छपी-अनछपीः युवा उद्यमियों को 10 साल के लिए बिना ब्याज 10 लाख, भाजपा का आज से पटना जमावड़ा

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। हिन्दी के दो प्रमुख अखबारों- हिन्दुस्तान और भास्कर के पहले पेज पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के पटना आने का विज्ञापन छपा है जिसमें पार्टी के सभी मोर्चों की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की होने की सूचना भी है। इसी तरह का विज्ञापन अंदर के पेज पर जागण में भी है। जाहिर है, इसके बारे में खबर भी प्रमुखता से छपी है। भास्कर ने सूचना दी है कि ढाई लाख बैनर-पोस्टर, 40 हजार केसरिया से पटा पटना।
वैसे, आज सभी अखबारों ने अलग-अलग लीड लगायी है। यह खबर सभी अखबारों में प्रमुखता से छपी है कि बिहार में नये स्टार्टअप के लिए कर्ज देने की सहूलत को और आसान किया जाएगा जिसकी घोषणा उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने स्टार्ट अप पाॅलिसी जारी करते हुए की है। प्रभात खबर की हेडिंग हैः स्टार्ट अप को 10 साल तक बिना ब्याज रु. 10 लाख का सीड फंड। हिन्दुस्तान ने लिखा है कि इसके साथ ही मार्गदर्शन, ट्रेनिंग और मार्केटिंग भी सिखायी जाएगी। शाहनवाज हुसैन ने दावा किया है कि राज्य में एमएसएमई सेक्टर का विकास हो रहा है।
भास्कर ने शाहनवाज हुसैन का इंटरव्यू पहले पेज पर छापा है जिसकी सुर्खी हैः शाहनवाजब बोले- सही है कि देश भर में भाजपा से अकेला मुस्लिम कैबिनेेट मंत्री हूं, लेकिन पीएम मोदी की नजर सिर्फ 130 करोड़ हिन्दुस्तानी देखती है।
भास्कर की सबसे बड़ी खबर है- फुलवारी माॅड्यूल के निशाने पर थी पीएम की सभाः एनआईए। यानी 28 जुलाई को एनआईए ने जिन 10 ठिकानों पर छापेमारी की और जो बात फुलवारी शरीफ थाने की एफआईआर में दर्ज है, उसके आधार पर एनआईए बस इतना कह पायी है कि इस कथित फुलवारी माॅड्यूल के निशाने पर पीएम की सभा थी। पीएम की सभा में विरोध-प्रदर्शन करने की योजना को साजिश बताने की खबर जागरण अखबार शुरू ही में छाप चुका है।
हिन्दुस्तान की लीड बहुत बोर करने वाली हैः शिकायतें 30 दिन में निपटाई जाएंगी। यह बात केन्द्र सरकार के ’समर्पित’ पोर्टल के जारी नये दिशा निर्देश में कही गयी है। इसकी दूसरी बड़ी खबर हैः दाखिल-खारिज मामले में दो सौ सीओ पर सख्ती। अखबार के अनुसार उनसे बिना कारण बताए आवेदन रद्द करने पर तीन सप्ताह में जवाब देने को कहा गया है। पटना सदर में 10 दिनों में चार हजार आवेदन रद्द करने की खबर है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ऐसे आवेदनों का क्या हश्र हो रहा है।
जागरण की लीड माॅनसून की बेरुखी और संसद के माॅनसून सत्र पर है। पहली लीड की हेडिंग हैः मानसून की बेरुखी ने बढ़ाई चिंता, अब तक आधी भी नहीं हुई बारिश। दूसरे पेज पर सुर्खी हैः संसद का आधा मानसून सत्र हंगामे की भेंट चढ़ा। संसद में हंगामे का एक कारण कांग्रेस नेता अधीर रंजन द्वारा राष्ट्रपति मुर्मू के लिए संबोधन था जिसके लिए उन्होंने लिखित तौर पर माफी मांग ली है।
एक प्रमुख खबर यह भी है कि राज्य में 12, 711 स्वास्थ्यकर्मियों की भर्ती के लिए एक अगस्त से आवेदन लेना शुरू कर दिया जाएगा।
अनछपीः उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने एक ऐसा विभाग संभाला है जिसकी चर्चा बिहार में बहुत कम होती है। इस विभाग से उद्यमियों को बहुत शिकायत भी रहती है और खासकर छोटे उद्यमियों की परेशानियां बहुत रहती हैं। नयी स्टार्ट अप पाॅलिसी सुनने मंे तो बहुत आकर्षक है लेकिन यह बात जल्द ही मालूम हो जाएगी कि इसमें कितने पेच है और विभाग के अधिकारी काम में मदद के बदले काम में रोड़े कैसे डालते हैं और फिर कैसे इसमें भ्रष्टाचार का उद्योग फलता-फूलता है। फिलहाल, इस योजना का लाभ लेने के लिए उन युवाओं को भी आगे आना चाहिए जो चाहते हैं कि उन्हें सूद के बिना रोजगार के लिए कर्ज मिले। इसके लिए उन्हें उद्योग विभाग की वेबसाइट देखने के साथ उद्योग कार्यालय से भी जानकारी लेनी चाहिए।

 

 558 total views

Share Now

Leave a Reply