लक्ष्मी हाथ और लालटेन पर नहीं कमल पर सवार होकर आती हैं : स्मृति ईरानी

बिहार लोक संवाद न्यूज नेटवर्क
पटना 24 अक्तूबर: बिक्रम के पार्वती उच्च विद्यालय के खेल मैदान में चुनावी सभा को संबोधित करने शनिवार को पहुंची केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस और राजद पर चुटकी लेते हुए कहा कि लक्ष्मी हाथ और लालटेन पर सवार होकर नहीं आतीं। वे कमल पर सवार होकर आती हैं। इज्जत की रोटी कमाना और रहना धर्म सिखलाता है। हमारा धर्म चारा चुराना और गरीबों की रोटी छीनना नहीं सिखाता। भाजपा का धर्म है राष्ट्रीयता और मनुष्यता की रक्षा करना। युवाओं को प्रोत्साहित करना। महिलाओं का सम्मान एवं गरीबों का उत्थान।

स्मृति बिक्रम से एनडीए प्रत्याशी अतुल कुमार के पक्ष में चुनावी सभा को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि एनडीए की पहचान उसकी वफादारी और वचनबद्धता से है। बिहार को नया और विकसित देखना है तो एनडीए को जिताएं। एनडीए की सरकार बनी तो भाजपा बिहार के युवाओं को आइटी और सॉफ्टवेयर क्षेत्र में पांच लाख नौकरियां देगी। पटना और राजगीर में आइटी हब बनेगा।

स्मृति ईरानी ने कहा कि बिहार को डिजिटल बनाने के लिए कक्षा छह से ऊपर के वर्गों में कंप्यूटर की निशुल्क शिक्षा दी जाएगी। इससे युवाओं को बिहार में ही आइटी के क्षेत्र में रोजगार के अवसर मिलेंगे।

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि बिहार को एनडीए सरकार ने जंगलराज से मुक्ति दिलाया है। पहले बिहार में जंगलराज था। एनडीए की सरकार में बिहार में एलईडी का जमाना आ गया है। बिहार तथा भारत के नवनिर्माण के लिए बरौली विधानसभा में कमल का बटन दबाएं।

केंद्रीय मंत्री शनिवार को बरौली हाईस्कूल के मैदान में चुनावी सभा को संबोधित कर रही थीं। अपने संबोधन मेंं उन्होंने राजद के कार्यकाल में बिहार की बदहाल दशा के लिए राजद पर निशाना साधा तो एनडीए की सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा कि राजद के शासनकाल में बिहार में मां-बेटी दिन में भी घर से बाहर नहीं निकल पाती थीं। मां-बेटी को घर से बाहर निकलने पर यह सोचना पड़ता था कि वे सुरक्षित लौटेंगी कि नहीं। अब दिन की कौन कहे रात में भी लोग कहीं भी आ जा सकते हैं। एनडीए सरकार बिहार को जंगल राज से मुक्ति दिलाकर विकसित बिहार बनाने के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों के लिए आयुष्मान योजना शुरू किया। इस योजना से गरीब गंभीर बीमारी होने पर पांच लाख रुपये तक अपना नि:शुल्क इलाज करा रहे हैं। उज्जवला योजना से अब मां बहने रसोई गैस चूल्हा पर खाना बना रही हैं। उन्होंंने कहा कि कोरोना के समय सरकार हर गरीब को नि:शुल्क अनाज दे रही है। किसानों के खाता में सरकार रुपये भेज रही है।

 527 total views

Share Now

Leave a Reply