छपी-अनछपी: बिहार के अफसरों की टीम तमिलनाडु जाएगी, राहुल ने कहा- जासूसी हुई

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। बिहारी मजदूरों के साथ मारपीट की शिकायतों के बीच बिहार सरकार अपने अफसरों की टीम तमिलनाडु भेज रही है। इसकी खबर सभी अखबारों में पहले पेज पर है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का कैम्ब्रिज में दिया गया भाषण भी अखबारों ने प्रमुखता से कवर किया है। कर्नाटक में भाजपा विधायक के बेटे के घर से करोड़ों रुपये मिलने की खबर भी प्रमुखता से छपी है।

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है: आला अफसरों की टीम जांच को आज तमिलनाडु जाएगी। जागरण की खबर है: मुख्यमंत्री की बैठक में हुआ तय, तमिलनाडु प्रकरण की जांच के लिए सरकार भेजेगी विशेष टीम। अखबारों के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य के आला अफसरों की 4 सदस्य टीम शनिवार को तमिलनाडु जाएगी और वहां पर बिहार समेत दूसरे हिंदी भाषी राज्यों के मजदूरों पर हमले की मिली सूचना की सच्चाई जानेगी। इसको लेकर मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ शुक्रवार को फिर उच्च स्तरीय से बैठक की और कई निर्देश दिए। यह टीम प्रभावित इलाके में रह रहे बिहार के लोगों और स्थानीय अधिकारियों से भी बात करेगी।

अब भी लौट रहे मजदूर

भास्कर की पहली खबर है: तमिलनाडु से भागे 50 लोग घर पहुंचे, फूटा दर्द: हम भागे नहीं, भगाए गए हैं। इसके साथ ही यह हेडिंग भी है: सदन में जोरदार हंगामा, सीएम बोले- जांच को आज तमिलनाडु जाएगी टीम। जमुई से लिखी खबर में बताया गया है कि तमिलनाडु से आने वाली ट्रेन एर्नाकुलम एक्सप्रेस से गुरुवार की शाम 50 से अधिक मजदूर झाझा स्टेशन पर उतरे। सभी ने कहा: हम पर हमला हुआ है और लगातार हो रहा है। हमें वहाँ से भगाया जा रहा है। दूसरी तरफ मारे गए धधौर गांव के पवन के परिजन नाराज हैं। मृतक के भाई नीरज कहते हैं कि घटना के बाद सिर्फ बयानबाजी हो रही है, लेकिन पीड़ित परिवार से हकीकत जानने अब तक कोई प्रति जनप्रतिनिधि या अफसर नहीं आया है।

बिहार की हकमारी

जागरण की सबसे बड़ी खबर है: बिहार सहित अन्य राज्यों की केंद्र सरकार कर रही हक़मारी: विजय। हिन्दुस्तान ने लिखा है: राज्यों को वित्तीय दबाव में रखना चाहता है केंद्र: चौधरी। बिहार के वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्रीय करों से प्राप्त धन के वितरण में बिहार सहित सभी राज्यों की हक़मारी हो रही है। उन्होंने भाजपा सदस्यों को समझाया कि केंद्रीय करो में राज्य का हिस्सा एहसान नहीं है। चौधरी शुक्रवार को विधानसभा में वित्तीय वर्ष 23-24 के बजट पर हुए वाद विवाद का उत्तर दे रहे थे। उन्होंने कहा केंद्र हमें खैरात नहीं देता है। चौधरी ने कहा कि 2005 में केंद्रीय करों में राज्य का हिस्सा 32% था। बिहार को उसका 14.5% मिलता था प्रोग्राम 2015 के बाद बिहार का हिस्सा घटकर 9.6% रह गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने सभी राज्यों को केंद्रीय करों का 42% हिस्सा नहीं दिया। मुश्किल यह है कि केंद्र समय पर धन भी नहीं देता है।

भारत में लोकतंत्र और जासूसी

हिंदुस्तान की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: राहुल ने कहा-जासूसी हुई, मंत्री बोले- बदनाम न करें। जागरण की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: भारत में लोकतंत्र खतरे में: राहुल गांधी। लंदन की खबर में बताया गया है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के कैंब्रिज विश्वविद्यालय में दिए ताजा बयान पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। राहुल ने गुरुवार को कैंब्रिज जज बिजनेस स्कूल में विजिटिंग फेलो के तौर पर दिए गए व्याख्यान के दौरान भारत में उनकी जासूसी के लिए पेगासस सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल का दावा किया। इस पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राहुल विदेश धरती से भारत को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि भारत में लोकतंत्र पर हमला हो रहा है। मोदी सरकार भारत के लोकतांत्रिक ढांचे को नष्ट कर रही है।

