खुदाबख्श लाइब्रेरी को बचाने के लिए आज नागरिक समुदाय की बैठक, पथ निर्माण विभाग भी पुनर्विचार को तैयार

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
खुदाबख्श ओरिएंटल पब्लिक लाइब्रेरी, पटना को टूटने से बचाने के लिए आज यानी 13-04-2021 को नागरिक समुदाय की बैठक आयोजित की गयी है। यह बैठक बिहार विधानसभा की पुस्तकालीय समिति के अध्यक्ष सुदामा प्रसाद ने बुलायी है। बैठक लाइब्रेरी परिसर में दोपहर बाद दो बजे रखी गयी है। दूसरी ओर पथ निर्माण विभाग ने भी एलिवेटेड सड़क के लिए लाइब्रेरी को तोड़ने के प्रस्ताव पर पुनर्विचार के संकेत दिये हैं।

पिछले दिनों जब यह खबर आयी कि खुदाबख्श लाइब्रेरी का कर्जन रीडिंग रूम इसलिए तोड़ा जाएगा कि वहां से होकर कारगिल चैक से एनआईटी मोड़ तक एलिवेटेड सड़क बननी है तो पुस्तक और विरासत प्रेमियों में दुख और गुस्से की लहर दौड़ गयी। कर्जन रीडिंग रूम एक सौ साल से पुराना है। इसके साथ ही लाइब्रेरी के अगले हिस्से का अधिग्रहण भी प्रस्तावित है। एलिवेटेड सड़क का निर्माण बिहार राज्य पुल निर्माण निगम को करना है।
पुस्तकलाय समिति के अध्यक्ष और भाकपा-माले विधायक सुदामा प्रसाद ने नागरिक बंधुओं से अपील करते हुए कहा है कि ऐतिहासिक धरोहर खुदाबख्श ओरिएंटल पब्लिक लाइब्रेरी के एक हिस्से को तोड़ने के निर्णय के खिलाफ नागरिक समुदाय की बैठक में शामिल हों।
उन्होंने कहा है कि शैक्षणिक और सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए पूरी दुनिया में ख्यातिप्राप्त इस लाइब्रेरी को किसी भी प्रकार का नुकसान पहुंचाना हमें मंजूर नहीं हो सकता है। इस लाइब्रेरी के सभी हिस्से की सुरक्षा की संवैधानिक जिम्मेदारी सरकार की है। बिहार विधानसभा की पुस्तकालय समिति ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और इस बाबत बिहार के मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा है। इसके अलावा 16 अप्रैल को पुल निर्माण निगम और पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों से भी बातचीत होगी।
इधर पथ निर्माण विभाग ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि पिछले कुछ दिनोें से कर्जन रीडिंग रूम के एक हिस्से को एलिवेटेड सड़क के निर्माण के लिए उपयोग करने के प्रस्ताव पर लाइब्रेरी प्रबंधन और प्रबुद्ध साहित्यकारों द्वारा विरोध किया जा रहा है। इसके मद्देनजर पथ निर्माण विभाग के वरिष्ठ पदाधिकारियों द्वारा स्थल का भ्रमण किया गया है एवं मामले की उच्चस्तरीय समीक्षा की गयी है। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि आवश्यकता होेने पर परियोजना के डिजाइन और सेवा पथ की चैड़ाई में परिवर्तन किया जाएगा।

 429 total views

Share Now

Leave a Reply