2019 और 2020 की चूक सुधारिए, फर्स्ट डिवीजनर मुस्लिम छात्र/छात्राओं के लिए अच्छा मौका

बिहार लोक संवाद डॉट नेट पटना
बिहार सरकार की मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के तहत एक बेहतरीन मौका उन छात्र-छात्राओं के पास भी आया है जो 2019 और 2020 में इसका लाभ नहीं ले सके हैं।
इस योजना के लाभ के लिए दो श्रेणी है। वैसी मुस्लिम छात्राएं जिन्होंने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना से फर्स्ट डिवीजन में इंटरमीडिएट या बिहार राज्य मदरसा बोर्ड, पटना से मौलवी की परीक्षा पास की है मगर इस योजना का लाभ नहीं ले पाई हैं।
दूसरी श्रेणी फौकानिया के छात्र और छात्राओं दोनों के लिए है जो इस योजना का लाभ नहीं ले पाए/पाई हैं।
इस योजना के तहत इंटर/मौलवी की परीक्षा में फर्स्ट डिवीजन से पास होने वाली छात्राओं को ₹15000 की प्रोत्साहन राशि दी जानी है। फौकानिया यानी मैट्रिक में पास होने वाले छात्र-छात्राओं को ₹10000 की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।
जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, पटना की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि ऐसे छात्र-छात्राएं 15 दिनों के अंदर अचूक रूप से जिला अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय, पटना में अपना आवेदन जमा करें।
अन्य जिलों के आवेदकों को भी अपने जिले के अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय से इस बारे में जानकारी लेनी चाहिए।
इस योजना के लिए जो जरूरी दस्तावेज हैं वह इस तरह हैं:
1. बैंक खाता की फोटोकॉपी जिस पर आईएफएस कोड साफ साफ लिखा हो
2.आधार कार्ड
3. मार्क्स शीट
4. मोबाइल फोन नंबर।
इस योजना का लाभ लेने के लिए अपने स्कूल कॉलेज या मदरसा से एक आवेदन फॉरवर्ड कराकर जिला अल्पसंख्यक कार्यालय में जमा कराएं।
इस योजना के लिए भुगतान सीएफएमएस के जरिए होगा।
वैसे, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के लिए हर साल आवेदन करने का मौका होता है।

 591 total views

Share Now

Leave a Reply