शकीब की मां ने दिये थे कर्ज लेकर तीन बैट, बेटे ने तिहरे शतक से बनाया वल्र्ड रिकाॅर्ड

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट।
मोतिहारी के अगवरा मोहल्ले के 22 साल के शकीबुल गनी ने अपने पहले प्रथम श्रेणी मैच में शनिवार को कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय के मैदान पर रणजी ट्राॅफी के मैच में तिहरा शतक लगाकर विश्व रिकाॅर्ड बनाया। शकीब प्रथम श्रेणी क्रिकेट के पहले मैच में तिहरा शतक लगाने वाला दुनिया का पहला बल्लेबाज बन गया है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को ही शकीबुल गनी को इस कामयाबी पर मुबारकबाद दी और इसे बिहार के लिए ऐतिहासिक क्षण बताया।
शकीब ने मिजोरम के खिलाफ इस मैच में 405 गेंदों पर दो छक्कों और 50 चैकों की मदद से कुल 341 रन बनाये। इससे पहले अपने पहले प्रथम श्रेणी मैच में सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकाॅर्ड मध्य प्रदेश के अजय रोहरा का था जिसने 2018-19 में हैदराबाद के खिलाफ तब 267 रन बनाये थे। वैसे, शकीब की इस पारी में लंबे समय तक साथ दिया बाबुल कुमार ने जिसने 229 रन बनाये और नाबाद रहा। दोनों ने मिलकन 538 रनों की साझीदारी की। इसकी बदौलत बिहार ने अपनी पारी 5 विकेट पर 686 रनों के साथ समाप्त घोषित कर दी। जवाब में मिजोरम के तीन विकेट गिर चुके हैं जबकि उसके सिर्फ 40 रन बने हैं।
शकीब के वालिद अब्दुल मन्नान गनी पीडीएस डीलर हैं और खेल के सामान की दुकान चलाते हैं। छह बच्चों में सबसे छोटे शकीब पर बचपन से ही क्रिकेट खेलने का जनून सवार है और उसने अंडर-19 क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन किया है जिसके आधार पर उसका चयन बिहार रणजी ट्राॅफी मैच के लिए किया गया था। शकीब की मां ने कोलकाता रवाना होने से पहले कर्ज लेकर उसे तीन बैट दिये थे। हालांकि उन्हें क्रिकेट की बहुत समझ नहीं है लेकिन वो यह बात सुनकर बहुत खुश हैं कि उनके बेटे ने बहुत सारे रन बनाये हैं।
दो सितंबर 1999 में जन्मे शकीब ने मैट्रिक तो पास कर लिया है लेकिन ऐन इम्तिहान के वक्त मैच खेलने की जरूरत की वजह से वह इंटरमीडिएट नहीं कर सका है। शकीब के बड़े भाई फैसल गनी भी अंडर-29 क्रिकेट खेल चुके हैं और उन्हें फ्लाइट के लिए पटना छोड़ने आये शकीब को उसी वक्त यह लगा कि क्रिकेट खेलने पर हवाई जहाज से सफर का मौका मिलेगा।
शकीबुल गनी की इस कामयाबी की चर्चा इंटरनेट पर छायी हुई है और दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमी उसे बधाई दे रहे हैं।

 441 total views

Share Now

Leave a Reply