छपी-अनछपी: दाखिले में बिहार की हालत सुधरी, भाजपा सांसद कुश्ती संघ अध्यक्ष पर यौन शोषण का आरोप

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। एनुअल स्टेटस ऑफ एडुकेशन रिपोर्ट (असर) में बिहार की स्थिति में कुछ सुधार आज की प्रमुख खबरों में शामिल है। उत्तर प्रदेश के गोंडा के रहने वाले और कैसरगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानों ने यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए हैं। बृजभूषण भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष हैं। इसकी खबर अखबारों में दब गई है। पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में अगले माह चुनाव होने की सूचना है। पूर्व मंत्री व नीतीश के आलोचक सुधाकर सिंह को आरजेडी से नोटिस मिलने की खबर भी प्रमुखता से ली गयी है।

हिन्दुस्तान की पहली खबर है: बिहार के 98% बच्चे स्कूलों में दाखिल हुए। इस खबर के अनुसार: बिहार में पहली से आठवीं तक के केवल 2 फीसदी बच्चे ही स्कूलों से बाहर रह गए हैं। 98 फीसदी बच्चों का दाखिला स्कूलों में हो चुका है। प्रथम एजुकेशन फाउंडेशन की वार्षिक शैक्षणिक रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। फाउंडेशन ने चार वर्षों के बाद सर्वे किया है। इसके पहले 2018 में इसकी रिपोर्ट आई थी। इसमें 6 से 14 वर्ष के बच्चों को लेकर व्यापक सर्वे किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार सरकारी स्कूलों में भी स्थिति पहले की तुलना में बेहतर हुई है। वर्ष 2018 में सरकारी विद्यालयों में 78.1 फीसदी बच्चों का नामांकन किया गया था, जो 2022 में बढ़कर 82.2 हो गया है।

सुधाकर का मामला

जागरण की सबसे बड़ी खबर है: सुधाकर को राजद का नोटिस ठीक, सभी को धर्म पालन का अधिकार: मुख्यमंत्री। अखबार के अनुसार समाधान यात्रा के क्रम में बक्सर पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाबा ब्रह्मेश्वर नाथ के दर्शन किए। राज्य के शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर की ओर से श्रीरामचरित मानस के बारे में दिए गए बयान पर कहा कि सभी को अपने धर्म का पालन करने का अधिकार है। सहकारिता मंत्री सुरेंद्र प्रसाद यादव के यह कहने पर कि चुनाव से पहले भाजपा सरकार युद्ध उन्माद खड़ा करती है, मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अभी से देखा नहीं है। राजद के विधायक और पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह को पार्टी से नोटिस दिए जाने पर उन्होंने कहा यह तो ठीक ही है।

इस खबर के ठीक ऊपर यह सुर्खी भी है: सीएम पर टिप्पणी मामले में राजद सख्त, सुधाकर को नोटिस। इसमें कहा गया है कि सरकार और मुख्यमंत्री की लगातार आलोचना कर रहे सुधाकर से राजद ने पूछा है कि क्यों नहीं उनके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए क्योंकि वह लगातार राष्ट्रीय अधिवेशन के उस प्रस्ताव का उल्लंघन कर रहे हैं इसमें कहा गया है कि महागठबंधन में शामिल दलों के शीर्ष नेतृत्व के बारे में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ही वक्तव्य देंगे।

स्मार्ट सिटी की तैयारी

भास्कर की सबसे बड़ी खबर है: दीघा से गायघाट तक शहर को मिलेगा कवच, हर हादसे की मॉनिटरिंग। भास्कर ने इसे अपनी एक्स्क्लूसिव खबर बताते हुए लिखा है कि इन्टीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर मार्च से पूरी तरह शुरू होगा। यदि कोई आपात स्थिति हो और लोगों को इसकी सूचना तुरंत देनी हो तो इसके लिए भी कोई प्रभावशाली सिस्टम नहीं है। लेकिन मार्च से शहर को एक सुरक्षा कवच प्राप्त हो जाएगा। दरअसल मार्च से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत बन रहा इन्टीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर पूरी तरह काम करने लगेगा। इसके लिए युद्ध स्तर पर तैयारी चल रही है। सेंटर दीघा गंगा पथ से लेकर मुख्य शहर डाकबंगला चौराहा से होते हुए गायघाट तक करीब 22 किलोमीटर के दायरे पर पूरी तरह निगरानी रखेगा। इसके तहत पूरे 22 किलोमीटर के क्षेत्र में 2588 हाइटेक कैमरा लगाए जा रहे हैं, जिसकी सहायता से चौबीसों घंटे निगरानी की जाएगी।

