कोरोना की दूसरी लहरः बिहार में 70 प्रतिशत मामले दूसरे राज्यों से आये लोगों के

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
बिहार में देश के दूसरे राज्यों की तरह कोराना के संक्रमण की दूसरी लहर जोर पकड़ रही है। राज्य में पिछले तीन दिनों की रिपोर्ट में 664 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से लगभग 70 प्रतिशत वैसे कोरोना पाॅजिटिव हैं जो हाल में ही दूसरे राज्यों से बिहार आये हैं।
हाल के दिनों में होली के लिए महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली-नोएडा, पंजाब और मध्यप्रदेश से काफी संख्या में लोग बिहार लौटे हैं। उन राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर का कहर चिंताजनक स्तर पर है।
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि यह हालत तब है जबकि पिछले दो दिनों से होली की बंदी के कारण जांच लगभग ठप है। जांच दोबारा शुरू होने और बढ़ने पर कोरोना संक्रमण की दर का सही अंदाजा लगेगा जिसके बढ़ने की आशंका जतायी जा रही है।
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सविच प्रत्यय अमृत का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए सजग रहने की जरूरत है। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का प्रयोग जरूरी है। उन्होंने कहा है कि जिस व्यक्ति को भी कोरोना का लक्षण लगे उसे तुरंत जांच करवानी चाहिए। उन्होंने सभी जिले के सिविल सर्जनों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में कोरोना जांच बढ़ाने का निर्देश दिया है।
श्री अमृत ने कोरोना जांच के साथ-साथ कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण को अधिकतम करने पर भी जोर दिया है।
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार लगभग एक लाख 66 हाजार सैंपल की जांच की गयी है जिसमें पाॅजिटिविटी रेट 0.4 प्रतिशत थी। इधर पटना में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या एक सौ से अधिक हो गयी है। एम्स पटना के नोडल अफसर डा. संजीव कुमार का कहना है कि इस बार कोराना से संक्रमित होने वाले मध्यम और उच्च आय वर्ग के लोग अधिक हैं।

 378 total views

Share Now

Leave a Reply