छपी-अनछपी: नगर निकाय चुनाव से खतरा टला, पटना हाईकोर्ट ने क्यों कहा- …तो बंद कीजिए यूनिवर्सिटी

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। बिहार में 18 और 28 दिसंबर को होने वाले नगर निकाय चुनाव पर खतरा फिलहाल टल गया है। इससे जुड़े मामले में अब सुप्रीम कोर्ट में 20 जनवरी को सुनवाई होगी। यह खबर आज सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबरों में शामिल है। बिहार के विश्वविद्यालयों में रिजल्ट में होने वाली देरी पर पटना हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है और कई वीसी पर जुर्माना लगाया है। इसे सभी अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है। समस्तीपुर में ज़ेवर दुकान से एक करोड़ की लूट की खबर भी सभी जगह है। उधर कतर में विश्व कप फुटबॉल के प्री क्वार्टर फाइनल मैच में मोरक्को ने अपने पूर्व शासक स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में 3-0 से में हराकर तहलका मचा दिया। इस अंक के साथ लगी तस्वीर मोरक्को के खिलाड़ी अशरफ हकीमी की है जो जीत के बाद अपनी मां से मिल रहे हैं।
प्रभात खबर की सबसे सुर्खी है: नगर निकाय चुनाव पर ग्रहण टला, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के पहले आ जाएगा रिजल्ट। जागरण की सबसे बड़ी खबर भी यही है: प्रदेश में 18 और 28 को तय निकाय चुनाव पर फिलहाल कोई संकट नहीं। अखबारों ने लिखा है कि डेडीकेटेड कमीशन के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में अब 20 जनवरी को सुनवाई होगी। राज्य के 224 नगर निकायों के लिए चुनावों का पहला ऐलान अति पिछड़ा आरक्षण पर मुक़दमे के बाद वापस कर लिया गया था। अब इन चुनाव का रिजल्ट 30 दिसंबर तक आ जाएगा। इस मामले पर सुनवाई 6 दिसंबर को होनी थी लेकिन अखबारों में यह स्पष्ट नहीं है कि यह 20 जनवरी तक कैसे टली।
समस्तीपुर में 1 करोड़ के ज़ेवर की लूट
भास्कर की पहली खबर है: ज्वेलरी शॉप में लड़की बोली अंगूठी दिखाओ, पीछे से साथ ही घुसे, लूट लिए एक करोड़ के गहने। हिन्दुस्तान में भी यह खबर पहले पेज पर है। इसमें बताया गया है कि समस्तीपुर शहर के हीरा ज्वेलर्स में मंगलवार को दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों ने एक करोड़ से अधिक के गहने लूट लिए। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मोहनपुर नक्कू अस्थान में उक्त सड़क के किनारे स्थित शोरूम में दोपहर करीब 2:30 बजे इस वारदात के दौरान बदमाशों ने बोरी में भरकर ज़ेवर के अलावा एक लाख नगद भी लूट लिए। लूटपाट करने वाले करीब 8-10 बदमाश बाइक से आए थे जिनमें एक लड़की भी शामिल थी। लुटेरों ने सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया और उसके डीवीआर वह हार्ड डिस्क को साथ लेते गए।

भागलपुर-कटिहार में गंगा से कटाव
हिन्दुस्तान की पहली खबर है: भागलपुर-कटिहार में गंगा के कटाव पर बनेगा रोडमैप। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दोनों जिले के कटाव ग्रस्त क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के बाद इसके बारे में निर्देश दिया। जागरण की हेडिंग है: मुख्यमंत्री ने कटिहार में निरीक्षण कर दिया निर्देश, तत्काल रोकें गंगा से हो रहा कटाव। मुख्यमंत्री हवाई सर्वेक्षण के दौरान कटिहार जिले के मनिहारी प्रखंड के बाघमारा में हेलीपैड पर उतरे और वहां कटाव का निरीक्षण किया। इसके अलावा उन्होंने महानन्दा नदी के बांध के लिए तेजी से काम करने का निर्देश दिया।
वीसी पर जुर्माना
प्रभात खबर की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: सत्र लेट होने पर हाई कोर्ट नाराज, पांच विवि के वीसी पर 5-6 हजार जुर्माना। भास्कर की सुर्खी है: चीफ जस्टिस बोले- छात्रों को समय पर रिजल्ट नहीं दे सकते तो बंद कर दीजिए यूनिवर्सिटी। अखबार लिखते हैं कि राज्य के विश्वविद्यालयों द्वारा समय पर परीक्षा नहीं लेने और परीक्षाफल प्रकाशित करने में विलंब से नाराज पटना हाईकोर्ट ने विश्वविद्यालय को कड़ी चेतावनी दी है। मंगलवार को एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने हलफनामा नहीं दायर किए जाने पर मगध, वीर कुंवर सिंह, पूर्णिया, ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय और पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपतियों पर पांच-पांच हज़ार रुपये का जुर्माना भी लगाया।

