मिनटों में जानिये 30 विधान सभा सीट की हार-जीत का ब्योरा

बिहार लोक संवाद के लिए समी अहमद की विशेष प्रस्तुति
पटना, 14 नवंबर: पिछले अंक में आप बिहार विधान सभा 2020 चुनाव की 10 सीटों के नतीजे का संक्षिप्त ब्योरा पढ़ चुके हैं। आज यहां 30 सीटों का ब्योरा प्रस्तुत किया जा रहा है।

11. अस्थावां सीट जनता दल यूनाइटेड ने जीती
नालंदा जिले के अस्थावां विधानसभा क्षेत्र से जनता दल के जनता दल (यूनाइटेड) के जितेंद्र कुमार ने 51525 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल वोटों का 35.75% है।
राष्ट्रीय जनता दल के अनिल कुमार 39925 वोट लाकर दूसरे स्थान पर रहे। यह कुल वोटों का 27.7% है।
2015 में भी जनता दल (यूनाइटेड) के जितेंद्र कुमार ही विजय रहे थे ।
2015 में जीत का अंतर था 10444।
2020 में जीत का अंतर है 11600।
यहां से इस बार नोटा छोड़कर कुल 19 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 144108। नोटा को मिले 1102।

12. अतरी से राष्ट्रीय जनता दल जीता
गया जिले के अतरी विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के अजय यादव ने 62658 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 36.55% है। जनता दल यूनाइटेड की मनोरमा देवी 54727 वोट लाकर दूसरे स्थान पर रहीं। यह कुल वोटों का 31.93% है। लोजपा के अरविंद कुमार सिंह ने 25873 मत लाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया जो कुल मतों का 15.09% है।
2015 में राष्ट्रीय जनता दल की कुंती देवी ने जीत हासिल की थी।
2015 का अंतर था 13817।
2020 में जीत का अंतर है 7931।
यहां नोटा को छोड़कर कुल 11 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 172418। नोटा को वोट मिले 4561।

13. औराई सीट भारतीय जनता पार्टी ने जीती
मुजफ्फरपुर जिले के औराई विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के राम सूरत कुमार ने 90479 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 52.33% है।
दूसरे स्थान पर भाकपा माले के मोहम्मद आफताब आलम को 42613 मत प्राप्त हुए। यह कुल मतों का 24.65% है।
2015 में राष्ट्रीय जनता दल के सुरेंद्र कुमार ने जीत हासिल की थी। उस समय जीत का अंतर था 10825। 2020 में जीत का अंतर है 47866।
इस बार यहां नोटा को छोड़कर कुल 15 उम्मीदवार थे। यहां वोट पड़े 172891। नोटा को मिले 2237।

14. औरंगाबाद सीट कांग्रेस ने जीती
औरंगाबाद विधानसभा क्षेत्र से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के आनंद शंकर सिंह ने 70018 वोट लाकर जीत हासिल की। उनके वोट का प्रतिशत है 41.27।
दूसरे स्थान पर भारतीय जनता पार्टी के रामाधार सिंह रहे। उन्हें कुल वोट मिले 67775। यह कुल मतों का 39.95% है।
2015 में यहां से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के आनंद शंकर सिंह जीते थे। उस समय जीत का अंतर था 18398।
2020 में जीत का अंतर है 2243।
इस बार बसपा यानी बहुजन समाज पार्टी के अनिल कुमार को 18444 मत प्राप्त हुए। वे तीसरे स्थान पर रहे।
यहां से नोटा को छोड़कर कुल 9 उम्मीदवार थे। यहां कुल वोट पड़े 169654। नेता को मिले 2484।

15. बाबूबरही सीट जनता दल यूनाइटेड ने जीती
मधुबनी के बाबूबरही विधानसभा क्षेत्र से जनता दल यूनाइटेड की मीना कुमारी ने 77367 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 40.39% है।
राष्ट्रीय जनता दल के उमाकांत यादव दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें 65879 वोट मिले। यह कुल मतों का 34.39% है।
2015 में (अब स्वर्गीय) जनता दल यूनाइटेड के कपिलदेव कामत ने जीत हासिल की थी। उस समय जीत का अंतर था 20267।
2020 में जीत का अंतर है 11488।
इस बार राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के महेंद्र प्रसाद सिंह ने 11759 मत प्राप्त किए जो कुल मतों का 6.14% है। इसी तरह लोक जनशक्ति पार्टी के अमरनाथ प्रसाद ने 9818 वोट हासिल किए जो कुल वोटों का 5.13% है।
यहां से नोटा को छोड़कर कुल 13 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 191559। नोटा को मिले 4988।

