छपी-अनछपी: 17 में 16 मेयर महिला, वकीलों की अनुपलब्धता से 63 लाख केसों में देरी

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। नगर निगम और अन्य नगर निकायों के चुनाव के दूसरे चरण के रिजल्ट की खबरें सभी अखबारों में छाई हुई हैं। बिहार के 17 नगर निगम में 16 जगहों पर महिलाएं मेयर चुनी गई हैं। क्रिकेटर ऋषभ पंत के कार हादसे की खबर भी सभी अखबारों में पहले पेज पर ली गई है। मां को मुखाग्नि देने के कुछ ही देर बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम पर जुट जाने की खबर भी अखबारों में प्रमुखता से ली गई है। जागरण ने भारत के चीफ जस्टिस के हवाले से लिखा है कि यहां वकीलों की अनुपलब्धता के कारण 63 लाख केसों में देरी हुई है।

भास्कर की सबसे बड़ी सुर्खी है: पटना में महिलाओं की सरकार, 75 वार्डों में मेयर डिप्टी समेत पचास पार्षद महिला ही। हिन्दुस्तान ने लिखा है: पटना में सीता बरकरार, नारी बहुल नगर सरकार। जागरण ने लिखा है शहर की जनता ने सीता साहू को चुना मेयर, रेशमी चंद्रवंशी बनीं उप महापौर। पटना के चुनाव के बारे में भास्कर ने लिखा है: महागठबंधन से जुड़ी तीन मेयर प्रत्याशियों में बटे वोट इससे जीती भाजपा समर्थक सीता। मेयर चुनी गई सीता साहू के बाद सबसे अधिक वोट पूर्व मेयर अफजल इमाम की पत्नी मेहजबी को मिले लेकिन वह 79576 वोटों से हार गईं। हिन्दुस्तान के अनुसार जनता से सीधे चुने गए 17 मेयर में 16 महिलाएं हैं।

पटना-  सीता साहू

भागलपुर-  डॉ. बसुंधरा लाल

पूर्णिया-  विभा कुमारी

कटिहार-  उषा देवी अग्रवाल

मुंगेर- कुमकुम देवी

मुजफ्फरपुर- निर्मला साहू

मोतिहारी- प्रीति गुप्ता

बेतिया- गरिमा देवी सिकारिया

सीतामढ़ी- रौनक जहां परवेज

दरभंगा- अंजुम आरा

समस्तीपुर- अनिता राम

गया- वीरेंद्र कुमार

छपरा- राखी गुप्ता

बिहारशरीफ- अनिता देवी

सासाराम- काजल कुमारी

आरा- इंदु देवी

बेगूसराय- पिंकी देवी।

दिग्गजों के रिश्तेदार हारे

नगर निकाय चुनाव में कई राजनीतिक दिग्गजों को बुरा दिन देखना पड़ा है। बेतिया से मेयर पद के प्रत्याशी पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणु देवी के भतीजे की पत्नी हार गईं हालांकि समस्तीपुर में पूर्व मंत्री रामाश्रय सहनी वार्ड संख्या 38 से चुनाव लड़े और जीते। विधानसभा के उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी की पत्नी संध्या हजारी मेयर का चुनाव हार गईं। जदयू के दबंग विधायक गोपाल मंडल की पत्नी सविता मंडल को भागलपुर मेयर के चुनाव में शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। कटिहार में राजद नेता और पूर्व मंत्री राम प्रकाश महतो की पत्नी मीना महतो मेयर पद का चुनाव हार गईं।

क्रिकेटर पंत एक्सीडेंट में घायल

भास्कर ने सुर्खी लगाई है: तीन पलटी खाकर धधक उठी कार, पंत को खींचकर निकाला तब बचे। जागरण ने लिखा है: क्रिकेटर रिषभ पंत सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल चलती कार से निकाला। हिन्दुस्तान की हेडिंग है: दुर्घटना डिवाइडर से टकराई कार, क्रिकेटर ऋषभ पंत घायल। दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर नारसन के पास पलटने के बाद ऋषभ की कार धू-धू कर जल उठी। बुरी तरह जख्मी ऋषभ का देहरादून के अस्पताल में इलाज चल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्रिकेटर की मां से बात कर हालचाल जाना। पंत नए साल पर परिवार के साथ छुट्टी मनाने गृहनगर रुड़की जा रहे थे। वह मां को सरप्राइज देना चाहते थे। ऋषभ दिल्ली से रात दो बजे निकले थे। शुक्रवार तड़के 5:20 बजे हादसा हो गया। दूर तक घिसटती गई कार हादसे का जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, उसमें उनकी कार डिवाइडर पर पलटी खाते हुए दूसरी लेन में दो सौ मीटर घिसटने के बाद पोल से टकराती दिखी। सड़क पर कार के पुर्जे बिखर गए। कार ने आग पकड़ ली। इस बीच वहां से गुजर रही हरियाणा रोडवेज की बस के ड्राइवर-कंडक्टर मददगार साबित हुए।

