अल्पसंख्यकों के विकास के दावे करने वाली सरकार बजट राशि खर्च क्यों नहीं करती?

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट पटना

बिहार की नीतीश सरकार अल्पसंख्यकों के विकास के लंबे-चैड़े दावे करती है। सांकेतिक रूप से खुद मुख्य मंत्री दरगाहों और मजारों पर चादरें चढ़ाते हैं, ख़ानकाहों में निर्माण कार्य के लिए पैसे ख़र्च करते हैं। लेकिन क्या इतने से ही अल्पसंख्यकों का कल्याण हो जाता है? ये पूछा है बिहार विधान परिषद् के जारी बजट सत्र में कांगे्रस के एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा ने। प्रेमचंद मिश्रा मंगलवार को सदन में अल्पसंख्यक विभाग के लिए एलाट किये गए बजट पर बोल रहे थे।

साल दो हज़ार इक्कीस-बाईस के लिए नीतीश सरकार ने अल्पसंख्यक विभाग को 562 करोड़ 62 लाख रुपये दिया है। प्रेमचंद मिश्रा ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के दबाव की वजह से पूरा पैसा खर्च नहीं कर पाते हैं।

प्रेमचंद मिश्रा ने और क्या-क्या कहा, देखिये इस वीडियो में।

 432 total views

Share Now

Leave a Reply