छपी-अनछपीः मोदी ने पटना में लोकतंत्र पर वक्तव्य दिया, बाढ़ में दिन दहाड़े दो की हत्या

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को पटना में आयोजित बिहार विधानसभा के शताब्दी समारोह के समापन कार्यक्रम में लोकतंत्र पर लंबा वक्तव्य दिया। विपक्ष की सशक्त आवाज भाकपा माले ने उनसे कहा है कि उनकी सरकार ने अब तक जितने फैसले लिये हैं उनमें लोकतांत्रिक संस्थाओं, प्रक्रियाओं और आम लेगों की भावना की घोर उपेक्षा की गयी है।
सभी अखबारों में प्रधानमंत्री का भाषण लीड है। हिन्दुस्तान की हेडिंग है- बिहार बढ़ेगा तो देश मजबूत होगाः मोदी। प्रभात खबर की सुर्खी हैः जो बिहार से स्नेह करता है, बिहार उसे कई गुना ज्यादा कर लौटाता हैः पीएम। जागरणः देश हित में एक आवाजा होनी चाहिएः पीएम। भास्कर का शीर्षक हैः बिहार लोकतंत्र का जनक और लोकतंत्र का रक्षक भी।
भाकपा माले ने प्रधानमंत्री के भाषण पर जो सवाल उठाये हैं, उसे अखबारों ने न के बराबर जगह दी है। जैसे, माले ने कहा है कि प्रधानमंत्री ने सबके लिए आवाज की चर्चा की लेकिन हम सबको बुलडोजर का सामना करना पड़ रहा है। कांग्रेस पार्टी का बयान है कि प्रधानमंत्री ने बिहार वासियों को निराश किया।
इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष, तेजस्वी यादव ने कहा कि आबादी के अनुसार भागीदारी से लोकतंत्र समृद्ध होगा। हिन्दुस्तान में यह बयान प्रमुखता से छपा है।
वैसे, प्रधानमंत्री मोदी ने देवघर में एयरपोर्ट का उद्घाटन किया, इसकी खबर भी प्रमुखता से छपी है। उम्मीद की जा रही है कि झारखंड के अलावा पूर्वी बिहार के लोगों को भी इससे लाभ होगा।
देवघर के कार्यक्रम में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के दौरान दिखायी गयी गर्मजोशी चर्चा का विषय बन गयी है। यह बात टाइम्स आॅफ इंडिया ने बतायी है। श्री सोरेन खान पट्टा लेने के मामले में चुनाव आयोग में शिकायत का सामना कर रहे हैं और उनकी विधान सभा सदस्यता जाने का खतरा भी है। ऐसे में प्रधानमंत्री के साथ उनकी गर्मजोशी को वास्तव में एक समझौते और परिवर्तन का आसार बताया जा रहा है।
बाढ़ में दिन दहाड़े दो लोगों की हत्या की खबर भी प्रमुखता से छपी है। हत्या की खबरें अखबारों के अन्दर के पन्नों पर आम खबरों की तरह छपती हैं और कहीं से इसे सुशासन के सवाल के तौर पर पेश नहीं किया जाता।
भास्कर की खास खबर है कि पटना के अशोक राजपथ पर मेट्रो ट्रैक के रास्ते में गैस पाइपलाइन है और इसे उखाड़ने पर 110 करोड़ का घाटा होगा। इस खबर से साबित होता है कि हमारी विकास योजनाएं कैसे बिल्कुल अनजान रहकर बनायी जाती हैं।
शिव सेना के उद्धव ठाकरे की मजबूरी इतनी बढ़ गयी है कि उन्हें भाजपा की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने का ऐलान करना पड़ा है। यह खबर टाइम्स आॅफ इंडिया ने पहले पेज पर जगह दी है।
अनछपीः प्रधानमंत्री मोदी के दौरे से बिहार को उनके वक्तव्य के अलावा क्या मिला, यह किसी अखबार की चर्चा का विषय नहीं है। प्रधानमंत्री से उम्मीद की जा रही थी कि वे शायद विशेष राज्य के दर्जे की मांग पर कुछ बोलें। नहीं बोले। उम्मीद थी कि वे जातीय जनगणना पर कुछ विचार प्रकट करें। नहीं किया। ऐसी कई उम्मीदों पर उन्होंने पानी फेर दिया। अलबत्ता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री की तारीफ में पुल बांधे और यही काम श्री मोदी ने श्री नीतीश के लिए किया। बिहार की जनता को शाम में शहर का बड़ा हिस्सा जाम मिला।

 477 total views

Share Now

Leave a Reply