16. बछवाड़ा सीट भारतीय जनता पार्टी ने जीती
बछवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के सुरेंद्र मेहता ने 54 7388 लाकर जीत हासिल की। जो कुल वोटों का 30.21% है। कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया यानी भाकपा के अवधेश अवधेश कुमार राय दूसरे साथ पर रहे। उन्हें कुल वोट मिले 54254 जो कुल वोट का 29.4% है।
2015 में यह सीट भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के रामदेव राय ने जीती थी। उस समय जीत का अंतर था 36 931।
2020 में जीत का अंतर है 484।
यहां से निर्दलीय शिव प्रकाश गरीबदास ने 39878 वोट हासिल किए जो कुल मतोम का 22.01% है। इसी तरह निर्दलीय इंदिरा कुमारी ने 9704 वोट लाए जो कुल मतों का 5.36% है।
यहां से नोटा छोड़कर कुल 19 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 181192। नोटा को मिले 945।

17. बगहा सीट भारतीय जनता पार्टी ने जीती

बघा विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के राम सिंह ने 90013 वोट लाकर जीत हासिल की। या कुल मतों का 49.51% है।
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के जयेश मंगल सिंह ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। उन्हें वोट मिले 59993। यह कुल मतों का 33% हैl
2015 में यहां से भारतीय जनता पार्टी के राघव शरण पांडे जीते थे। उस समय जीत का अंतर था 8183। 2020 में जीत का अंतर 30020 हो गया।
इस बार यहां से निर्दलीय राघव शरण पांडे तीसरे स्थान पर रहे जिन्हें 6429 वोट मिले। लोक जनशक्ति पार्टी के अतुल कुमार शुक्ला को 2364 वोट मिले।
यह कुल मतों का 3.54% है
यहां नोटा को छोड़कर कुल 15 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 182799। नोटा को मिले 3456।

18. बहादुरगंज सीट एआईएमआईएम ने जीती
बहादुरगंज विधानसभा क्षेत्र से ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के मोहम्मद अंजार नईमी ने 85855 वोट देकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 49.77% है।
विकासशील इंसान पार्टी के लखनलाल पंडित दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें वोट मिले 40640। यह कुल मतों का 23.56% है।
2015 में यहां से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मोहम्मद तौसीफ आलम जीते थे। तब जीत का अंतर था 13942।
2020 में जीत का अंतर है 45215।
इस बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मोहम्मद तौसीफ आलम 30204 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे। यह कुल मतों का 17.51% है।
यहां से नोटा छोड़कर कुल 9 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 172490। नोटा को मिले 4729।

19. बहादुरपुर सीट जदयू ने जीती
बहादुरपुर विधानसभा क्षेत्र से जनता दल (यूनाइटेड) के मदन साहनी ने 68538 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 38.5% है।
राष्ट्रीय जनता दल के रमेश चौधरी 65909 वोट लाकर दूसरे स्थान पर रहे। यह कुल मतों का 37.03% है।
2015 में यहां से राष्ट्रीय जनता दल के भोला यादव जीते थे। तब जीत का अंतर था 16989।
2020 में जीत का अंतर है 2629।
इस बार लोक जनशक्ति पार्टी के देवेंद्र कुमार झा 16873 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे। उनके वोट का प्रतिशत है 9.48।
यहां नोटा छोड़कर कुल 15 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 178011।
नोटा को मिले 3873।

