छपी-अनछपी: स्टालिन बोले- भाजपाइयों ने फैलाई अफवाह, सारण में मॉब लिंचिंग

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों के खिलाफ कथित हिंसा की अफवाह फैलाने के बारे में वहां के मुख्यमंत्री केएम स्टालिन ने बयान दिया है कि यह करतूत भाजपा की है। इस बयान को ज्यादा अहमियत नहीं दी गई है लेकिन अखबारों में इससे जुड़ी ख़बरें प्रमुखता से ली गई हैं। सारण में एक मांस विक्रेता की मॉब लिंचिंग की खबर अंदर के पन्नों पर है। वैसे अखबारों में तीन बड़ी परियोजनाओं के शुरू होने, जमीन के बदले नौकरी मामले में लालू और मीसा से पूछताछ और नगालैंड में जदयू के इकलौते विधायक का भाजपा को समर्थन देने की खबर लीड बनी है।

हिन्दुस्तान ने खबर दी है: सीएम स्टालिन बोले-भाजपाइयों ने हमले की अफवाह फैलाई। अखबार के अनुसार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने गुरुवार को आरोप लगाया कि उत्तर भारतीय राज्यों के भाजपा के नेताओं ने गलत इरादे से प्रवासी मजदूरों पर हमले के बारे में अफवाह फैलाई। स्टालिन ने ‘उनगलिल ओरुवन’ कार्यक्रम के तहत कई सवालों का जवाब देते हुए कहा कि भाजपा के खिलाफ एकजुट राष्ट्रीय स्तर के गठबंधन की आवश्यकता के बारे में बात करने के एक दिन बाद अफवाहें फैलनी शुरू हो गईं।

डिजिटल सबूत
जागरण में इससे संबंधित खबर दूसरी सबसे बड़ी सुर्खी है: ईओयू ने फेसबुक, ट्विटर से मांगे डिजिटल साक्ष्य, छापेमारी जारी। अख़बार लिखता है तमिलनाडु में अप्रवासी बिहारी मजदूरों पर हिंसा की भ्रामक पोस्ट और वीडियो शेयर करने वाले अभियुक्तों की तलाश में आर्थिक अपराध इकाई की छापेमारी जारी है। ईओयू की विशेष जांच टीम आरा समेत कई जिलों में प्राथमिक अभियुक्तों की तलाश कर रही है। इस बीच ईओयू ने फेसबुक, ट्विटर और गूगल से भ्रामक पोस्ट करने वालों लोगों से जुड़े साक्ष्य मांगे हैं। इस बीच मामले की जांच को लेकर आई तमिलनाडु पुलिस की विशेष टीम बिहार से लौट गई है। तमिलनाडु पुलिस की टीम पटना के अलावा आरा भी गई थी जहां लोगों से पूछताछ की गई है। उधर, तमिलनाडु गया बिहार के वरीय अफसरों का प्रतिनिधिमंडल जल्द ही राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा।

सारण में मॉब लिंचिंग
जागरण ने अपने राज्य के पन्ने पर यह खबर प्रमुखता से दी है: सारण में ग्रामीणों ने मांस विक्रेता को पीटा इलाज के दौरान मौत। हिन्दुस्तान ने भी छोटी सी खबर दी है: प्रतिबंधित मांस विक्रेता की भीड़ हिंसा में मौत। जागरण के अनुसार सारण ज़िले के रसूलपुर थाना क्षेत्र के जोगिया गांव में मंगलवार की देर शाम एक मांस विक्रेता को गांव के कुछ लोगों ने मारपीट कर घायल कर दिया। उसे इलाज के लिए एकमा अस्पताल में भर्ती कराया गया, वहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे सिवान सदर अस्पताल में रेफर कर दिया गया जहां इलाज के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई। मृतक की पहचान सिवान जिले के जीबी नगर थाना क्षेत्र के हसनपुरा गांव निवासी नसीब कुरेशी के रूप में की गई है। मृतक के भतीजे मोहम्मद फिरोज ने थाने में सरपंच सहित पांच नामजद व दो दर्जन अज्ञात पर प्राथमिकी कराई है। उसने आरोप लगाया है कि चाचा जिस काम से जोगिया गांव गए थे वहां सरपंच व समर्थकों ने पीट कर मार डाला। उसने प्राथमिकी में मांस का जिक्र नहीं किया है। पुलिस ने सरपंच सुशील कुमार सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में रसूलपुर थाना अध्यक्ष रामचंद्र तिवारी ने किसी तरह का मांस मिलने से इनकार किया है।

