लाॅकडाउन का 16 से 25 मई का फ़ेज़ होगा और सख़्त, मिलेगी कुछ राहत भी, जानिये कैसे

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट पटना

कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए बिहार सरकार ने लॉकडाउन को अगले 10 दिनों के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। बिहार के मुख्यमंत्री ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। नीतीश कुमार ने गुरुवार को कहा कि आज सहयोगी मंत्री व पदाधिकारियों के साथ बिहार में लागू लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा की गई। लॉकडाउन का सकारात्मक प्रभाव दिख रहा है, इसलिए बिहार में अगले 10 दिनों तक यानी कि 16 से 25 मई तक लॉकडाउन को विस्तारित करने का निर्णय लिया गया है। बता दें इसके पहले सरकार ने 5 से 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला किया था।

मुख्यमंत्री के ट्वीट के बाद शाम 04:30 बजे मुख्य सचिव, विकास आयुक्त, पुलिस महानिदेशक, अपर मुख्य सचिव गृह तथा प्रधान सचिव स्वास्थ्य प्रत्यय अमृत ने सुयक्त रूप से लॉकडाउन पर सरकार द्वारा लिए गए निर्णयों के संबंध में मीडिया को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विस्तृत जानकारी दिया। उन्होंने बताया कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद लॉकडाउन के पाबंदियों में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किये गए हैं वहीं कई महत्वपूर्ण निर्णय कलए हैं।

दूसरे फेज के लॉकडाउन में शहरी क्षेत्रों की आवश्यक खाद्य सामग्रियों की दुकानें जो पहले सुबह 7 से 11 बजे तक खोलने अनुमति थी, उसमें बदलाव करते हुए दो भागों में बांटा गया है। शहरी क्षेत्र में जहां अब इन दुकानों के खोलने का समय 6-10 बजे पूर्वाह्न निर्धारित किया गया है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में 8 से 12 बजे दोपहर तक दुकानें खोलने की अनुमति दी गई है। फल-सब्जी दुकानों पर भीड़ न लगे, इसके लिए जिलाधिकारियों को इस पर ध्यान देने का निर्देश दिया गया है। अपवाद में निर्माण संबंधी, हार्डवेयर, बीज-खाद्य से संबंधित दुकानों को सप्ताह में दो दिन सोमवार और गुरूवार को 6 से 10 बजे तक (ग्रामीण-शहरी) खोलने की अनुमति दी गई है।

कोरोना को देखते हुए शादी समारोह को लेकर सरकार ने नया आदेश जारी किया है। जहां पहले शादी-विवाह समारोह में 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति थी, वहीं 16 मई से शुरू होने जा रहे दूसरे फेज के लॉकडाउन में मात्र 20 लोग ही शादी समारोह में शामिल हो सकेंगे और शादी समारोह की जानकारी तीन दिन पूर्व संबंधित थाना को देनी होगी। डीजे-बारात जुलुस पर प्रतिबंध जारी रहेगा। बता दें पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहारवासियों से शादी समारोह को कुछ दिनों के लिए टालने की अपील भी की थी।

उन्होंने बताया कि सरकार ने निर्णय लिया है कि सरकार द्वारा संचालित कोविड अस्पताल, कोविड सेंटरों, कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों में मरीज के तीमारदारों के खाने-पीन की व्यवस्था सामुदायिक किचन के माध्यम से जिला प्रशासन करेगी।

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि जहां बीते 2 मई को बिहार में कोरोना पॉजिटिविटि रेट 15.7% थी, 11 मई को घटकर 8.9% पर आ गई है। जिससे निश्चित रूप से लॉकडाउन का प्रभाव दिख रहा है। ऐसे ही सब लोग कोविड प्रोटोकाल का पालन करें, लड़ाई बाकी है और लंबी है। उन्होंने वैक्सीनेशन के संबंध में जानकारी दी कि 18 से 44 साल के अब तक 3 लाख 1 हजार 78 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। अभी 6 लाख 48 हजार 280 डोज उपलब्ध हैं। बात करें 45 साल से ऊपर के लोगों की तो 3 लाख 85 हजार 710 डोज अभी भी उपलब्ध हैं, ऐसे में इन लोगों से अपील है कि समय पूरा हो चुका है तो दूसरा डोज जल्द लगा लें अन्यथा फर्स्ट डोज का कोई अर्थ नहीं रह जाएगा। उन्होंने जानकारी दी कि कैबिनेट से 1000 संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की बहाली की स्वीकृति मिलने के उपरांत 500 चिकित्सकों को नियोजन हो चुका है।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संचालित सामुदायिक किचन में दो वक्त का खाना गरीबों व जरूरतमंदों को दिया जा रहा है। प्रदेश में 5 मई को 119 सामुदायिक किचन शुरू किए गए थे, जिसकी संख्या बढ़कर 345 हो गई है। यहां प्रतिदिन 2 लाख 81 हजार 488 लोग प्रतिदिन सामुदायिक किचन का लाभ उठा रहे हैं।

बता दें दूसरे चरण के लॉकडाउन में अन्य आदेश पूर्व की तरह ही जारी रहेगा।।

लाॅकडाउन संबंधी गृह विभाग से जारी विस्तृत आदेश को जानने के लिए यहां क्लिक करें।

Order 13-05-2021

 474 total views

Share Now

Leave a Reply