20. बैकुंठपुर सीट राजद ने जीती
बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के प्रेम शंकर प्रसाद ने 67807 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 37.01% है। पिछले विजेता भारतीय जनता पार्टी के मिथिलेश तिवारी 56694 वोट लाकर दूसरे स्थान पर रहे। यह कुल वोटों का 30.95% है।
2015 में यहां से भारतीय जनता पार्टी के मिथिलेश तिवारी जीते थे। तब जीत का अंतर था 14115।
2020 में जीत का अंतर है 11113।
इस बार निर्दलीय मनजीत कुमार सिंह ने 43354 वोट लाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया उनके मतों का प्रतिशत रहा 23.67।
यहां नोटा छोड़कर कुल 13 उम्मीदवार थे। वोटों की कुल संख्या थी 183196।
नोटा को मिले 4097।

21. बायसी सीट एआईएमआईएम ने जीती
बायसी विधानसभा क्षेत्र से ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सैयद रुक्नुद्दीन अहमद ने 68416 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल वोटों का 38.27% है।
भारतीय जनता पार्टी के विनोद कुमार ने 52043 वोट लाकर दूसरा स्थान प्राप्त किया। यह कुल वोटों का 29.11% है।
2015 में यहां से राष्ट्रीय जनता दल के अब्दुस सुभान जीते थे। तब जीत का अंतर था 38740।
2020 में जीत का अंतर है 16373।
पिछले विजेता राष्ट्रीय जनता दल के अब्दुस सुबहान 38254 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे। उनके वोटों का प्रतिशत रहा 21.4।
नोटा छोड़कर यहां कुल 12 उम्मीदवार थे। वोटों की कुल संख्या थी 178787। नोटा को मिले 3042।

22. बाजपट्टी सीट राजद ने जीती
बाजपट्टी विधान सभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के मुकेश कुमार यादव ने 71483 वोट लाकर जीत हासिल हासिल की। उनके वोटों का प्रतिशत रहा 40.21।
पिछली विजेता जनता दल (यूनाइटेड) की डॉक्टर रंजू गीता 68779 वोट पाकर दूसरे स्थान पर रहीं। उनके वोटों का प्रतिशत रहा 38.69।
2015 में यहां से जनता दल (यूनाइटेड) की डॉक्टर रंजू गीता ही जीती थीं। तब जीत का अंतर था 16946।
यहां लोक जनशक्ति पार्टी के मोहम्मद इंतखाब आलम ने 6183 मत प्राप्त किए जो कुल वोटों का 3.48% है। ये वोट जीत हार के अंतर से अधिक हैं।
2020 में यह अंतर है 2704।
नोटा छोड़कर यहां कुल 20 उम्मीदवार थे। वोटों की कुल संख्या थी 177777। नोटा को मिले 1441।

23. बखरी सीट सीपीआई ने जीती
बकरी विधानसभा क्षेत्र से कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया यानी माकपा के सूर्यकांत पासवान ने 72177 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 44.14% है। भारतीय जनता पार्टी के राम शंकर पासवान 714008 लाकर दूसरे स्थान पर रहे।
यह कुल मतों का 43.67% है।
2015 में यहां से राष्ट्रीय जनता दल के उपेंद्र पासवान जीते थे तब जीत का अंतर था 40256।
2020 में जीत का अंतर है 777।
इस बार यहां से राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विजय पासवान 3857 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे जो कुल वोटों का 2.36% है।
नोटा छोड़कर यहां कुल 13 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 163507। नोटा को 2313 वोट मिले।

24. बख्तियारपुर सीट राजद ने जीती
बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के अनिरुद्ध कुमार ने 89483 लाकर जीत हासिल की। यह कुल वोटों का 5 2.17% है।
पिछले विजेता भारतीय जनता पार्टी के रणविजय सिंह ने 68811 वोट लाकर दूसरा स्थान प्राप्त किया। उनके वोटों का प्रतिशत रहा 40.12।
2015 में यहां से भारतीय जनता पार्टी के ही रणविजय सिंह जीते थे। तब जीत का अंतर था 7902।
2020 में जीत का अंतर है 20672।
तीसरे स्थान पर रहे राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विनोद यादव जिन्हें 1893 वोट मिले।
यहां नोटा छोड़कर कुल 14 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 171515। नोटा को मिले 3744।

