मदरसों पर अंगुली उठाना गलत, आजादी से पढ़ाई तक इनकी भूमिका अहमः जमां

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना।
बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमां खान ने शनिवार को पटना स्थित अपने सरकारी आवास पर आयोजित प्रेस काॅन्फ्रेंस में कहा कि मदरसों की भूमिका आजादी की लड़ाई से आज की पढ़ाई तक में बेहद अहम रही है और इनपर अंगुली उठाना बिल्कुल गलत है।
श्री खान ने नीतीश सरकार में शामिल भाजपा कोटे के दो मंत्रियों द्वारा हाल ही में मदरसों पर दिये गये आपत्तिजनक और तथ्य से परे बयान के संदर्भ में यह बात कही। उन्होंने कहा कि जिन्होंने ऐसा बयान दिया है, वे जानकारी हासिल करें और मदरसों में जाकर देखें तो उनको हकीकत मालूम होगी। उन्होंने कहा- जमां खान चैलेंज करता है कि मदरसों में एक बात भी गलत हो रही है तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। उन्होंने कहा कि जो मदरसे से सही तरीके से पढ़ाई पूरी करता है वह देश के लिए और मानवता की भलाई के लिए कुछ भी कर सकता है।
उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लड़ाई में दारुल उलूम और नदवतुल उलेमा और अन्य मदरसों की बेहद अहम भूमिका रही है और उलेमा ने अपनी कुर्बानियां दी हैं।
मंत्री श्री खान ने मदरसा शम्सुल हुदा में शिक्षकों की बहाली और उर्दू के बारे में भी पहल करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने दावा कि बिहार सरकार बिना भेदभाव के तहत समावेशी विकास की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने ओछी राजनीति और भड़काने वाला बयान देने से बचने की सलाह दी।
उन्होंने कहा कि मदरसों के सुदृढ़ीकरण के लिए 2018 से योजना चलायी जा रही है। इसका उद्देश्य मदरसों और स्कूलों के बीच के अंतर को पाटना है।

 668 total views

Share Now

Leave a Reply