छपी-अनछपी: नीतीश के पास नकदी 21 हज़ार लेकिन बाक़ी मंत्री मालामाल, कई जिलों के अफसर बदले 

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। हर साल के अंत में बिहार सरकार के मुख्यमंत्री और बाकी मंत्री अपनी संपत्ति की घोषणा करते हैं। यह खबर आज सभी अखबारों में प्रमुखता से ली गई है। पटना समेत कई जिलों के अफसरों के तबादले की खबर भी प्रमुखता से ली गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरएसएस के बारे में कहा है कि आजादी में इसका योगदान नहीं। हालांकि उनका यह बयान अक्सर अखबारों में दब गया है। इसके अलावा हर जगह नए साल के स्वागत और उम्मीदों की बात भी है।

भास्कर की सबसे बड़ी खबर है: मुख्यमंत्री से ज्यादा अमीर हैं डिप्टी सीएम व कई मंत्री, कई जमीन-सोने के शौकीन। सीएम नीतीश कुमार व डिप्टी सीएम तेजस्वी और उनके 29 मंत्रियों ने अपनी संपत्ति घोषित की है। नीतीश कुमार की कुल संपत्ति 75 लाख की है, जबकि तेजस्वी यादव की कुल संपत्ति 5 करोड़ 27 लाख की है। अशोक चौधरी जो भवन निर्माण मंत्री हैं, उनकी कुल संपत्ति 5 करोड़ 95 लाख रुपये है। तेजप्रताप की संपत्ति सवा तीन करोड़ बताई गई है जिसमें बीएमडब्ल्यू कार और विदेशी बाइक शामिल है। जागरण की सुर्खी है: मुख्यमंत्री के पास केवल 21000 नकद सोने की 2 व चांदी की एक अंगूठी। उनके पास 12 गाय और दिल्ली में एक फ्लैट भी है। उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ व उनका परिवार 7 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति का स्वामी है। मंत्री लेसी सिंह के पास डेढ़ करोड़ रुपए की जमीन है। रामानंद यादव उनकी पत्नी ₹100000000 से अधिक की मालिक हैं। ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव के बैंक में ₹20000000 से अधिक की राशि जमा है।

ढिल्लों डीआईजी लेकिन अभी बने रहेंगे एसएसपी

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है: पटना के तीनों एसपी बदले, ढिल्लों बने रहेंगे। प्रभात खबर की सुर्खी है: इमरान पटना के ग्रामीण एसपी, वैभव व संदीप सिंह सिटी एसपी। जागरण की सबसे बड़ी खबर है आलोक राज बने निगरानी के डीजी, 14 जिलों में अब नए पुलिस कप्तान। भास्कर ने लिखा है: आलोक राज विजिलेंस पीजी बने, ढिल्लों प्रमोट लेकिन पटना के एसएसपी बने रहेंगे। इसके अलावा बिहार पुलिस सेवा से आईपीएस में प्रोन्नति पाने वाले 4 अधिकारियों को भी एसपी की कमान सौंपी गई है इसमें निगरानी ब्यूरो के एएसपी मोहम्मद कासिम को अरवल का एसपी बनाया गया है जबकि गया के एसपी मनीष कुमार को बक्सर का भार दिया गया है। हिंदुस्तान की एक और खबर है: तीन प्रमंडलों में नए आयुक्त, लखीसराय डीएम बने अमरेंद्र।

राहुल के पीएम प्रत्याशी पर क्या बोले नीतीश

प्रभात खबर की सबसे बड़ी खबर है: हम पीएम पद की रेस में नहीं, राहुल पर एतराज नहीं: नीतीश। हिन्दुस्तान की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: राहुल गांधी को पीएम प्रत्याशी बनाने पर आपत्ति नहीं: सीएम। जागरण की दूसरी खबर भी यही है: प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल के नाम पर बोले सीएम इसमें क्या बुराई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोगों को विपक्ष की ओर से राहुल गांधी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाये जाने पर कोई आपत्ति नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोग सब एक साथ पहले बैठेंगे और फिर सब तय किया जाएगा, इसमें क्या दिक्कत है?  नीतीश कुमार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ का बयान कि वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी विपक्ष के प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होंगे पर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। ज्ञान भवन में शनिवार को शिक्षा विभाग और विज्ञान प्रावैधिकी विभाग में नवचयनित 562 प्रधानाध्यापकों और सहायक प्राध्यापकों आदि को नियुक्तिपत्र वितरण कार्यक्रम के बाद नीतीश कुमार पत्रकारों से बात कर रहे थे। जागरण ने लिखा है: मुख्यमंत्री ने नवनियुक्त व्याख्याताओं को कहा ठीक से पढ़ाएं पैसा बढ़ाते रहेंगे।

