छपी-अनछपी: सीओ से तंग तबाह लोग- मंत्री का मनमानी रोकने का आदेश, 100 करोड़ की अघोषित आय

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। बिहार में सीओ यानी अंचलाधिकारी की मनमानी राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के मंत्री के संज्ञान में आया है। हिन्दुस्तान की पहली खबर इसी के बारे में है। बिहार में हाल ही में हुए एक आयकर छापे में 100 करोड़ से अधिक की अघोषित आय की भी खबर प्रमुखता से छपी है। गुजरात चुनाव को लेकर भाषणों का दौर तेज हो गया है और नेपाल में नेपाली कांग्रेस को बहुमत मिलने के आसार हैं। ये दोनों खबरें सभी जगह हैं। फुटबॉल वर्ल्ड कप में सऊदी अरब के हाथों अर्जेंटीना की हार की खबर भी प्रमुखता से छपी है। साथ ही आज जानिएगा कि 2 किलो सोना चोरी के मामला का भंडा कैसे फूटा।
हिन्दुस्तान की पहली सुर्खी है: दाखिल खारिज में सीओ की मनमानी पर लगेगा अंकुश। विभागीय मंत्री आलोक कुमार मेहता ने मंगलवार को निर्देश दिया है कि म्युटेशन के अस्वीकृत मामलों की समीक्षा की जाए। मंत्री ने एक अंचल कार्यालय का जिक्र करते हुए कहा कि वहां म्युटेशन के अस्वीकृत मामलों को स्वीकृत कर दिया गया। कहा कि अंचल कार्यालय में दाखिलखारिज के अस्वीकृत मामलों को भूमि सुधार उप समाहर्ता के कोर्ट में अपील करने का प्रावधान है। देखा जा रहा है कि सीओ के स्तर से अस्वीकृत मामले का आवेदन दोबारा उसी न्यायालय में दे दिया जाता है और उसका निष्पादन भी कर दिया जाता है। अंचल कार्यालय के स्तर से यह बड़ी गड़बड़ी है। मंत्री ने कहा कि ऐसा नहीं हो इसके लिए अपर समाहर्ता अपने स्तर से म्युटेशन के मामलों की समीक्षा करें। माना जा रहा है कि यह कवायद दाखिल -खारिज में सीओ की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए है। विभाग ने जमीन के म्युटेशन के लंबित मामलों को शून्य करने का आदेश अधिकारियों को दिया है।

100 करोड़ की बेहिसाबी खरीद बिक्री

प्रभात खबर की सबसे बड़ी सुर्खी है: कारोबारियों ने की 100 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाबी खरीद बिक्री। भास्कर की पहली खबर भी यही है: बिहार में आयकर छापे… 100 करोड़ की अघोषित आय मिली। इनकम टैक्स विभाग ने हाल में रियल एस्टेट और हीरे के आभूषणों का कारोबार करने वाले बिहार के कुछ कारोबारी समूहों पर छापेमारी के बाद 100 करोड़ रुपये से अधिक के बेहिसाब आय का पता लगाया है। यह जानकारी मंगलवार को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने दी है।

“डबल इंजन सरकारों का फायदा”

जागरण की सबसे बड़ी सुर्खी है: युवाओं को मिल रहा डबल इंजन सरकारों का फायदा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 71 हजार से अधिक युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपने के लिए आयोजित कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए यह बात कही। चुनाव के कारण हिमाचल प्रदेश और गुजरात में यह नियुक्ति पत्र वितरण समारोह आयोजित नहीं किया गया था लेकिन श्री मोदी अपने इन भाषणों के जरिए पार्टी की बात प्रचारित करने में सफल हो रहे हैं। इसी खबर की सुर्खी हिन्दुस्तान में है: दुनिया भर में संकट, लेकिन देश में अवसर बढ़े: मोदी। भास्कर ने पहले पेज पर खबर दी है: गुजरात चुनाव: भाजपा का जोर हारी सीटों पर, कांग्रेस का गांव पर; आप घर-घर तक जा रही।

