छ्पी-अनछ्पी: रूस में मोदी बोले-जंग में बच्चों की मौत से दिल छलनी, किडनी रैकेट में अपोलो की सर्जन गिरफ्तार

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। रूस के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बयान दिया है कि जंग में बच्चों की मौत से उनका दिल छलनी होता है। दिल्ली में किडनी ट्रांसप्लांट रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है और इसमें अपोलो अस्पताल की एक सर्जन गिरफ्तार की गई हैं। सीयूईटी यूजी परीक्षा की आंसर की में आधे आंसर गलत बताए जा रहे हैं। हाथरस के भगदड़ मामले में 6 अफसर सस्पेंड किए गए हैं लेकिन सत्संग करने वाले बाबा पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। ये हैं आज के अखबारों की प्रमुख खबरें।

जागरण की सबसे बड़ी सुर्खी है: युद्ध में मासूमों की मौत दर्दनाक, बम व गोली से नहीं आएगी शांति: मोदी। अखबार लिखता है कि यूक्रेन के मुद्दे पर हमेशा से रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सामने स्पष्टता से अपनी बात रखने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार कीव स्थित बच्चों के अस्पताल पर रूसी हमले में मारे गए बच्चों का मुद्दा जोरदार तरीके से उठाया। पीएम मोदी ने पुतिन के साथ हुए 22वें भारत रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में यह बात उठाई और एक दिन पहले पुतिन की तरफ से आयोजित रात्रि भोज में भी मुद्दा उठाया। मोदी ने कहा कि युद्ध में मासूम बच्चों की मौत होती है तो हृदय छलनी हो जाता है और यह दर्द बहुत भयानक होता है। पुतिन को मोदी का साफ संदेश था कि बम, बंदूक व युद्ध से शांति नहीं आ सकती। मोदी 8 जुलाई को मॉस्को पहुंचे थे और उसी दिन यूक्रेन की राजधानी कीव में बच्चों के अस्पताल पर रूसी हमले में बच्चों समय 36 लोग मारे गए थे।

सबसे बड़े खूनी नेता को गले लगाया: जेलेन्सकी

रूस के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की मुलाकात पर यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेन्सकी ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के नेता का दुनिया के सबसे खूनी नेता को गले लगाना निराशाजनक है। “यह रूस के आक्रमण के खिलाफ शांति प्रयासों के लिए भी बड़ा झटका है।”

इंटरनेशनल किडनी ट्रांसप्लांट रैकेट

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अंतरराष्ट्रीय किडनी रैकेट का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने एक महिला डॉक्टर और बांग्लादेश निवासी गिरोह के सरगना समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। जांच में पता चला कि दिल्ली और नोएडा के दो नामी निजी अस्पताल में अवैध रूप से किडनी ट्रांसप्लांट किया जा रहा था। जागरण के अनुसार गिरफ्तार होने वालों में सरिता विहार स्थित इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल की किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन डॉक्टर डी विजया राजकुमारी भी शामिल हैं जिनके बारे में अस्पताल का कहना है कि वह उनकी पे रौल पर नहीं है। पुलिस के अनुसार किडनी डोनेट करने वाले को चार पांच लाख देकर वही किडनी 20 से 25 लख रुपए में बेची जाती थी। किडनी डोनेट करने वाले बांग्लादेश के होते थे और इसमें बांग्लादेशी नागरिकों की मदद ली जाती थी।

सीयूईटी यूजी की आंसर की में गड़बड़ी

प्रभात खबर के अनुसार कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) यूजी 2024 की आंसर की जारी होने के बाद से हंगामा मचा हुआ है। स्टूडेंट्स ने आंसर की में कई गलतियां पाई हैं। स्टूडेंट्स के अनुसार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने 7 जुलाई को सीयूईटी यूजी की आंसर की जारी की। इनमें कई विषयों की आंसर की में आधे से अधिक प्रश्नों के आंसर गलत हैं। एक-एक पेपर में 35 से 36 आंसर गलत हैं और एक सवाल पर आपत्ति दर्ज करने के लिए ₹200 देने पड़ रहे हैं तो एक पेपर में लगभग 6 से 7 हज़ार रुपये का खर्च आ रहा है।

हाथरस भगदड़: अफसर सस्पेंड, बाबा को क्लीन चिट

भास्कर के अनुसार हाथरस में हफ्ते भर पहले सत्संग में भगदड़ से हुई 123 मौतों के मामले में दो सदस्यों वाली एसआईटी ने 855 पेज की जांच रिपोर्ट मंगलवार को राज्य सरकार को सौंप दी। इसमें नारायण साकार हरि उर्फ भोले बाबा (सूरजपाल जाटव) को क्लीन चिट दी गई है। यूपी सरकार ने एसडीएम, सीओ और तहसीलदार समेत 6 अफसर को निलंबित कर दिया है। एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ की एसआईटी ने 132 लोगों के बयान, प्रकाशित समाचार, वीडियो फुटेज और फोटो को रिपोर्ट का आधार बनाया है।

तीन ट्रांसजेंडर और 450 महिलाएं बनीं दारोगा

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है कि बिहार पुलिस को 1275 नए दारोगा मिल गए हैं। बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने मंगलवार को दारोगा बहाली के 1275 अभ्यर्थी का परिणाम जारी कर दिया है। इनमें 450 महिलाएं और तीन ट्रांसजेंडर शामिल हैं। ऐसे ट्रांसजेंडर के 5 पद आरक्षित थे, लेकिन 3 योग्य उम्मीदवार ही मिल पाए हैं। इससे इनकी बची हुई दो सीटों को सामान्य श्रेणी में शामिल कर दिया गया है। राज्य में यह पहला मौका है, जब ट्रांसजेंडर का चयन पुलिस महकमा में दारोगा के पद हुआ है। इस बार महिलाओं के चयन प्रतिशत 35.3 रहा है। जारी परिणाम में 22 अभ्यर्थी ऐसे भी हैं, जिनका चयन स्वतंत्रता सेनानी के नाती या पोता के कोटे पर हुआ है। सफल हुए अभ्यर्थियों को करीब सालभर की ट्रेनिंग के बाद तैनाती दी जाएगी।