रोनाल्डो को एक साल में 1730 करोड़

भास्कर के खेल पेज पर सबसे बड़ी खबर है रेकोर्ड डील। रोनाल्डो को हर साल मिलेंगे 1730 करोड़ रुपये। अखबार लिखता है: जब पेले 1970 के दशक में अपने करिअर के अंत में न्यूयॉर्क कॉस्मोस में शामिल हुए तो वे नॉर्थ अमेरिका में खेलने वाले सबसे बड़े सितारे बने थे।अब मिडल ईस्ट में क्रिस्टियानो रोनाल्डो भी यही भूमिका निभा सकते हैं। लगभग 20 साल से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में शामिल 37 साल के रोनाल्डो ने मिडल ईस्ट के क्लब अल नसर से 2025 तक के लिए करार किया है। मीडिया के अनुसार ये डील 200 मिलियन यूरो करीब 1730 करोड़ रुपये की है, जो फुटबॉल इतिहास की सबसे बड़ी डील है। फुटबॉल की सबसे बड़ी अन्य डील में एम्बापे की 1060 करोड़ की है। मेसी को 919 करोड़ मिलता है जबकि नेमार को 720 करोड़ रुपये मिलने की खबर है।

कुछ और सुर्खियां

  • सारण शराब कांड 10वीं फेल ‘डॉक्टर’ ही देता था फार्मूला तब रामबाबू बनाता था शराब
  • जहरीली शराब कांड का मास्टरमाइंड गिरफ्तार
  • 72 लोगों की मौत का मास्टरमाइंड रामबाबू महतो दिल्ली में गिरफ्तार
  • बुलेट प्रूफ कार में भारत जोड़ो यात्रा नहीं कर सकता: राहुल
  • चीन में बौद्ध धर्म को नुकसान पहुंचाने का किया जाता रहा षड्यंत्र: दलाई लामा
  • चीन के साथ संबंध सामान्य नहीं: जयशंकर
  • अमित शाह बोले- कोई 1 इंच जमीन नहीं ले सकता

 

अनछपी: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साल के अंतिम दिन असिस्टेंट प्रोफेसर को नियुक्ति पत्र देते हुए कई बातें कहीं जिसमें आर एस एस के बारे में कही गई बात पर भास्कर ने सुर्खी लगाई है: सीएम बोले- आजादी की लड़ाई में आरएसएस का योगदान नहीं बापू को भुलाया नहीं जा सकता। नीतीश कुमार ने एक और अहम बात कही। वह थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नए भारत का नया राष्ट्रपिता बताने के बारे में। नीतीश कुमार इससे पहले भी भारत को संघ मुक्त बनाने की बात कह चुके थे लेकिन बीच में भारतीय जनता पार्टी से दोबारा दोस्ती के बाद वह अपनी इस बात को भूल चुके थे। अब एक बार फिर उन्होंने आरएसएस के बारे में यह बयान दिया है और साथ ही महात्मा गांधी की भी चर्चा की है। ध्यान रहे कि इस समय देश में जिस संगठन का सबसे ज्यादा प्रभाव है वह आरएसएस ही है और जिस हस्ती को छोटा कर दिखाने की कोशिश की जा रही है वह महात्मा गांधी की हस्ती है। यही नहीं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी ने जब नरेंद्र मोदी को नए भारत का राष्ट्रपिता घोषित किया था तब भी यह सवाल उठा था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूछा है कि नए भारत के नए पिता क्या कर रहे हैं उन्हें बताना चाहिए। ऐसा लगता है कि नए भारत के लिए महात्मा गांधी के महत्व को बताने की जिम्मेदारी नीतीश कुमार जैसे लोगों पर अधिक है और इसके साथ ही आरएसएस के योगदान के बारे में सवाल भी पंचायत स्तर तक ले जाने की जरूरत है।

 

 

 741 total views

Share Now

Leave a Reply