ज़मीन के बदले नौकरी देने का मामला
जागरण की सबसे बड़ी खबर है: जमीन के बदले नौकरी मामले में लालू और मीसा से पूछताछ। अखबार लिखता है कि जमीन के बदले नौकरी मामले में सीबीआई ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद एवं राज्यसभा सदस्य मीसा भारती से 5 घंटे पूछताछ की। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद सिंगापुर में किडनी का प्रत्यारोपण कराने के बाद फिलहाल अपनी बेटी मीसा भारती के साथ दिल्ली स्थित आवास पर रह रहे हैं। एक दिन पहले ही पटना में राबड़ी देवी से भी सीबीआई की टीम ने पूछताछ की थी। सीबीआई के आठ अधिकारियों की टीम मंगलवार की सुबह लालू से पूछताछ के लिए दिल्ली के पंडारा पार्क में मीसा भारती के आवास पर दो कारों से पहुंची थी।

तीन बड़े प्रोजेक्ट्स पास
हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है: सूबे की तीन बड़ी परियोजनाएं मंजूर। केंद्र सरकार ने राज्य के दो बाइपास समेत तीन बड़ी सड़क परियोजनाओं को अंतिम मंजूरी देते हुए 1807 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। जिन परियोजनाओं का निर्माण होना है उनमें बिहार से गुजरने वाले रामजानकी मार्ग, अररिया में रानीगंज बाइपास और वैशाली में जंदाहा बाइपास शामिल हैं। रामजानकी मार्ग के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के मेहरौना घाट से सीवान तक 41 किलोमीटर एनएच निर्माण के लिये 1661.25 करोड़ रुपये स्वीकृत किये गये हैं।

नगालैंड में जदयू को झटका
भास्कर की सबसे बड़ी खबर है: नगालैंड: जदयू के इकलौते विधायक ने भाजपा गठबंधन को दिया समर्थन। हिन्दुस्तान ने खबर दी है: जदयू ने पार्टी की नगालैंड इकाई भंग की। जदयू ने राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह के निर्देश पर नगालैंड में पार्टी की प्रदेश इकाई को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है। कार्रवाई जदयू के प्रदेश अध्यक्ष द्वारा नगालैंड के वर्तमान मुख्यमंत्री को समर्थन पत्र सौंपे जाने को लेकर की गई है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एनएसएन लोथा के कदम को जदयू ने अनुशासनहीनता और पार्टी के खिलाफ कदम करार देते हुए कड़ी कार्रवाई की है। बुधवार को होली के दिन ही नगालैंड की प्रदेश जदयू इकाई भंग कर दी गई। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव तथा नगालैंड जदयू के प्रभारी अफाक अहमद खान ने यह कार्रवाई की है। जदयू को नगालैंड विस में दमदार प्रदर्शन के बूते राष्ट्रीय पार्टी बनने की उम्मीद थी। इसके लिए यहां के चुनाव में पार्टी को 3 विस सीटों पर जीत या 6 फीसदी वोट की दरकार थी। इसे देखते हुए जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने खुद दो दिनी नगालैंड दौरा किया। पार्टी के 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे, पर एकमात्र प्रत्याशी ज्वेंगा सेव को जीत मिली। वोट भी पिछले चुनाव से एक फीसदी कम ही आया। जदयू प्रभारी अफाक अहमद ने कहा कि हम नये सिरे से नई कमेटी का शीघ्र गठन करेंगे।

