नीतीश ने साम्प्रदायिकता को बढ़ावा दिया, नहीं खर्च की अल्पसंख्यकों की राशि

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट पटना
कांगे्रस के सीनीयर लीडर और बिहार विधान परिषद् सदस्य प्रेमचंद मिश्रा ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में उर्दू को कमज़ोर कर रहे हैं। पटना में शनिवार को डाॅ. अब्दुलहई के आवास पर प्रेमचंद मिश्रा के लिए एक अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया था। यह समारोह बजट सत्र में उनके द्वारा अल्पसंख्यकों के लिए ज़ोरदार तरीक़े से उठाए गए मुद्दों पर बधाई देने के लिए आयोजित किया गया था। समारोह के बाद बिहार लोक संवाद डाॅट नेट से बातचीत करते हुए मिश्राजी ने कहा कि वो अल्पसंख्यकों के लिए वो आगे भी लड़ाई लड़ते रहेंगे।

प्रेमचंद मिश्रा ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार की नीयत साफ़ नहीं है। उन्होंने बिहार में साम्प्रदायिकता और भाजपा को बढ़ावा दिया है।
मिश्राजी ने कहा कि कांग्रेस पर तुष्टिकरण का आरोप लगाना ग़लत है।
इस अवसर पर बिहार लोक संवाद डाॅट नेट ने बिहार विधान सभा में अल्पसंख्यक कल्याण समिति के अध्यक्ष आफ़ाक़ आलम से भी बात की। उन्होंने आरोप लगाया कि अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए बजट में जो राशि एलाट की जाती है, वह ख़र्च नहीं किया जाता। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के लिए जो योजनाएं हैं, उनका लाभ उठाने के लिए लोगों को जागरूक किए जाने की ज़रूरत है।
सदन से लेकर अभिनंदन समारोह तक जिस तरह से प्रेमचंद मिश्रा को शाबाशी मिल रही है, उससे यक़ीनन उनकी हौसलाअफ़ज़ाई हुई है। अब देखना है कि इसका किस हद तक फ़ायदा बिहार के अल्पसंख्यकों को होता है।

 

 450 total views

Share Now

Leave a Reply