छपी-अनछपीः हर तरफ दुर्गा पूजा की धूम लेकिन आरा में नाली में मिली नवजात, नाम रखा गया- दुर्गा

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। पटना के हिन्दी अखबार विज्ञापन से भरे हैं। खबरों में दुर्गा पूजा छायी हुई है लेकिन आरा में नाली में फेंकी गयी बच्ची के मिलने से समाज के लिए गंभीर सवाल खड़े होते हैं। बच्ची का नाम दुर्गा रखा गया है। भारतीय इलाके से उड़ते हुए चीन जा रहे ईरान के विमान में बम की अफवाह से मचे हड़कंप की खबर भी पहले पेज पर छपी है।
हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर हैः खोइछा भरने को सुहागिनों का उमड़ा सैलाब। यह खबर महाष्टमी की है जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पटना सिटी के पटन देवी मंदिर में पूजा करने की जानकारी भी दी गयी है। अब नवमी और दशमी यानी दशहरा को अखबार के दफ्तर बंद रहेंगे और आपके हाथों में इसकी प्रति छह अक्टूबर को मिलेगी। प्रभात खबर की लीड हैः उत्साह-उमंग के संग रात भर जागी राजधानी।
जागरण की सबसे बड़ी खबर हैः ’प्रचंड’ हुई वायुसेना की ताकत। प्रचंड एयर फोर्स के नये 5.8 टन के हल्के लड़ाकू विमान का नाम है जिसके पहले बेड़े को जोधपुर से शामिल किया गया है।
ईरान से चीन जा रहे हवाई जहाज में बम होने की सूचना से सोमवार की सुबह भारतीय एयरस्पेस में बेहद चौकसी रही। यह खबर सभी अखबारों में पहले पेज पर है। ईरानी पायलट दिल्ली में लैंडिंग कराना चाह रहे थे लेकिन उन्हें यहां की इजाजत नहीं मिली और उनसे कहा गया कि वे चंडीगढ़ या जयपुर में लैंडिंग करा सकते हैं लेकिन ईरान की ओर से विमान को चीन ले जाने का निर्देश मिलने के बाद उसे वहीं उतारा गया। बम की अफवाह गलत निकली। लैंडिंग की इजाजत मांगे जाने के बाद भारतीय वायुसेना के दो सुखोई विमान ईरानी जहाज पर नजर रखने के लिए पीछे पीछे उड़े और उसके भारतीय सीमा से बाहर होने पर लौट आये। इस कारण सुबह 9ः25 से 10ः05 तक पूरी व्यवस्था अतिरिक्त चैकस रही।
स्वीडन के स्वंते पैबो को मेडिकल क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार देने की खबर भी प्रमुखता से छपी है।
देश के विभिन्न हिस्सों में उपचुनाव की तारीख 3 नवंबर तय की गयी है। इसमें महाराष्ट्र, हरियाणा, तेलंगाना, ओड़िशा, यूपी के अलावा बिहार के दो विधानसभा क्षेत्र- गोपालगंज और मोकामा भी शामिल हैं। भास्कर में यही खबर लीड है। इस चुनाव का रिजल्ट 6 नवंबर को आएगा।
भास्कर की दूसरी सबसे बड़ी खबर हैः अमेरिकाः हिन्दू संगठनों की फंडिंग की जांच, 60 संगठन विरोध में उतरे। इस खबर में बताया गया है कि हाल ही में न्यू जर्सी में टीनेक डेमोक्रेटिक म्यूनिसपल कमेटी ने एक प्रस्ताव पारित कर विश्व हिन्दू परिषद, सेवा इंटरनेशनल, हिन्दू स्वयंसेवक संघ समेत 60 संगठनों को फासीवादी बताया है। उनकी रिपोर्ट में लिखा गया हैः ’’ये संगठन नफरत और आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। भारत और अमेरिका में अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत फैलाते हैं।’’
जागरण में पहले पेज की एक खबर हैः जईई-मेन साफ्टवेयर में छेड़छाड़ करने का आरोपित गिरफ्तार। गिरफ्तार होने वाला आदमी रूस का है। इस पर आरोप है कि उसने जेईई-मेन के साफ्टवेयर में छेड़छाड़ की थी जिससे एग्जाम सेंटर के कंप्यूटरों को रिमोट पर लेकर सवाल हल किये जाते थे। यह गिरफ्तारी रूसी नागरिक के कजाखस्तान से दिल्ली पहुंचने पर की गयी।
अनछपीः दस दिन की दुर्गा पूजा के आठवें दिन- अष्टमी- को कन्या पूजन किया जाता है लेकिन उसी दिन आरा में एक नवजात बच्ची नाली में फेंकी गयी मिली। यह हमारे समाज के लिए बेहद दुखदायी खबर है। किसी महिला ने बच्ची के रोने की आवाज की सूचना गार्ड को दी तो काले दुपट्टे में लिपटी उस बच्ची को आरा सदर अस्पताल के लेबर वार्ड के बगल के शौचलाय की नाली से निकाला गया। अस्पताल की नर्स और गार्ड की मदद से उस बच्ची को बचाया गया। इस खबर को सिर्फ टाइम्स आॅफ इंडिया ने पहले पेज पर जगह दी है। डीएम राजकुमार ने अस्पताल पहुंचकर इस बच्ची की देखरेख का जायजा लिया और इसका नाम दुर्गा रख दिया लेकिन क्या महज नाम रखने से इस समस्या का हल निकल आएगा। यह खबर ऐसे दिन आयी है जबकि टाइम्स आॅफ इंडिया की सबसे बड़ी और अच्छी खबर है कि भारत में बच्च्यिों की मृत्यु दर घटकर अब लड़कों की मृत्यु दर के बराबर हो गयी है।
हमारे समाज में जागरूकता फैलाने की लाख कोशिश के बावजूद लड़कियों को गर्भ में या गर्भ से बाहर मारने का कुकर्म रुक नहीं रहा है। आरा प्रशासन ने ऐसी बच्चियों को फेंकने के बजाय प्रशासन को सौंप देने की बात की है लेकिन इससे समस्या का हल नहीं निकल सकता। असली बात यह है कि समाज में लड़कियों के प्रति नजरिए में बदलाव की जो कोशिश होनी चाहिए उसे तेज करने की जरूरत है। साथ ही गर्भ में ही लड़का-लड़की पता करने वाले अल्ट्रासाउंड सेंटर्स पर कड़ाई और बढ़ाई जानी चाहिए। ऐसे सेंटर्स प्रशासन की मिलीभगत के बिना चल ही नहीं सकते। हमें इन बातों पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है।

 696 total views

Share Now

Leave a Reply