आईआईटी और देश की साख पर असर पड़ेगा, जेईई मेन में गड़बड़ी पर बोले अभयानन्द

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
बिहार के पूर्व डीजीपी और आईआईटी के लिए तैयारी कराने वाले कई निशुल्क कोचिंग सेन्टर्स के मेन्टॅर अभयानन्द ने बिहार लोक संवाद डाॅट नेट से खास बातचीत में कहा है कि जेईई मेंस की परीक्षा में गड़बड़ी से देश की साख पर बट्टा लगेगा। उन्होंने कहा कि फिर भी ईमानदार बच्चों को हौसला बनाये रखना चाहिए।
अभयानन्द से बातचीत के प्रमुख अंशः
सोशल मीडिया पर मैंने एक खबर पड़ी थी कि एक संस्था ने कुछ खास उम्मीदवारों के लिए रिमोट से जवाब देने की ’व्यवस्था’ की थी। लगता है इसमें पैसे का खेल हुआ है। सीबीआई को इसकी सूचना मिली तो उसने सर्च किया हैै। इसकी व्यपाकता का अंदाजा नहीं है लेकि समस्या तो गंभीर है। एक या दो राउंड के बाद 40 पर्सेंन्टाइल से सीधे ़99 पर्सेन्टाइल आना संभव नहीं है।
कुछ चीजों की साख अगर विेदेशों में है तो उसमें एक आईआईटी है और अगर इसकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हों तो देश की साख पर बट्टा लग लगेगा। यह एक ऐसा एग्जाम था जिसमें कम से कम यह तय था कि पैसे के बल पर रिजल्ट नहीं खरीदा जा सकता। अगर पंद्रह लाख में आईआईटी में एडमिशन मिल जाए तो लोग लगाएंगे पैसा। जो मारे जाएंगे वह हैं गरीब बच्चे। ऐसे में तो उनकी लगन खत्म हो जाएगी।
जेईई के ईमानदार उम्मीदवारों को हौसला रखना चाहिए। सीबीआई को जल्दी कार्रवाई पूरी करनी चाहिए और एनटीए कोई बेहतर फैसला करे। पहले के एग्जाम को कैंसिल करना और फिर से इम्तिहान लेना सही कदम नहीं होगा, वैसे यह फैसला तो एनटीए को लेना है।
डिजिटल प्रोसेस में बहुत आरोप लगते हैं। मेरी सलाह होगी कि इसे पेन-पेपर वाले तरीके को अपनाया जाए।
जिन बच्चों को मैं पढ़ाता हूं वे परेशान रहते हैं तो मैं उन्हें समझाता हूं कि घबराएं नहीं। अपनी उम्मीद और अपना हौसला बनाए रखें।

 

 402 total views

Share Now

Leave a Reply