छपी-अनछपी: हर राज्य में होगा एनआईए का दफ्तर, बिहार में आरएसएस की शाखाएं बढ़ीं

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। राज्यों के गृह मंत्रियों के साथ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के कार्यक्रम और बिहार में छठ की तैयारियों की खबर आज के अखबारों की अहम सुर्खियां हैं। समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान को हेट स्पीच में तीन साल की सज़ा की खबर भी पहले पेज पर है। बिहार में आरएसएस की शाखाओं की संख्या बढ़ने की भी छोटी लेकिन महत्वपूर्ण ख़बर है। 

प्रभात खबर की सबसे बड़ी सुर्खी है: सभी राज्यों में होगा एनआईए का दफ्तर। यह बयान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का है जिन्होंने राज्यों के गृह मंत्रियों के चिंतन शिविर में यह बात कही। सूरजकुंड, हरियाणा में आयोजित इस शिविर में अक्सर गैर भाजपाई मुख्यमंत्री शामिल नहीं हुए। जागरण की लीड भी यही है: आंतरिक सुरक्षा पर एकजुट होकर रणनीति बनाएं राज्य व केंद्र: शाह। इस खबर में अमित शाह का यह बयान भी छपा है कि कुछ एनजीओ धर्मांतरण, राष्ट्र विरोधी गतिविधियों और देश के आर्थिक विकास को ठप करने के लिए धन के दुरुपयोग में लगे थे।

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है: सुविधा: गांव में छठ बाद लगेगी सोलर स्ट्रीट लाइटें। इसके लिए एजेंसियों को प्रखंड आवंटित कर दिए गए हैं और इकरारनामा की प्रक्रिया तेज करने का निर्देश दिया गया है। 

हिन्दुस्तान की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: आस्था: नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व आज से। छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान को नहाय-खाय से शुरू होगा। शनिवार को खरना पूजन के साथ 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो जाएगा। रविवार शाम अस्ताचलगामी सूर्य और सोमवार सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। प्रभात खबर ने छठ पर विशेष पहला पेज दिया है। छठ के मौके पर पटना में 600 मजिस्ट्रेट और 3500 जवान तैनात रहेंगे। छठ को लेकर कद्दू ₹100 तो अगस्त का फूल ₹400 किलो तक बिकने की खबर छपी है।

भास्कर की सबसे बड़ी खबर है: एडवाइजरी के बाद भी छात्र यूक्रेन छोड़ने को राजी नहीं, बोले- डिग्री लेकर ही आएंगे। हालांकि इस खबर के साथ यह जानकारी भी दी गई है कि परमाणु हमले की रूस की धमकी के बाद छात्र यूक्रेन से लौटने लगे हैं। बहुत से भारतीय छात्र पड़ोस के हंगरी और स्लोवाकिया में जाकर रह रहे हैं और वहीं से ऑनलाइन क्लास कर रहे हैं।

हिन्दुस्तान में पहले पेज पर छोटी सी खबर है: रूस की धमकी, यूक्रेन को मदद दी तो उपग्रह गिराएंगे। रूसी समाचार एजेंसी तास ने विदेश मंत्रालय के हथियार नियंत्रण विभाग के उपनिदेशक कोन्स्टेंटिन वोरोत्सोव के हवाले से यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, यदि ये देश युद्ध में सीधे तौर पर कूदते हैं तो हम अंतरिक्ष में हमले से पीछे नहीं हटेंगे। हालांकि, वोरोत्सोव ने किसी विशिष्ट उपग्रह कंपनियों की जानकारी नहीं दी। युद्ध की शुरुआत में पश्चिमी देशों ने रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाए थे।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को भड़काऊ भाषण मामले में सज़ा की खबर सभी अखबारों में है। उन्हें भड़काऊ भाषण मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट ने दोषी करार दिया है। उन्हें तीन मामलों में तीन-तीन वर्ष की सजा सुनाई गई। ये सजाएं एक साथ चलेंगी। तीन मामलों में दो-दो हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इससे उनकी विधायकी खतरे में आ सकती है। आजम ने कहा है कि वे फैसले को चुनौती देंगे। उनके खिलाफ भड़काऊ भाषण का मामला वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान का है।