आधार लिंक होने से लाभार्थी हुए कम 
भास्कर की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: आधार लिंक करते ही 1.86 करोड किसान ₹6000 वाले लाभ से बाहर। अखबार लिखता है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में किसानों के खाते में हर साल ₹6000 की आर्थिक मदद दी जाती है लेकिन सरकार ने 12वीं क़िस्त जारी करने से पहले किसानों के डाटा को क्लीन करने के लिए जैसे ही आधार लिंक करने वाला चौथा डिजिटल फिल्टर आजमाया तो लाभार्थी किसानों की संख्या पिछले महीने में 1.6 करोड़ कम हो गई। अखबार ने यह नहीं बताया है कि अब तक इस फिल्टर का इस्तेमाल क्यों नहीं किया गया।

हवाई जहाज में रिसाव
हिंदुस्तान में पहले पेज पर यह खबर है: पटना-गुवाहाटी फ्लाइट से इंधन का रिसाव, ग्राउंडेड होने पर हंगामा। इसमें बताया गया है कि पटना से गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट की फ्लाइट मंगलवार को गुवाहाटी से आने के बाद पटना एयरपोर्ट पर ग्राउंड हो गई। दरअसल विमान को पटना से गुवाहाटी लौटना था पर विमान के एक हिस्से से इंधन का रिसाव होने लगा। उड़ान से ठीक पहले इंजीनियरों की जांच में इसका पता चला। विमान शाम 5:45 बजे आया और उसे सवा छह बजे टेक ऑफ करना था। 4 घंटे बाद भी जब इसे ठीक नहीं किया जा सका तो विमान को पटना एयरपोर्ट पर ही खड़ा कर दिया गया। हालांकि इस बीच 66 यात्रियों की सुरक्षा जांच के बाद बोर्डिंग करा दी गई थी। अब उन्हें विमान से उतरने को कहा गया तो उन्होंने काफी हंगामा किया जिन्हें बाद में शांत कराकर होटल भेजा गया।

अनछपी: पटना हाई कोर्ट द्वारा विश्वविद्यालयों की लेटलतीफी पर वाइस चांसलरों को लगाई गई फटकार बहुत देर से उठाया गया और बहुत हल्का कदम है। ₹5000 का जुर्माना जाहिर है सांकेतिक है। बिहार के विश्वविद्यालयों को चलाने का ज़िम्मा राजभवन पर है और इस नाते राज्यपाल सभी विश्वविद्यालयों के मुखिया होते हैं। हाईकोर्ट ने अभी राज्यपाल और उनके कार्यालय की जिम्मेदारी के बारे में कुछ नहीं कहा है। हालांकि यह मामला शिक्षा विभाग से भी जुड़ा है लेकिन उसके मंत्री का कहना है कि उनके हाथ में बहुत कुछ नहीं है। विश्वविद्यालयों में शीर्ष पदों पर बहाली राजभवन से होता है और अगर वीसी और दूसरे जिम्मेदार अधिकारी अपनी भूमिका सही से नहीं निभाते तो राज भवन पर भी सवाल उठना लाजमी है। सोचने की बात यह है कि इस फटकार और जुर्माने से उन लाखों विद्यार्थियों का क्या लाभ होगा जो सेशन लेट होने की वजह से अपना समय गंवाने को मजबूर हुए, या कहीं एडमिशन नहीं ले पाए या उन्हें किसी नौकरी में सिलेक्शन के बावजूद जगह नहीं मिली। अदालत से इस इंसाफ की भी उम्मीद की जानी चाहिए कि जिन विद्यार्थियों का नुकसान से हुआ है उनकी भरपाई कैसे हो।

 461 total views

Share Now

Leave a Reply