भाजपा सांसद पर गंभीर आरोप

जागरण की एक अहम खबर की सुर्खी है: विनेश फोगाट का आरोप, कुश्ती संघ अध्यक्ष ने कई महिला पहलवानों का किया यौन शोषण। हिन्दुस्तान की हेडिंग है: कुश्ती संघ अध्यक्ष पर खिलाड़ियों के यौन शोषण का आरोप। विश्व कुश्ती चैंपियनशिप सहित ओलंपिक खेलों में नाम कमाने वाले नामी पहलवानों ने बुधवार को जंतर-मंतर पर धरना देकर भारतीय कुश्ती महासंघ अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। विश्व चैंपियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट ने महासंघ अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह पर महिला पहलवानों के यौन शोषण का आरोप लगाया। साथ ही उन्हें हटाने के लिए प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से हस्तेक्षप की मांग की। धरने में पदक विजेता विनेश फोगाट,साक्षी मलिक, बजरंग पूनिया समेत 25 से ज्यादा पहलवान शामिल हुए। ओलंपियन विनेश ने दावा किया कि लखनऊ में राष्ट्रीय शिविर में कई कोच ने महिला पहलवानों का शोषण किया। उन्होंने आरोप लगाया कि शिविर में कुछ महिलाएं हैं, जो महासंघ अध्यक्ष के कहने पर पहलवानों से संपर्क करती हैं। वहीं, बजरंग पूनिया ने कहा कि जब तक कुश्ती संघ अध्यक्ष को हटाया नहीं जाता तब तक वे किसी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं लेंगे।

पूर्वोत्तर में चुनाव

मेघालय, त्रिपुरा और नगालैंड में अगले माह चुनाव होने की खबर सभी जगह है। निर्वाचन आयोग ने बुधवार को पूर्वोत्तर के इन तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान कर दिया। त्रिपुरा में 16 फरवरी को मतदान होगा, जबकि मेघालय और नगालैंड में 27 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। मतगणना दो मार्च को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में तीनों राज्यों के चुनाव तारीखों का ब्योरा दिया। तीनों राज्यों की विस की 60-60 सीटें हैं।

सिमी और इस्लामी सत्ता की बात पर केंद्र

हिन्दुस्तान के देश पेज पर यह खबर है: इस्लामी सत्ता की इजाज़त नहीं: केंद्र। जागरण ने भी इसे प्रमुखता से कवर किया है: भारत में इस्लामिक शासन स्थापित करना चाहता है सिमी: केंद्र सरकार। अखबारों के अनुसार केंद्र सरकार ने स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) पर लगे प्रतिबंध को सही ठहराते हुए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। केंद्र ने कहा कि सिमी देश में इस्लामी सत्ता की स्थापना चाहता है। इसे भारत के लोकतांत्रिक संप्रभु ढांचे के साथ सीधे संघर्ष के रूप में देखा जाना चाहिए। केंद्र ने कहा कि धर्मनिरपेक्ष समाज में इसकी अनुमति नहीं दी सकती। सिमी पर 27 सितंबर 2001 से प्रतिबंध लगा हुआ है।

कुछ अन्य सुर्खियां

  • बदलाव: दाखिल खारिज अब राजस्व अधिकारी भी कर सकेंगे
  • राजधानी एक्सप्रेस में छात्राओं से छेड़खानी, दो जवान धराए
  • सभी पिछड़े राज्यों को विशेष दर्जा दे केंद्र सरकार: सीएम
  • चीन को पीछे छोड़ भारत बना सर्वाधिक आबादी वाला देश
  • शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अध्यक्ष की गाड़ी पर डंडों व तलवारों से हमला
  • हथियारबंद लुटेरों से भिड़ गई 2 महिला सिपाही, बैंक लुटने से बचाया

अनछपी: केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के साथ जो बड़ा परिवर्तन हुआ है उसमें खेल संघों पर इसके सांसदों या उनसे जुड़े रिश्तेदारों का कब्जा बहुत ही चर्चित है। इसमें सबसे चर्चित नाम केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह का है जो बीसीसीआई के सर्वेसर्वा बने हुए हैं। इसके कई सांसदों पर गंभीर आरोप लगते रहे हैं लेकिन अखबारों ने इसे या तो तवज्जो नहीं दी या जानबूझकर किनारे लगा दिया है। भारतीय जनता पार्टी के विवादास्पद नेता और बेंगलुरु सांसद तेजस्वी सूर्य द्वारा एक एयरलाइंस के इमरजेंसी गेट को खोले जाने के मामले को अखबारों और मीडिया ने किस तरह दबाया है, यह धीरे-धीरे पता चल रहा है। अब भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह पर यौन शोषण का गंभीर आरोप लगा है लेकिन अखबारों और टेलीविजन मीडिया में इस पर कोई बहस देखने को नहीं मिल रही है। भाजपा के इस सांसद को दबंग माना जाता है और इसके खिलाफ आरोप लगाने के लिए काफी साहस की जरूरत रही होगी लेकिन जिन खिलाड़ियों ने आरोप लगाए हैं वह काफी प्रतिष्ठित हैं। भारतीय जनता पार्टी अपने आप को संस्कारी दल बताती है लेकिन उसके सांसदों की ऐसी घोर आपत्तिजनक हरकतें भी सामने आती रहती हैं जिन्हें मीडिया चर्चा का विषय नहीं बनातीं। महिला खिलाड़ियों के इन गंभीर आरोपों की जांच पूरी होने तक सांसद पर ऐसी कार्रवाई जरूर होनी चाहिए ताकि वह किसी जांच को प्रभावित न कर सके।

 

 743 total views

Share Now

Leave a Reply