साढ़े आठ लाख को फिर देनी होगी मैट्रिक सामाजिक विज्ञान की परीक्षा, बैंककर्मी की करतूत, सजा परीक्षार्थियों को

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
एक बैंककर्मी की करतूत का खामियाजा भुगतेंगे बिहार बोर्ड से मैट्रिक की परीक्षा दे रहे साढ़े आठ लाख (8, 46, 504) परीक्षार्थी। इन्हें सामाजिक विज्ञान की परीक्षा दोबारा देनी होगी क्योंकि शुक्रवार को पहली पाली में हुई इस परीक्षा का प्रश्न पत्र जमुई जिले के झाझा स्थित स्टेट बैंक आॅफ इंडिया की शाखा से लीक कर दिया गया था। वहां के एक संविदा कर्मी ने अपने किसी परिचित को व्हाट्सऐप पर प्रश्नपत्र भेजकर लीक कर दिया था। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रश्नपत्र लीक करने के मामले की जांच और इसकी तह जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने विधानसभा से ही बिहार स्कूल एग्जामिनेश बोर्ड के अध्यक्ष आनन्द किशोर को फोन कर इस मामले की जानकारी ली। इस मामले को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा में उठाया था।
इस बारे में बोर्ड के अध्यक्ष आनन्द किशोर ने बताया कि सामाजिक विज्ञान की प्रथम पाली में क्रमांक 1110470581 का प्रश्नपत्र लीक हुआ है। शुरुआती जांच में एसबीआई झाझा शाखा के संविदा कर्मी विकास कुमार की इसमें मिलीभगत का पता चला है। उसने अपने किसी जानने वाले को यह प्रश्नपत्र लीक किया है। उसके साथ इसी बैंक शाखा के तीन अन्य कर्मियों शशिकांत चैधरी, अजीत कुमार और अमित कुमार सिंह की लापरवाही सामने आयी है।
इस मामले में एफआईआर दर्ज की गयी है। बोर्ड अध्यक्ष आनन्द किशोर ने कहा कि जिस भी सरकारी या गैर सरकारी कर्मचारी की मिलीभगत पायी जाएगी, उन पर कार्रवाई होगी और जरूरत के हिसाब से गिरफ्तारी भी हागी।

 370 total views

Share Now

Leave a Reply