महिला क्रिकेटरों को पुरुषों के बराबर मैच फीस देने की खबर को अक्सर अखबारों ने प्रमुखता दी है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। भारतीय बोर्ड न्यूजीलैंड क्रिकेट के साथ ऐसा करने वाला दूसरा बोर्ड है। पुरुषों को ग्रेड ए प्लस के लिए सात करोड़, ग्रेड ए के लिए पांच, ग्रेड बी के लिए तीन, ग्रेड सी के लिए एक करोड़ मिलते हैं। महिलाओं को ए ग्रेड में 50 लाख, ग्रेड बी में 30 और ग्रेड सी के लिए 10 लाख रुपये मिलते हैं।

भास्कर ने रजिस्ट्री के लिए मुफ्त में चलाई जा रही गाड़ियों के बारे में एक रोचक खबर दी है: 131 रजिस्ट्री शटल के रोज 142 फेरे पर सवारी नहीं; गवाहों को गोपनीय रखना चाहते हैं लोग। पटना के 7 रजिस्ट्री ऑफिस में 11 शटल चल रहे हैं जिनपर हर महीने 30 हज़ार रुपये का खर्च है लेकिन सवारी नहीं मिल रही है। 7 सितंबर से पटना और फुलवारी शरीफ में इस शटल बस में एक भी यात्री ने सफर नहीं किया। 

ईसाई समुदाय के सबसे बड़े धर्मगुरु पोप फ्रांसिस ने अफसोस और चिंता जताई है कि धार्मिक कार्यों से जुड़े लोग भी अश्लीलता और पोर्नोग्राफी के चंगुल से बचे नहीं हैं। उन्होंने धार्मिक क्षेत्र से जुड़े लोगों से इससे बचने की चेतावनी देते हुए इसे ईसाईयत के खिलाफ बताया है। यह खबर कई अखबारों में छपी है।  रोम में पढ़ाई कर रहे पादरियों के बीच एक कार्यक्रम में वेटिकन सिटी कैथोलिक चर्च के शीर्ष धर्मगुरु ने धार्मिक पदों पर बैठे लोगों के बारे में ऐसी स्वीकारोक्ति से सबको चौंका दिया। पोप ने संबोधन के दौरान माना, पोर्न का प्रभाव इतना बढ़ गया है कि कई पादरी और नन भी पोर्न देखते हैं। उन्होंने इस पर अफसोस जताते हुए कहा कि पोर्नोग्राफी देखने से इंसान के मन में शैतानियत बसने लगती है।

हिन्दुस्तान के अंदर के पेज पर एक महत्त्वपूर्ण खबर है: सूबे में आरएसएस की शाखाएं बढ़कर 1476 हुई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के उत्तर-पूर्व क्षेत्र के कार्यवाल डॉ. मोहन सिंह ने यह जानकारी दी है। संघ ने कहा है कि वर्ष 2021 में 1033 स्थानों पर 1405 शाखाएं लगती थीं। अब 1075 स्थानों पर 1476 शाखाएं लगती हैं।  

अनछपी: देश की राजनीति में इस समय आरएसएस से जुड़े लोगों का प्रभाव कितना अधिक है इसका पता सबको है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के अलावा भाजपा के अन्य मंत्रियों के आरएसएस से जुड़ाव की बात छिपी नहीं है। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ सरकार बनाने में भाजपा के शामिल रहने के दौरान आरएसएस की गतिविधियों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। आरएसएस प्रमुख बिहार का दौरा अक्सर करते रहते हैं। आरएसएस कितनी खामोशी से अपना काम करता है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। उसकी खामोशी की वजह उससे जुड़े दूसरे संगठन हैं जो अक्सर हिंसात्मक गतिविधियों में लिप्त बताए जाते हैं। पटना में राजेंद्र नगर स्थित आरएसएस का कार्यालय तो बड़ा है लेकिन वहां बहुत चहल-पहल नहीं देखी जाती है लेकिन यह बात भी ध्यान देनी है कि है कि उसकी गतिविधियां फील्ड में जारी रहती हैं। इसका असर शासन-प्रशासन से लेकर आम आदमी के जीवन में भी है। इसके विपरीत दूसरे समुदायों के संगठनों का प्रचार तो बहुत होता है लेकिन उनकी गतिविधियां कम ही नजर आती हैं। 

 

 674 total views

Share Now

Leave a Reply