मई और जून में गरीबों को फिर मिलेगा पांच-पांच किलो अनाज मुफ्त, बिहार के 1.5 करोड़ होंगे लाभान्वित

सैयद जावेद हसन, बिहार लोक संवाद डाॅट नेट पटना

देश के तकरीबन 80 करोड़ लोगों को दो माह तक मुफ्त प्रति माह प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज मिलेगा। केन्द्र सरकार ने कोविड संकट के कारण आर्थिक कठिनाइयों का सामना कर रहे गरीब लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है।

इस निर्णय से बिहार के लगभग 1.5 करोड़ राशन कार्डधारियों के लाभान्वित होने की संभावना है।

एक समाचार एजेंसी के अनुसार, खाद्य और उपभोक्ता मामलों के सचिव सुधांशु पांडे ने शनिवार को संवाददाताओं से बातचीत करते हुएं कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आने वाले लोगों को मई और जून में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की तर्ज पर मुफ्त प्रति माह प्रति व्यक्ति पांच-पांच किलो अनाज दिया जाएगा।

इस योजना के तहत अंतोदय अन्न योजना और प्रायरिटी हाउस होल्डर्स को पांच किलो चावल या गेहूं दिया जाएगा। यह अनाज मासिक कोटा के अतिरिक्त दिया जाएगा।

सुधांशु पांडे ने बताया कि पिछले साल भी कोरोना संकट के दौरान अप्रैल से नवंबर के दौरान गरीबों को मुफ्त अनाज दिया गया था। पिछले साल दाल और चना भी दिया गया था लेकिन इस बार चावल या गेहूं ही दिया जाएगा।

बिहार का हाल
ज्ञातव्य है कि केन्द्र सरकार ने पिछले साल भी लाॅकडाउन के दौरान पीडीएस के माध्यम से लोगों को मुफ्त अनाज देने की घोषणा की थी। इसके तहत बिहार सरकार ने 1.47 करोड़ राशन कार्डधारियों को पांच किलो चावल और एक किलो दोल मुफ्त उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। लेकिन पिछले साल जुलाई में द कारवां की प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक राशन कोर्डधारियों के बीच सही तरीके से अनाज वितरण नहीं किया गया था। कई लोगों को राशन इसलिए नहीं दिया गया था कि उनका आधार राशन कार्ड से लिंक्ड नहीं था।

सरकार को इस बार राशन वितरण में पारदर्शिता लानी होगी तभी सभी को मु¦फ्त अनाज का लाभ मिल सकेगा।

Photo credit: The Caravan

 

 681 total views

Share Now

Leave a Reply