए हैं जेपी आंदोलन के (की) उपज वाले नेता। इधर नीतीश कुमार का बयान है: आजादी की लड़ाई में जिनकी कोई भूमिका नहीं वह वंदे मातरम कह रहे।

भास्कर में दो समानांतर सुर्खियां हैं: 1. जेपी आंदोलन के नेता सत्ता लोभ में कांग्रेस की गोद में बैठे: शाह 2. नीतीश ने पूछा- बापू का हत्यारा कौन, पब्लिक बोली- आरएसएस।

प्रभात खबर में भी समानांतर हेडलाइंस हैं: 1. जेपी का नाम लेकर घूमने वालों के चक्कर में मत पड़ जाइएगा मिलजुल कर एकजुट रहना है: सीएम 2. जयप्रकाश नारायण की विचारधारा भूल कांग्रेस की गोद में जा बैठे हैं उनके शिष्य: अमित शाह। 

प्रभात खबर की सबसे बड़ी खबर है: घूस लेने को एसपी ने लगा रखा था रीडर, थानेदार को। हिन्दुस्तान में इसकी सुर्खी  है: पूर्णिया एसपी के यहां छापे बेनामी निवेश के सबूत। भास्कर की हेडलाइन है एसपी पर आरोप… थानेदार व गार्ड को कलेक्शन एजेंट बनाकर हुआ धनकुबेर। एसपी पर यह कार्रवाई विशेष निगरानी इकाई ने मंगलवार को आय से अधिक संपत्ति मामले में की है। इसमें बताया गया है कि 72 लाख रुपए के गहने और कई गाड़ियां मिली हैं, 14 लाख से ज्यादा नकद भी मिले हैं और हवाला के जरिए ₹50 लाख के लेन-देन का भी पता चला। एसपी के करीबी बिल्डर व पुलिस वालों पर भी दबिश दी गई है। इससे पहले 2018 में मुजफ्फरपुर के तत्कालीन एसएसपी विवेक कुमार के ठिकानों पर भी छापेमारी की गई थी।

आधार अपडेट पर अपडेट!

हिन्दुस्तान में एक महत्वपूर्ण खबर है: दस साल पुराना आधार कार्ड अपडेट कराना आवश्यक। इस खबर में बताया गया है कि आधार कार्ड बनाने वाली सरकारी एजेंसी यूआईडीएआई ने कहा है कि दस्तावेज अपडेट करने के लिए आवास और पहचान का प्रमाण पत्र देना होगा। फोटो और फोन नंबर को छोड़ बाकी सभी प्रकार के आधार अपडेट ऑनलाइन हो सकते हैं। ऑनलाइन अपडेट के लिए ₹25 तथा केंद्र पर ₹50 शुल्क लगेगा। बायोमैट्रिक अपडेट की जरूरत उनको पड़ेगी जिनके आधार बचपन में बने थे।

भारत रूस विरोधी?

जागरण ने पहले पेज पर एक खबर दी है संयुक्त राष्ट्र में भारत ने रूस के विरुद्ध किया मतदान। यह मामला यूक्रेन के चार क्षेत्रों पर अवैध कब्जा करने के निंदा प्रस्ताव का था जिसके लिए मास्को ने गुप्त मतदान की मांग की थी। अख़बार के अनुसार अल्बानिया ने सार्वजनिक मतदान कराने का प्रस्ताव पेश किया था। भारत समेत 107 देशों ने प्रस्ताव का समर्थन किया। सिर्फ 13 देश रूस के साथ रहे  और उन 39 देशों ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया जिनमें चीन भी शामिल है।

नए चीफ जस्टिस

भारत के नए चीफ जस्टिस सीनियर मोस्ट जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ होंगे। वे भारत के 50 वें चीफ जस्टिस के रूप में 9 नवंबर को शपथ लेंगे। यह पहली बार होगा जब किसी चीफ जस्टिस का बेटा चीफ जस्टिस बनेगा। जस्टिस चंद्रचूड़ के पिता जस्टिस वाईवी चंद्रचूड़ का कार्यकाल सबसे लंबा रहा था। वे 1978 में देश के 16 वें चीफ जस्टिस बने थे। यह खबर सभी जगह प्रमुखता से छपी है।

अनछपी: पूर्णिया के एसपी पर भ्रष्टाचार के आरोप में हुई छापेमारी एक बार फिर यह बात साबित करती है कि बिहार में घूसखोरी कम नहीं हुई है। सच तो यह है कि अफसरशाही की घूसखोरी बिल्कुल अनियंत्रित है। इस समय बिहार में घूसखोरी के आरोपों की जांच एसवीयू यानी स्पेशल विजिलेंस यूनिट और ईओयू इकोनॉमिक ऑफेंस यूनिट करती है। इन दोनों इकाइयों ने अच्छा काम किया है लेकिन बिहार में जिस पैमाने पर घूसखोरी पाई जाती है उसके मुकाबले में उनकी कार्रवाईयां बहुत कम मानी जाएंगी। इसलिए जरूरी है कि घूसखोरी पर रोकथाम के लिए कोई और व्यवस्था की जाए। 

 300 total views

Share Now

Leave a Reply