किसकी लापरवाही से बंद हो गये बिहार के 91 अल्पसंख्यक प्राथमिक स्कूल

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना।
बिहार के 108 अल्पसंख्यक प्राथमिक स्कूलों में 91 पिछले कुछ सालों में बंद हो गये। इन बंद हुए स्कूलों में अधिकतर स्कूल उर्दू भाषा के थे लेकिन इसमें बांग्ला स्कूल भी शामिल थे और आर्य समाज और सिख समुदाय द्वारा संचालित स्कूल भी थे।
बक्सर के आरटीआई कार्यकर्ता शिवप्रकाश राॅय ने इस बारे में बिहार लोक संवाद को बताया कि उन्होंने शिक्षा विभाग से संबंधित जानकारी मांगी थी। उन्होंने बताया कि पूरे राज्य में अब 17 अल्पसंख्यक प्राथमिक विद्यालय ही बचे हैं जिन पर भी बंद होने का खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने बताया कि इन स्कूलों में बहाली के लिए एक समिति होती है जिसका गठन जिला शिक्षा अधिकारी करते हैं। चूंकि लंबे समय से उन स्कूलों की समितियां भंग थीं, इसलिए शिक्षकों की बहाली नहीं हो सकीं। इस कारण ऐसे सभी स्कूल बंद हो गये।
इस बारे में वरिष्ठ पत्रकार अनवारुल होदा ने बताया कि शिक्षा विभाग की आनाकानी और लापरवाही के कारण अल्पसंख्यक प्राथमिक स्कूल बंद हुए हैं। उन्होंने कहा कि इससे अल्पंख्यका छात्र-छात्राओं को अपनी भाषा में शिक्षा का अवसर नहीं मिलेगा। साथ ही उन्हें अपने घरों से दूर के स्कूल में नाम लिखाने को मजबूर होना पड़ा है। शिक्षा विभाग के एक रिटायर अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि ऐसे स्कूलों को दोबारा शुरू करवाने के लिए बहुत ही गंभीर प्रयास करने होंगे क्योंकि विभाग ने कई स्तर पर ऐसे आदेश दिये हैं कि उन स्कूलों में शिक्षकों की दोबारा बहाली काफी मुश्किल हो गयी है।
1948 में स्थापित मध्य विद्यालय अकौना, पुनपुन में एक भी शिक्षक नहीं है। 1976 में इसका सरकारीकरण हुआ। 1985 के बाद से यह स्कूल ं एक शिक्षक गौरीशंकर दूबे के सहारे 2011 तक चला। 2011 में उनके रिटायर होने के बाद स्कूल बंद हो गया। इस स्कूल के सचिव संजीव कुमार ने बताया कि स्कूल बंद होने से धीरे-धीरे सारे बच्चे ड्रापआउट हो गये।
श्री संजीव ने बताया कि पटना में ऐसे 14 स्कूल बंद हैं। इनमें दयानंद बालक मध्य विद्यालय खुसरूपुर, दयानंद कन्या मध्य विद्यालय खुसरूपुर, श्रीगुरु गोविंद सिंह बालक मध्य विद्यालय पटना सिटी, श्रीगुरु गोविंद सिंह कन्या मध्य विद्यालय पटना सिटी, न्यू मॉडल लेखपाल मध्य विद्यालय गुलजारबाग, मैकेंज मध्य विद्यालय गुलजारबाग अयूब उर्दू मध्य विद्यालय लालबाग गोलघर, अधोर प्रकाश शिशु सदन मध्य विद्यालय खजांची रोड, विवेकानंद मध्य विद्यालय मीठापुर, मॉडलर संत जेवियर्स स्कूल जक्कनपुर, बालिका मध्य विद्यालय बोरिंग रोड, मिल्लत उर्दू मध्य विद्यालय फुलवारीशरीफ, इस्लामियां उर्दू मवि फुलवारीशरीफ और मध्य विद्यालय अकौना पुनपुन शामिल हैं।
जो 17 अल्पसंख्यक स्कूल किसी तरह चल रहे हैं उनके नाम इस प्रकार हैं-
पटनाः आर्य कन्या प्राथमिक विद्यालय नया टोला, दयानंद कन्या प्राथमिक विद्यालय मीठापुर, लक्ष्मी कन्या प्राथमिक विद्यालय माल सलामी

मुजफ्फरपुरः प्राथमिक विद्यालय जमुउल उलूम नगर क्षेत्र, प्राथमिक मकतब मदरसा कमराय इमानिया

भागलपुरः डायो सेशन प्राथमिक विद्यालय मोहदीनगर, डायो सेशन प्राथमिक विद्यालय खलीफाबाग, सीएमएस प्राथमिक विद्यालय आदमपुर, सीएमएस प्राथमिक विद्यालय चंपानगर, डायो सेशन प्राथमिक विद्यालय कहलगांव।

मुंगेरः अंजुमन उर्दू प्राथमिक विद्यालय दिलावरपुर मुंगेर, बंगला प्राथमिक विद्यालय पीपरपांती मुंगेर, बंगला प्राथमिक विद्यालय केशोपुर जमालपुर, गोरंग पाठशाला बालक और बालिका प्राथमिक विद्यालय जमालपुर, डायो सेशन प्रावि जमालपुर

पूर्णियाः महिला समिति प्राथमिक विद्यालय दुर्गा वडियाहा, दधिचि बालिका प्राथमिक विद्यालय अहीगामा छपरा।

 1,675 total views

Share Now

Leave a Reply