पूर्व आईएएस मनीषा वर्मा जेडीयू में

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अतिरिक्त परामर्शी रहे पूर्व आईएएस मनीष वर्मा ने मंगलवार को जदयू की सदस्यता ग्रहण की। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष संजय झा, मंत्री विजय चौधरी और प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा की मौजूदगी में वह विधिवत रूप से जदयू में शामिल हुए। इस मौके पर मनीष ने कहा, “ख्यमंत्री नीतीश कुमार के विचार, सिद्धांत और उनकी कार्यशैली से शुरू से प्रभावित रहा हूं।”

अल्पसंख्यकों के लिए फोटोग्राफी कोर्स

आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी (एकेयू) के स्कूल ऑफ जर्नलिज्म एंड मैस कम्युनिकेशन तथा बिहार राज्य अल्पसंख्यक वित्तीय निगम लिमिटेड के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया। इसके तहत मुख्यमंत्री श्रम शक्ति योजना के तहत अल्पसंख्यक समुदाय के लिए फोटोग्राफी तथा फिल्म मेकिंग का सर्टिफिकेट कोर्स कराया जाएगा। रजिस्ट्रार रामजी सिंह तथा निगम के प्रधान निदेशक दीवान जाफर हुसैन खान ने एकरारनामे पर हस्ताक्षर किया।

कुछ और सुर्खियां

  • बेगूसराय में कार से टक्कर के बाद ऑटो पर सवार पांच युवकों की मौत
  • रुपौली विधानसभा उपचुनाव के लिए वोटिंग जारी, राजद की बीमा भारती के सामने जदयू के कलाधर मंडल
  • पूर्व मंत्री वृशिन पटेल के खिलाफ किशोरी के यौन शोषण के आरोप में वारंट जारी
  • नीट पेपर लीक मामले में सीबीआई ने दो और को गिरफ्तार किया
  • इलाज के दौरान डॉक्टरों की लापरवाही से मौत होने पर भारतीय न्याय संहिता में अधिकतम 2 साल की सजा
  • पूर्वी चंपारण के छह प्रखंड बाढ़ से घिरे, बेतिया में 300 से ज्यादा घरों में घुसा बाढ़ का पानी
  • गौतम गंभीर बने भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच
  • पशुपति कुमार पारस का कार्यालय भतीजे चिराग पासवान को मिला, हाई कोर्ट में मुकदमा

अनछपी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जंग में बच्चों की मौत पर कही बात कितनी मार्मिक लगती है लेकिन कूटनीति की बेदर्द सच्चाई यह है कि जिस रूस के हमले में यूक्रेन के बच्चों की जान गई भारत उसी के साथ 100 अरब डॉलर के व्यापार पर बात कर रहा है। मॉस्को में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से गले मिल रहे थे तो यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेन्सकी ने बयान दिया कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के नेता दुनिया के सबसे बड़े खूनी नेता से गले मिल रहे थे जिससे उन्हें निराशा हुई। व्लादिमीर पुतिन को दुनिया का सबसे खूनी नेता कहना कोई मामूली बात नहीं है लेकिन एक ऐसे जमाने में जब हर देश अपने हित के बारे में सोचता है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उनसे गला मिलना कोई अचरज की बात नहीं है। राजनीति में राष्ट्रवाद यही सिखाता है कि कोई देश चाहे कितना अन्यायपूर्ण काम करे अगर उससे अपना हित सधता है तो उस देश से दोस्ती करने में कोई दिक्कत नहीं। यह अलग बात है कि बीच-बीच में कुछ मधुर बातें भी की जाएं जैसे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की हैं। जंग से बचना और बच्चों को बचाने की बात कहना अपनी जगह लेकिन आज की विशुद्ध राजनीति यही है कि उन सब से गले मिल लिया जाए जिसे लगता हो कि देश का भौतिक फायदा हो सकता है। यह बात किसे नहीं मालूम कि भारत बड़े पैमाने पर कम कीमत पर रूस से कच्चा तेल खरीदता है जो उसकी अर्थव्यवस्था को फायदा पहुंचा रहा है। यह बात भी अपनी जगह सही है कि भारत का रूस से लंबे समय से बेहतर संबंध रहा है लेकिन राजनीति यहां भी होती है और रूस से बेहतर संबंध के लिए मोदी कांग्रेस सरकार और जवाहरलाल नेहरू व इंदिरा गांधी को याद नहीं करते। इस अवसर पर एक तस्वीर भी सामने आई जिसमें यह दिखाया गया कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से गले मिल रहे हैं तो कुछ महीने पहले रूस ने जिस यूक्रेन पर हमला किया उसके राष्ट्रपति जेलेन्सकी से भी इसी तरह गले मिल रहे थे। भारत के रूस के साथ इस प्रगाढ़ संबंध से अमेरिका परेशान तो जरूर होगा लेकिन वह इस मामले में कुछ नहीं कर सकता क्योंकि उसे चीन को भी भारत के ज़रिए साधना है।

 265 total views

Share Now

Leave a Reply