छपी-अनछपी: छठ पर ड्यूटी को लेकर मचा रहा घमसान, केजरीवाल को नोट पर चाहिए लक्ष्मी-गणेश

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। छठ के लिए बिहार की सरकारी तैयारी पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद नजर रख रहे हैं। इस बीच छठ के दिन रजिस्ट्री ऑफिस खोलने के फरमान से काफी विवाद पैदा हो गया और आखिरकार सरकार को यह फैसला वापस लेना पड़ा। इससे सम्बंधित खबरें पहले पेज पर हैं। उधर गया में मालगाड़ी के 53 डिब्बे पटरी से उतर गए जिसकी खबर सभी अखबारों में प्रमुखता से छपी है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की इस मांग पर काफी विवाद पैदा हो गया है कि भारतीय रुपए पर लक्ष्मी-गणेश जी की तस्वीर छपे। इस खबर को भी अखबारों ने प्रमुख स्थान दिया है।

जागरण की सबसे बड़ी खबर है: छठ व्रतियों को अर्घ्य देने में न हो परेशानी। मुख्यमंत्री ने सड़क मार्ग से पटना के विभिन्न छठ घाटों का निरीक्षण के बाद यह निर्देश दिया। हिन्दुस्तान में इससे संबंधित खबर है: छठ घाटों के साथ पहुंच पथ दुरुस्त किए जाएंगे। प्रभात खबर ने लिखा है: छठ घाटों पर व्रतियों के लिए होंगे खास इंतजाम।

जागरण में छोटी सी खबर है आदेश रद्द, छठ पर बंद रहेंगे निबंधन कार्यालय। इसमें बताया गया है कि मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग ने छठ पर अवकाश रद्द किए जाने के आदेश को वापस ले लिया है। इसके साथ ही गुरुवार को चित्रगुप्त पूजा व भैया दूज के लिए घोषित अवकाश पर भी छुट्टी रहेगी। इस बारे में भास्कर की खबर यह है: छठ पर ऑफिस खोलने के आदेश से नाराज 23 रजिस्ट्रार विभागीय वीसी में नहीं हुए शामिल, पहले सबका वेतन रुका, बाद में छुट्टी का फरमान वापस। 

प्रभात खबर की सबसे बड़ी खबर है: निबंधन कार्यालयों में तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर और एमटीएस हटेंगे। भ्रष्टाचार की शिकायत के बाद निबंधन विभाग ने यह फैसला लिया है। अब 1 नवंबर से इनकी जगह नए डाटा एंट्री ऑपरेटर और मल्टी टास्किंग स्टाफ को तैनात किया जाएगा। 

हिन्दुस्तान की पहली खबर है: गया में मालगाड़ी के 53 डिब्बे बेपटरी। जागरण की सुर्खी है: गुरपा में ढलान पर मालगाड़ी का ब्रेक फेल, 150 किलोमीटर हुई रफ्तार, 53 बोगियां बेपटरी। गया धनबाद रेल खंड पर कोडरमा और मानपुर के बीच गुरपा रेलवे स्टेशन के पास बुधवार की सुबह 6:24 पर कोयला लदी मालगाड़ी की 53 बोगियां बेपटरी हो गयं7। इसके कारण 45 ट्रेनों को बदले हुए रूट पर चलाया गया जबकि 5 ट्रेनों को रास्ते में रोककर रद्द कर दिया गया। 

जागरण की दूसरी सबसे महत्वपूर्ण खबर की सुर्खी है: देश को नहीं बनने देंगे विपक्ष मुक्त। यह बयान पद संभालने के बाद नए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का है। प्रभात खबर में इससे संबंधित बयान है: कांग्रेस में 50% पदों पर युवाओं को मिलेगी तरजीह: खरगे। 

प्रभात खबर ने पहले पेज पर यह महत्वपूर्ण खबर दी है: 67वीं बीपीएससी पीटी: 10 सवालों के जवाब पर छात्रों ने की आपत्ति। 