बेगूसराय में रेप
हिन्दुस्तान के बिहार पेज पर खबर है: बेगूसराय दो किशोरियों से दुष्कर्म आक्रोशित लोगों का हंगामा, तोड़फोड़। साहेबपुर कमाल थाना के पंचवीर बाजार में बुधवार को नशे में धुत एक वहशी युवक ने दूसरे समुदाय की दो नाबालिग किशोरियों के साथ दुष्कर्म किया। दोपहर बाद की यह घटना तब सामने आयी, जब पीड़ित एक किशोरी रोते-बिलखते परिजनों के पास पहुंची और घटना की जानकारी दी। परिजनों व ग्रामीणों को उक्त कुकृत्य की जानकारी मिलते ही लोगों में उबाल आ गया। सैकड़ों लोग आरोपित की दुकान पर पहुंचे और तोड़फोड़ शुरू कर दी।
लोगों में आक्रोश इस कदर था कि एक समुदाय के सैकड़ों लोग आरोपित के घर के समीप पहुंच गए और रोड़ेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान उक्त समुदाय के बुद्धिजीवी व सामाजिक कार्यकर्ता आगे आये और लोगों को समझा-बुझा कर वापस ले जाने का प्रयास करने लगे।इधर, लोगों ने घटना की जानकारी थाना व वरीय पुलिस अधिकारियों को दी। पुलिस अधिकारियों ने तत्परता दिखाते हुए सैकड़ों पुलिस जवानों के साथ मौके पर पहुंच दोनों पीड़िता को सदर अस्पताल में भर्ती करवाया और स्थिति को नियंत्रित करने के लिए मोर्चा संभाल लिया। पुलिस ने आरोपित युवक व एक अन्य युवक को मक्के खेत से गिरफ्तार कर लिया।

कुछ अन्य सुर्खियां
● एलान: ऑस्ट्रेलिया में भारतीय डिग्री मान्य
● समस्तीपुर के दोहरे हत्याकांड में पूर्व विधायक रामबालक सिंह गिरफ्तार
● गया में तोप का गोला फटने से 3 की मौत, 3 घायल
● ज़मानत पर सुनवाई से पहले ही ईडी ने मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किया
● नवगछिया में गोलीबारी का वीडियो बना रहे युवक की गोली लगने से मौत
● मानिक साहा दूसरी बार बने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री

अनछपी: सारण में मॉब लिंचिंग में एक मुसलमान को मारने की घटना और बेगूसराय में अल्पसंख्यक समुदाय की दो किशोरियों के साथ रेप का मामला बेहद गंभीर है। दोनों घटनाएं उस समय हुई हैं जब होली के कारण पुलिस सर्वाधिक अलर्ट पर थी। इससे पहले सीतामढ़ी में लाउडस्पीकर विवाद में मस्जिद पर हमले की खबर भी आ चुकी है। इसके अलावा कुछ दिन पहले गया में मॉब लिंचिंग में एक मुस्लिम युवक के मारे जाने की खबर भी थी। ये सभी घटनाएं महज इत्तेफाक नहीं हो सकतीं। बिहार सरकार इस समय तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों के साथ कथित हिंसा के फर्जी वीडियो के मामले में उलझी हुई है। लेकिन राज्य के अंदर के ये मामले भी उसके लिए गंभीर चुनौती का विषय है। सरकार के लिए जानना जरूरी है कि यह घटनाएं व्यक्तिगत स्तर पर अंजाम दी गई हैं या इसके पीछे किसी संगठन का हाथ है। यह बात सबको पता है कि 2024 के चुनाव में अब लगभग एक साल ही रह गया है और उससे पहले सामाजिक माहौल बिगाड़ने की साज़िशें की जाएंगी। जरूरी है कि समय रहते ऐसे तत्वों पर सरकार सख्त कार्रवाई करे ताकि सांप्रदायिक ध्रुवीकरण जिस राजनीतिक पार्टी का उद्देश्य है वह इसमें सफल न हो। सामुदायिक स्तर पर सभी समुदायों को आपसी मेलजोल बढ़ाने और अफवाहों पर नज़र रखने के साथ सतर्कता बढ़ाने की जरूरत है।

 730 total views

Share Now

Leave a Reply