चिराग ने नीतीश को लिखी चिट्ठी: ‘‘आप कह सकते हैं Bihar First, Bihari First विजन डाॅक्यूमेंट खराब है, लेकिन…..’’

बिहार लोक संवाद ब्यूरो

पटना, 2 नवंबर : लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान का इन दिनों एक वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वो शूटिंग करते दिखाई दे रहे हैं। यह शूटिंग चिराग के पिता रामविलास पासवान के निधन के तुरंत बाद का बताया जाता है। शूटिंग के दौरान चिराग हंसते-मुस्कुराते दिखाई दे रहे हैं। चिराग विरोधी कह रहे हैं कि जिस बेटे को अपने पिता की मौत का गम नहीं है, उसे बिहार की जनता की चिंता क्योंकर हो सकती है।

आज यहां संवाददाता सम्मेलन का आयोजन करके चिराग ने इस वीडियो पर सफाई पेश की और मुख्य मंत्री के नाम लिखे गए अपने पत्र को सार्वजनिक किया। पत्र के माध्यम से चिराग ने नीतीश पर आरोप लगाया कि वे उनकी छवि खराब करने का प्रयास कर रहे हैं।
यहां पेश है पत्र का पूरा स्क्रिप्ट
……..
आदरणीय नीतीश कुमार जी,
आपको यह पत्र इसलिए चुनाव के दरमियान लिख रहा हूँ क्योंकि मुझे महसूस हो रहा है कि पापा के आखिरी दिनों को लेकर आप अचानक से चिंतित हो रहे हैं। आपकी ये चिंता मुझे हैरान करती है क्योंकि पापा जब तक जीवित थे तब तक न तो आपने उनसे मिलने का प्रयास किया और न ही फोन कर उनका हालचाल जानने की कोशिश की। अजीब लगता है जब देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर आम देशवासियों को भी पापा के बीमार होने की जानकारी थी, उस वक्त आपका ये बयान देना कि आपको उनकी बीमारी के बारे में मालूम ही नहीं है, हैरान करता है।
महोदय, आजकल आप प्रधानमंत्री जी के आशीर्वाद लिए अक्सर उनके साथ मंच साझा करते रहते हैं। अतः आपसे आग्रह करूँगा की आप पापा के अंतिम दिनों के बारे में प्रधानमंत्री से जानकारी ले लें क्योंकि पापा आखिरी संास तक उनसे जुड़े हुए थे। एक बेटा होने के नाते मैंने उनका अपनी सूझबूझ से सबसे बेहतर ध्यान दिया लेकिन मेरे साथ पापा के बेहतर इलाज के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री जी भी दिन रात प्रयासरत् थे।

महोदय, बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में आप नेताओं द्वारा गिरते राजनीतिक स्तर के बारे में आपको कुछ जानकारी देना चाहता हूँ। राजनीति में व्यक्तिगत आरोप प्रत्यारोप लगाना कहीं से उचित नहीं है। आप मेरी नीति को लेकर प्रश्न उठा सकते हैं। आप मेरी नीयत को लेकर प्रश्न उठा सकते हैं, आप यह कह सकते हैं बिहार फस्र्ट, बिहारी फस्र्ट विजन डाॅक्यूमेंट खराब है पर निरन्तर आपके नेता मुझ पर निजी हमले किये जा रहे हैं। पहले मेरा एक विडियो जिसमें मैं अपनी पार्टी का ‘Bihar First, Bihari First’ विजन डाॅक्यूमेंट की वीडियो शूट कर रहा था उसको एजेंडा बनाकर ऐसा दिखाने का प्रयास किया गया मानो मुझे मेरे पिता के गुजरने का दुःख ही नहीं है। इस वीडियो के माध्यम से जनता के बीच मेरी छवि खराब करने की असफल कोशिश की गई थी।

आपके यहां से एक एजेंडा बनाकर मीडिया को एक पत्र इस वीडियो के साथ साझा किया गया, जिसमें यह बताया गया कि मैं कैसे अपने पिता के निधन के बाद शूटिंग कर रहा हूँ जबकि यह सब जानते हैं कि पापा का निधन एक ऐसे समय पर हुआ जब चुनाव सिर पर थे। हमारे यहां परम्परा है कि 10 दिन तक मुखाग्नि देने वाला लड़का घर से बाहर नहीं निकलता और ये वो 10 दिन थे जब बिहार में पहले चरण का प्रचार शुरू हो चुका था। ऐसे में मेरे पास अपनी बातों को जनता तक पहुंचाने का विकल्प नहीं था। आज की मौजूदा सरकार को बदलने का डिजिटल माध्यम ही एक रास्ता था। परिस्थिति ऐसी थी कि पापा के निधन के कुछ घंटे बाद ही मुझे काम पर लौटना पड़ा। जिस शाम उनका निधन हुआ उस रात भी मैं पहले चरण के प्रत्याशियों की सूची तैयार कर रहा था। पापा के निधन के बाद या तो हिम्मत हार कर पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं को बीच मझदार में छोड़ देता या फिर पापा की अंतिम इच्छा को पूरा करने के लिए जी जान से मेहनत में जुट जाता। मैंने दूसरा रास्ता चुना।

आदरणीय मुख्यमंत्री नीतीश जी
आपसे आग्रह है कि पिछले 5 साल का हिसाब जनता को दें और आने वाले अपने विकास के रोड मैप को जनता के सामने रखें और जनता से आर्शीवाद माँगें। निजी हमले करने से आप कमजोर दिखते हैं। आपके पार्टी के नेताओं द्वारा व्यक्तिगत और निजी हमले न सिर्फ मुझे बल्कि मेरे परिवार को भी बहुत ठेस पहुंचाते हैं। चुनाव में चर्चा सिर्फ विकास के मुद्दे पर होनी चाहिए और आपको अपने पांच साल में किये गये काम के आधार पर वोट मांगना चाहिए। बिहारी इस बात को समझ रहे हैं कि आपका यह प्रयास सात निष्चय में हो रहे घोटाले की जांच एवं जिस तरीके से मुंगेर में माँ दुर्गा के भक्तों पर आपके निर्देश पर गोली चलवाई गई इससे ध्यान भटकाना चाहते हैं।
अतः चुनाव मुद्दों पर लड़ें और जरूरत हो तो किसी भी विकास के मुद्दे पर आपके साथ मैं सार्वजनिक चर्चा करने को तैयार हूँ।
सादर
भवदीय
(चिराग पासवान)

 

 

 

 456 total views

Share Now

Leave a Reply