हिन्दुस्तान ने पहले पेज पर यह सूचना दी है: पटना के स्टेशनों पर कोरोना जांच आज से। महाराष्ट्र, पंजाब और दक्षिण भारत से आने वाले लोगों की कोविड-19 की जाएगी। 

जागरण ने पहले पेज पर यह खबर प्रमुखता से छापी है: दिल्ली के सीएम केजरीवाल की मांग, भारतीय करेंसी पर लक्ष्मी-गणेश जी की तस्वीर छपी। अखबार ने लिखा है गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए जोर आजमाइश कर रही आम आदमी पार्टी ने बुधवार को एक अलग तरह की मांग उठा दी। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री मोदी से अपील की कि भारतीय करेंसी पर एक तरफ गांधी जी की तस्वीर पहले की तरह बनी रहे और दूसरी तरफ लक्ष्मी गणेश जी की तस्वीर लगाई जाए। श्री केजरीवाल ने कहा कि जब मुस्लिम देश इंडोनेशिया ऐसा कर सकता है तो हम क्यों नहीं कर सकते हैं। इधर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि केजरीवाल  राजनीतिक ड्रामा कर रहे हैं। हिन्दुस्तान में इस बारे में यह सुर्खी है: नोट पर लक्ष्मी गणेश की फोटो को लेकर सियासत। केजरीवाल ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था नाजुक दौर से गुजर रही है। डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर हो रहा है। नोट पर उनकी तस्वीर होगी तो देश को तरक्की का आशीर्वाद मिलेगा। 

हिंदुस्तान में महत्वपूर्ण सूचना दी है कि भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना 1 अप्रैल 1935 को हुई थी। जनवरी 1938 में आरबीआई ने पहली बार ₹5 का नोट जारी किया जिस पर जॉर्ज VI की तस्वीर थी। आजादी के बाद देश में सबसे पहले ₹1 का नोट छपा गया था। इस नोट को भारतीय मुद्रा के रूप में 12 अगस्त 1949 को जारी किया गया। तब इस पर अशोक स्तंभ का चित्र था। आरबीआई ने नोट पर पहली बार महात्मा गांधी की तस्वीर उनके जन्म शताब्दी वर्ष 1969 में छपी थी।

अनछपी: भारत की राजनीति में हिंदुत्व का वर्चस्व कितना बढ़ रहा है इसका ताजा उदाहरण दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बयान है। केजरीवाल को लगता है कि वे भाजपा से अधिक उग्र हिंदुत्व के सहारे गुजरात में चुनाव जीत सकते हैं। आम आदमी पार्टी मुसलमानों के खिलाफ सीधे कोई कदम उठाने या बयान देने से बचती है लेकिन उनके लिए न्याय की आवाज लगाने को भी तैयार नहीं रहती है। इसके बदले वह भाजपा से हिंदुत्व के हर मामले में आगे रहते देखना चाहती है। भाजपा को भले ही यह राजनीतिक ड्रामा लगे लेकिन आम आदमी पार्टी यह मान कर चल रही है कि वह ऐसे बयानों से मतदाताओं को आसानी से अपने पक्ष में कर लेगी। हो सकता है कि इससे केजरीवाल को राजनीतिक लाभ मिल जाए लेकिन देश की राजनीति का इससे बुरा दौर और क्या होगा कि आईआईटी से पढ़ा हुआ एक राजनेता लोगों को इतनी आसानी से बुद्धू बनाने में कामयाब हो जाता है। ऐसे में कांग्रेस के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी हो जाती है कि वह क्या स्टैंड ले। कांग्रेस नेता राहुल गांधी सेकुलर छवि बनाने के लिए जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं लेकिन आज की भारतीय राजनीति में यह काम करना घाटे का सौदा माना जाता है। यह देखना दिलचस्प होगा कि अंततः भारतीय जनता पार्टी की केंद्र की सरकार इस पर क्या रुख अख्तियार करती है प्रोग्राम

 

 495 total views

Share Now

Leave a Reply