4 जनवरी: बिहार के स्कूल-काॅलजे खुलेंगे, लेकिन नहीं हो सकेंगे गुलो-गुलज़ार

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
पटना, 23 दिसंबर: मार्च 2020 से बंद पड़े बिहार के शैक्षिक संस्थानों को 4 जनवरी, 2021 से खोलने का आदेश प्रदेश सरकार ने दे दिया है। इसके तहत नवीं से बारहवीं दर्जा तक के सरकारी और प्राइवेट स्कूल, काॅलेज, विश्वविद्यालय, कोचिंग और हाॅस्टल के प्रबंधकों ने तैयारी शुरू कर दी है। लेकिन पहले की तरह स्कूल-काॅलेज के गुलो-गुलज़ार होने में सबसे बड़ी रुकावट सरकार द्वारा जारी कोविड-19 की गाइडलाइंस हैं। गाइडलाइंस के तहत कई तरह की बंदिशें लगा दी गई हैं जिसकी वजह से प्रबंधकों को फूंक-फूंक कर कदम रखना पड़ रहा है। नतीजतन शैक्षिक संस्थानों में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति काफ़ी कम हो सकती है।

कोविड-19 गाइडलाइंस के तहत शैक्षिक संस्थानों ने फैसला किया है कि-
माॅर्निंग एसेम्बली और स्पोर्ट्स के पीरियड अभी शुरू नहीं किए जाएंगे
फिलहाल कैंटीन बंद रहेगी
बच्चे लंच लेकर आएंगे लेकिन आपस में शेयर नहीं करेंगे
एक हफ़्ते में एक बच्चा तीन दिन स्कूल आएगा
एक दिन एक ग्रुप दूसरे दिन दूसरा ग्रुप आएगा
क्लासेज़ को रोज़ सेनेटाइज़ किया जाएगा
बस की सुविधा बच्चों को नहीं दी जाएगी
स्कूल के गेट पर बच्चों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी
कमरों की क्षमता के अुनसार छात्राओं को बैठाया जाएगा
सीट के बीच 6-6 फीट की दूरी रहेगी
छात्राओं को मास्क और सेनेटाइज़र रखना ज़रूरी होगा
काॅलेज में पहले थर्ड ईयर की छात्राओं को बुलाया जाएगा
उसके बाद सेकंड और फ़स्र्ट ईयर की छात्राएं आएंगी

दूसरी तरफ़ प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफ़ेयर एसोसियशन ने धमकी दी है कि अगर उसकी आठ सूत्री मांगों को सरकार ने पूरा नहीं किया तो प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।
ज़्यादा जानकारी के लिए देखिये ये वीडियो।

 427 total views

Share Now

Leave a Reply