यात्री के एक करोड़ के जेवर

प्रभात खबर की दूसरी सबसे बड़ी खबर है: ट्रेन से यात्री के एक करोड़ के जेवर उड़ाए, सोना कारोबारी से मिलकर गलाया और बेच दिया। भास्कर की सुर्खी है: अंतरराज्यीय गिरोह ने उड़ाया था पटना जंक्शन से एक करोड़ का सोना, सीसीटीवी में कैद बुलेट बनी सरगना तक पहुंचने का सुराग। इसी बुलेट से सर्विस सेंटर जाकर पुलिस ने इसके मालिक का पता लगाया और पूरे मामले का भांडा फोड़ा। हिंदुस्तान ने लिखा है ट्रेन से दो किलो सोना चुराने वाले 6 कुख्यात 32 सोनार गिरफ्तार। पकड़े गए बदमाशों ने 10 नवंबर को राजस्थान के कारोबारी का एक करोड़ रुपए का सोना से भरा बैग चुराया था। कारोबारी भगत कोठी कामाख्या एक्सप्रेस से अपने निवास स्थान असम जा रहे थे।

सऊदी अरब  2 अर्जेंटीना 1 

हिन्दुस्तान के खेल पेज की सबसे बड़ी खबर है: सबसे बड़ा उलटफेर। अर्जेंटीना को सऊदी अरब ने 2-1 से हराया। इससे पहले अर्जेंटीना की टीम लगातार 36 मैचों में विजयी हुई थी। इस मैच में भी उसने पेनाल्टी शूट से बढ़त ले ली थी लेकिन बाद में सऊदी अरब के खिलाड़ियों ने लगातार दो गोल कर यह मैच जीत लिया। इस जीत की खुशी में सऊदी अरब में बुधवार को सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा की गई है।

मेघालय सीमा पर असम पुलिस की फायरिंग

मेघालय में सीमा पर असम पुलिस की फायरिंग में 5 ग्रामीणों की मौत की खबर टाइम्स ऑफ इंडिया में तो पहले पेज पर है लेकिन अन्य अखबारों में यह खबर दब गई है। यह फायरिंग कथित रूप से लकड़ी तस्करी कर भाग रहे ट्रक को पकडने के दौरान हुई मुठभेड़ में हुई है।

आदित्य ठाकरे बिहार का दौरा

अपनी मुस्लिम विरोधी राजनीति के लिए कुख्यात लेकिन आजकल सेक्युलर पार्टी से नजदीकी बनाने वाली शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे बिहार का दौरा करने वाले हैं। वह बुधवार को उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से भी मिलेंगे। आदित्य ठाकरे के पिता उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री सेक्युलर पार्टियों- कांग्रेस और एनसीपी के सहयोग से ही बने थे जो शिव सेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के पुत्र हैं।

अनछपी: बिहार में रियल स्टेट कारोबारियों, सर्किल ऑफिसर और राजस्व कर्मचारियों की मिलीभगत ने आम जमीन मालिकों की नाक में दम कर रखा है। संबंधित मंत्री ने अब जाकर सीओ पर अंकुश लगाने की बात तो कही है लेकिन वह उन पर कितना अंकुश लगा पाएंगे यह देखना दिलचस्प होगा। हाल ही में पटना के नजदीक संपतचक के सीईओ के बारे में हर दिन तरह-तरह की खबर सामने आ रही है। उनकी चर्चा संपतचक के बजाय कंकड़बाग से ऑफिस चलाने की खबर से शुरू हुई थी। अब नई खबर आई है कि दारोगा व दूध कारोबारी की 6.5 कट्ठा जमीन भी संपतचक सीईओ ने खुद के नाम करा ली थी। जमीन की रजिस्ट्री और दाखिल खारिज एक ऐसा पेचीदा मामला है जिसे आम आदमी कभी समझ नहीं पाता है। इसी के साथ जमाबंदी में भी काफी खेल होता है। आम आदमी दाखिल खारिज या जमीन के कागजात में किसी सुधार के लिए दरख्वास्त देता है तो अक्सर उसे निराशा हाथ लगती है। सीओ उन्हें बार-बार दौड़ाता है। यही काम अगर दलालों से करवाया जाए तो घूसखोरी से आसानी से हो जाता है। जमीन के कारोबार के अलावा फ्लैट और अपार्टमेंट का धंधा भी कम गंदा नहीं है। यह खबर भी आई है कि खगोल के आदमपुर में बन रहे 11 मंजिला अपार्टमेंट के दस सौ अट्ठासी फ्लैट का नक्शा पास कराने में अनियमितता की गई है। बिल्डर ने पहले मुखिया से नक्शा पास कराया। रेरा ने जब इस पर सवाल उठाया तो खगौल नगर परिषद के कार्यपालक अधिकारी ने नक्शा को सत्यापित कर दिया। इसे गंभीर मानते हुए रेरा ने अब नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव को जांच के आदेश दिए हैं। इन उदाहरणों से जमीन के गोरखधंधे का अंदाजा लगाया जा सकता है जिसके कारण राज्य में काफी हिंसा भी होती है।

Share Now

Leave a Reply