भाजपा विधायक का बेटा घूसखोरी में पकड़ाया

हिन्दुस्तान ने यह खबर प्रमुखता से दी है: कर्नाटक भाजपा विधायक के बेटे के घर 6 करोड़ नकद मिले। अखबार के अनुसार कर्नाटक में लोकायुक्त अधिकारियों ने भाजपा के विधायक मदन विरुपक्षप्पा के बेटे प्रशांत कुमार के घर 6 करोड़ रुपये के अधिक की बेहिसाब नकदी बरामद की है। लोकायुक्त ने यह कार्रवाई प्रसाद के 40 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े जाने के बाद की। भाजपा विधायक ने अपने बेटे के खिलाफ लोकायुक्त की कार्रवाई के बाद केएसडीएल के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने दावा किया कि भ्रष्टाचार विरोधी एजेंसी द्वारा की गई छापेमारी उनके और उनके परिवार के खिलाफ एक साजिश है। बेंगलुरु जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड के अधिकारी के मुख्य लेखा पदाधिकारी प्रशांत को गुरुवार शाम को कर्नाटक साबुन और डिटर्जेंट लिमिटेड कार्यालय में एक ठेकेदार से कथित तौर पर 40 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया था।

यूक्रेन पर परमाणु युद्ध की धमकी

जागरण ने इस खबर को अहमियत दी है: यूक्रेन पर परमाणु युद्ध की धमकी स्वीकार नहीं। अख़बार लिखता है कि हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग व विकास को बढ़ावा देने के लिए उद्देश्य से गठित अमेरिका भारत ऑस्ट्रेलिया और जापान के संगठन कोर्ट ने शुक्रवार को एक सुर में चीन और रूस को उनकी अपने-अपने क्षेत्र में आक्रामक व्यवहार अपनाने पर कड़ा संदेश दिया। चारों देशों के विदेश मंत्रियों की नई दिल्ली में हुई बैठक के बाद जारी संयुक्त घोषणापत्र में कहा गया कि यूक्रेन संकट का संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में स्थाई समाधान होना चाहिए। रूस का नाम लिए बगैर क्वाड देशों ने कहा कि परमाणु युद्ध की धमकी स्वीकार्य नहीं है।

कुछ और सुर्खियां

  • दिल्ली से पटना आ रहे विमान में गड़बड़ी के बाद वाराणसी में हुई आपात लैंडिंग
  • जातीय गणना बिहार में जातियों की संख्या 204 से बढ़कर 215 हुई
  • राजीव मिश्रा पटना के नए एसएसपी, ढिल्लों बनने ईओयू में डीआईजी
  • पूर्व सांसद मीना सिंह ने जदयू से दिया इस्तीफा, भाजपा में जाने की चर्चा
  • पटना में 5 साल में 12000 ई रिक्शा का रजिस्ट्रेशन पर न रूट तय, न स्टैंड
  • एनएमसीएच के डॉक्टर का सुराग नहीं, गंगा में एसडीआरएफ ने चलाया तलाशी अभियान

अनछपी: तमिलनाडु में बिहार के मजदूरों के साथ ज़्यादती की खबरों पर विवाद बढ़ता जा रहा है। पहले अखबारों ने यह खबर दी कि वहां कुछ जिलों में बिहारी मजदूरों के साथ मारपीट की जा रही है क्योंकि तमिलनाडु के मजदूरों को लगता है कि बिहार के मजदूर कम मेहनताने पर भी काम करने को तैयार हो जाते हैं। यही नहीं बल्कि हिंदी बोलने वाले सभी मजदूरों के साथ यही रवैया अपनाने की शिकायत मिल रही है। ऐसी खबरों के बाद तमिलनाडु के डीजीपी ने इस संबंध में जारी वीडियो को पूरी तरह फर्जी और पुराना बताया था। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी उनकी बातों से सहमति जताते हुए कहा था कि भारतीय जनता पार्टी के लोग दुष्प्रचार में लगे हैं। इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी विधानसभा और विधान परिषद में इस मुद्दे पर अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखे हुए थी तो ऐसे में मुख्यमंत्री द्वारा वहां टीम भेजने की घोषणा सही कदम है। मजदूरों की परेशानी अपनी जगह लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि इस विषय पर भी राजनीतिक लाभ हानि के लिए बयानबाजी हो रही है। सबको पता है कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ सख्त रवैया अपनाते हैं। यह भी सही है कि बिहारी मजदूरों के साथ वहां दुर्व्यवहार होता है। लेकिन यह सही नहीं है कि इसे किसी पूरे राज्य का मामला बताया जाए और उस राज्य को निशाना बनाया जाए। हमें बिहार और तमिलनाडु को भारत देश के ही 2 राज्यों के तौर पर देखने और इसे बिहार बनाम तमिलनाडु बनाने से बचने की सख्त जरूर

 620 total views

Share Now

Leave a Reply