मां को मुखाग्नि देने के बाद मोदी

हिन्दुस्तान ने प्रमुखता से यह खबर दी है: मोदी ने मां को मुखाग्नि देने के तत्काल बाद कामकाज संभाला। अखबार लिखता है: एक तरफ पुत्र का दायित्व, दूसरी ओर कर्तव्यपथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधीनगर में शुक्रवार सुबह मां को मुखाग्नि दी। चंद घंटे बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से वंदेभारत ट्रेन और कई विकास कार्यों को हरी झंडी दिखाई। जागरण ने दो सुर्खी लगाई है: पुत्र धर्म… राष्ट्र धर्म। भास्कर ने लिखा है: मां के अंतिम संस्कार के दो घंटे के बाद काम पर लौटे मोदी, कहा- हमें रुकना नहीं है।

वकीलों की अनुपलब्धता

जागरण की एक अहम सुर्खी है: वकीलों की अनुपलब्धता के कारण 63 लाख केसों में हुई देरी सीजेआई। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया डीवाई चंद्रचूड़ ने शुक्रवार को कहा कि नेशनल ज्यूडिशल डाटा ग्रिड के आंकड़ों के मुताबिक देश भर में 63 लाख से ज्यादा मामले में वकीलों की अनुपलब्धता के कारण और 14 लाख से ज्यादा मामलों में किसी तरह का दस्तावेज या रिकॉर्ड नहीं मिलने की वजह से देरी हुई है। उन्होंने यह बात आंध्र प्रदेश न्यायिक अकादमी के उद्घाटन के अवसर पर कही। इस खबर से यह बात साफ नहीं हुई कि 63 लाख वकीलों की कमी है या उन वकीलों के पास समय की कमी है जिसके कारण वे अनुपलब्ध हैं।

सर्दी का सितम

भास्कर की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: सर्दी का सितम- पटना में दिन का पारा 3° गिरा, घना कोहरा रहेगा। बिहार में दो तरह की हवाओं का असर है, जिससे दिन का पारा और कम होगा। मौसम विभाग ने लोगों को सुरक्षित जगह रहने के लिए अलर्ट किया है। कोहरे के कारण पटना, गया भागलपुर में सुबह 550 मीटर के बाद नहीं दिख रहा था। बिहार के 27 जिलों में रात का तापमान 10 डिग्री से नीचे रहा। इसमें 11 जिलों में तापमान छह डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया गया है जबकि 13 जिलों में दिन का तापमान 20 डिग्री से नीचे रिकॉर्ड किया गया है। पटना में दिन का तापमान सामान्य से तीन डिग्री नीचे 19.7 डिग्री और रात का तापमान 9.2 डिग्री दर्ज किया गया। हिन्दुस्तान की सुर्खी है: कोहरे का कहर: पटना में 4 चक्कर लगाकर कोलकाता गया विमान।

कुछ अन्य सुर्खियां:

  • होम्योपैथी कोर्स अब 6 साल का, कार्डियोलॉजी की भी होगी पढ़ाई
  • बोधगया में दलाई लामा से मिले नीतीश कुमार
  • जिस शहर में लगाती थीं झाड़ू, जनता ने वहीं बना दिया डिप्टी मेयर
  • राहुल गांधी की सुरक्षा दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई
  • मनेर में बालू लदी नाव डूबी, साथ गंगा में बहे
  • राजीव रंजन का भाजपा से इस्तीफा
  • पांच बार सांसद रहे सुकदेव की पत्नी को 21 साल की छात्रा ने हराया
  • जहाज का संतुलन बिगड़ने से तीन हाईवा डूबे, चालक लापता

अनछपी: बिहार के 17 नगर निगमों में से 16 के मेयर पद पर महिला का चुना जाना एक बड़ा संकेत माना जा सकता है। इनमें से सिर्फ 7 सीटों पर महिलाओं के लिए आरक्षण था। यानी अन्य 10 में से भी 9 मेयर पदों पर महिलाओं की जीत बिना आरक्षण के हुई है। मेयर पदों पर महिलाओं के चुने जाने के पीछे एक बड़ा कारण यह भी है कि हमारे राजनेता अपने परिवार के सदस्यों को भी आगे बढ़ाने का जरिया मानते हैं। यही कारण है कि हमें कई राजनेताओं की रिश्तेदारों की हार की भी खबर मिली है। महिलाओं की इस जीत का सांकेतिक महत्व तो है लेकिन क्या यह वास्तविक अर्थों में भी महिला सशक्तिकरण करता है यह सोचने की बात है। इस बार 5 नवगठित नगर निगमों में भी महिलाएं मेयर चुनी गई है। देखना यह होगा कि क्या महिलाएं अपने पद पर खुद सारा काम संभालती हैं या पहले की तरह उनके पति ही इन में हस्तक्षेप करते रहेंगे। बिहार ने एमपी और एसपी जैसे नए हिंदी संक्षिप्त भी दिए हैं। यह सबको मालूम है कि एमपी का मतलब मुखिया पति और एसपी का मतलब सरपंच पति होता है। एमपी का मतलब अब मेयर पति ना हो यह नगर निकाय चुनाव के लिए महत्वपूर्ण है।

 

 

 

 1,272 total views

Share Now

Leave a Reply