सबा के सख्त विरोध के बाद माना था यूको बैंक, बिना हिजाब हटाये दिये पैसे

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना।
बेगूसराय के मसंूर चक की बारहवीं क्लास की छात्रा सबा तबस्सुम के सख्त विरोध के बाद यूको बैंक, मंसूरचक ने बिना हिजाब हटाये उसे पैसे निकालने दिये थे। यह मामला 10 फरवरी का है लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद सोमवार को उजागर हुआ है।
इसे वीडिया में एक बैंक कर्मी सबा के पिता मतीन आलम से बहस करते दिख रहा है और मतीन उससे कह रहे हैं कि वह बैंक का आदेश दिखाये कि बैंक में हिजाब नहीं पहना जा सकता या वह लिखित दे कि बैंक में हिजाब पहनकर नहीं आना है। बैंक वालों ने सबा के परिवर से इस बात पर भी बहस की कि वे वीडियो क्यों बना रहे हैं। श्री मतीन ने कहा कि अगर वे कर्नाटक जैसा कुछ लागू करना चाहते हैं तो सरकार का निर्देश दिखाएं।
बैंक के मैनेजर रितेश कुमार ने पत्रकारों को बताया कि कैशियर रवि कुमार ने उस लड़की से हिजाब हटाने को कहा था मगर इसका मकसद सिर्फ पहचान पक्की करना था उनके अनुसार इसके अलावा और कोई मकसद नहीं था और इस मामले का हिजाब विवाद से कोई लेना देना नहीं है।
दूसरी ओर सबा के वालिद मतीन आलम ने पत्रकारों को बताया कि उनकी बेटी बैंक से पैसे निकालने गयी थी। इससे पहले भी वह हिजाब में रहकर ही बैंक जाती थी और पैसे निकालती थी लेकिन उस दिन बैंक कैशियर ने हिजाब हटाने को कहा तो बेटी ने मना कर दिया। बाद में हमलोग बैंक पहुंचे तो काफी बहस के बाद बेटी को पैसा निकालने दिया गया।
इस बारे में सबा का कहना है कि बैंक वाले उसकी बेइज्जती करना चाहते थे, आखिर बैंक में कहीं नहीं लिखा है कि हिजाब में वहां नहीं जाना है। मैं तो हमेशा हिजाब में ही बैंक गयी और पैसे निकाले थे लेकिन पहले किसी ने हिजाब हटाने को नहीं कहा था।
इस वीडियो के वायरल होने के बाद बिहार अल्पसंख्यक आयोग का एक पत्र भी सामने आया है जिसमें उन्होंने यूको बैंक के प्रबंध निदेशक से इसे बहुत गंभीर मामला बताते हुए इसकी जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है।
दूसरी तरफ यूको बैंक ने इस मामले के उजागर होने के बाद ट्वीट किया है कि बैंक नागरिकों के धार्मिक संवेदनाओं की आदर करता है और धर्म या जाति पर ग्राहकों से भेदभाव नहीं करता है। इस ट्वीट में बैंक यह भी लिखा है कि वह इस मामले की जांच कर रहा है। इसके बाद एक और ट्वीट में बैंक ने लिखा कि उस ग्राहक से मुलाकात की गयी। उस ग्राहक ने बैंक की सेवा के प्रति संतोष जताया है।
इधर, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी इस मामले में ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस कांड में शामिल लोगों को गिरफ्तार करने की मांग की है।

 707 total views

Share Now

Leave a Reply