छपी-अनछपीः एसएसपी ने कहा था- यूएई में रहा मरगूब, पिता बोले- उसके पास पासपोर्ट नहीं

बिहार लोकर संवाद डाॅट नेट, पटना।
फुलवारी शरीफ में पीएफआई से जुड़े लोगों को देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में गिरफ्तार करने का सिलसिला शनिवार को भी जारी रहा और यही खबर आज के सभी हिन्दी अखबारों की सबसे प्रमुख खबर है। इधर, भास्कर ने अपने पहले पेज पर एक खबर की हेडलाइन दी हैः एसएसपी ने कहा था- यूएई में रहा मरगूब, पिता बोले- उसके पास पासपोर्ट नहीं। हालांकि यह खबर कल प्रभात खबर में भी आयी थी लेकिन इतनी प्रमुखता से नहीं छपी थी।
मरगूब दानिश को ’गजवा-ए-हिन्द’ नाम के व्हाट्सऐप ग्रुप चलाने और उसमें देश विरोधी मेसेज डालने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस बारे में मरगूब के पिता सैफुद्दीन का कहना है कि वह मानसिक रूप से बीमार है और उसका इलाज एम्स में चल रहा है। इसके जवाब में फुलवारी की एएसपी मनीष कुमार का कहना है कि यह बात गलत है लेकिन एएसपी की तरफ से इस बात का जवाब नहीं आया कि जब पासपोर्ट नहीं बना तो उसके यूएई जाने की बात कैसी की गयी।
आज के अखबारों में पीएफआई से जुड़े होने और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार लोगों के बारे में यह बात भी आरोप के रूप में छपी है कि वे जमीन का धंधा करते थे। इसके साथ ही उनसे पूछेे जाने वाले सवालों की सूची से कुछ सवाल भी दिये गये हैं।
हिन्दुस्तान की हेडलाइन हैः लखनउ से वकील नूरूद्दीन गिरफ्तार। नूरूद्दीन को दरभंगा के उर्दू बाजार का रहने वाला बताया गया है। इस खबर में बताया गया है कि अबतक पांच लोग गिरफ्तार किये गये हैं। इसकी जांच करने एनआईए की टीम पटना आएगी। अतहर परवेज और अरमान मलिक को दो दिन की पुलिस रिमांड पर दिया गया है। यह भी बताया गया है कि इस मामले में ईडी टेरर फंडिंग का पता लगाएगी।
प्रभात खबर ने शीर्षक लगाया हैः पटना से लखनउ तक छापे, दरभंगा का अधिवक्ता गिरफ्तार।
जागरण ने लिखा हैः राष्ट्रविरोधी गतिविधि मे संलिप्तता का आरोपित नूरूद्दन लखनउ से गिरफ्तार।
भास्कर ने सुर्खी लगायी हैः पिछला चुनाव लड़ने वाला पीएफआई से जुड़ा नेता लखनउ से गिरफ्तार।
अखबारों के अनुसार नूरूद्दीन पर मुकदमों की पैरवी करने का आरोप है।
आज के अखबारों की दूूसरी अहम खबर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ को भाजपा द्वारा उप राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने की घोषणा है।
आईपीएस अधिकारी अमित लोढ़ा को कारण बताओ नोटिस देने की खबर भी प्रमुखता से छपी है।
देश में 24 घंटे में कोरोना से 56 लोगों की मौत की खबर भी प्रमुखता से छपी है। इसमें तीन लोग बिहार के हैं।
अनछपीः फुलवारी शरीफ में कथित आतंकी मॉड्यूल के पकड़े जाने के पुलिस के दावे को इस बात से गंभीर सवाल का सामना है कि जिस व्यक्ति के बारे में एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने यूएई जाने का दावा किया था, उसके बारे में उसके पिता ने कहा है कि उसका आजतक पासपोर्ट नहीं बना। साथ ही, यह भी कहा कि वो मनोरोगी है। उसका एम्स में इलाज चल रहा। इस पूरे मामले में पुलिस ने कहीं आतंकी शब्द का प्रयोग नहीं किया लेकिन मीडिया लगातार उन्हें आतंकी कहकर संबोधित कर रहा। ऐसे में सवाल है कि मुस्लिम संगठन और मानवाधिकार संगठन क्या कुछ कर सकते हैं?

 404 total views

Share Now

Leave a Reply