25. बलरामपुर सीट भाकपा माले ने जीती
कटिहार जिले के बलरामपुर विधानसभा क्षेत्र से भाकपा माले के महबूब आलम ने वोट लेकर अपनी सीट बरकरार रखी। उन्हें 51.11% मत मिले।
विकासशील इंसान पार्टी के वरुण कुमार झा 50892 वोट जाकर दूसरे स्थान पर रहे। उनके वोटों का प्रतिशत है 24.89।
2015 में भी इसी पार्टी से महबूब आलम ही जीते थे। तब जीत का अंतर था 20419।
2020 में जीत काअंतर है 53597।
यहां लोक जनशक्ति पार्टी की संगीता देवी को 8949 वोट मिले।
नोटा छोड़कर कुल 14 उम्मीदवार मैदान में थे। वोटों की संख्या थी 204439। नोटा को मिले 5166।

26.  बनियापुर सीट राजद ने जीती
बनियापुर विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के केदारनाथ सिंह ने 65194 वोट लाकर लगातार दूसरी जीत हासिल की। उनके वोटों का प्रतिशत है 38.74।
दूसरे स्थान पर विकासशील इंसान पार्टी के विरेंद्र कुमार ओझा रहे। उन्हें 37405 वोट मिले। यह कुल वोट का 22.23% है।
यहां से लोक जनशक्ति पार्टी के तारकेश्वर सिंह को 33082 वोट मिले जो कुल वोट का 19.66% है।
2015 में यहां से राष्ट्रीय जनता दल के केदारनाथ सिंह ही जीते थे तब जीत का अंतर था 1595।
2020 में जीत का अंतर है 27789।
नोटा छोड़कर यहां कुल 13 उम्मीदवार थे। वोटों की कुल संख्या थी 168297। नोटा को मिले 4657।

27.  बांका सीट भारतीय जनता पार्टी ने जीती
बांका विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के रामनारायण मंडल ने 69762 वोट लाकर जीत अपनी सीट बरक़रार रखी। उनके वोट का प्रतिशत है 43.8।
राष्ट्रीय जनता दल के जावेद अंसारी दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें 52934 वोट मिले जो कुल वोटों का 33.24% है।
2015 में यहां से भारतीय जनता पार्टी के रामनारायण मंडल ही जीते थे। तब जीत का अंतर 3730 था।
2020 में जीत का अंतर 16828 है।
यहां तीसरे स्थान पर रहे राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के कौशल कुमार सिंह। उन्हें 10996 वोट मिले जो 6.9% है।
नोटा छोड़ कर यहां कुल 19 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 15 9271। नोटा को मिले 1084 वोट।

28. बांकीपुर सीट भारतीय जनता पार्टी जीती
पटना जिले के बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के नितिन नवीन ने 83068 वोट लाकर इस सीट पर कब्ज़ा बरक़रार रखा। यह कुल वोट का 59.05% था।
दूसरे स्थान पर रहे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लव सिन्हा। उन्हें 44032 वोट मिले जो कुल मतों का 31.3% है।
2015 में जीत का अंतर था 39767 इस बार जीत का अंतर है 39036।
प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया को 5189 मत मिले जो कुल वोट का 3.69% है।
नोटा को छोड़कर यहां 22 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 14083। नोटा को मिले 12 13 वोट।

29.  बनमनखी सीट भाजपा ने जीती
भारतीय जनता पार्टी के कृष्ण कुमार ऋषि ने 93594 वोट लाकर अपनी सीट बरकरार रखी। यह कुल मतों का 51.74 प्रतिशत है।
दूसरे स्थान पर राष्ट्रीय जनता दल के उपेंद्र शर्मा रहे। उन्हें 65851 वोट मिले। यह कुल मतों का 36.41% है।
2015 में भारतीय जनता पार्टी के कृष्ण कुमार ऋषि ही जीते थे। तब जीत का अंतर महज़ 708 था।
2020 में जीत का अंतर 27743 है।
यहां तीसरा सबसे अधिक 5384 वोट नोटा को मिला।
चौथे स्थान पर निर्दलीय उम्मीदवार श्यामदेव पासवान थे जिन्हें 3845 वोट मिले।
नोटा को छोड़कर यहां कुल 13 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 180879।

30. बाराचट्टी सीट हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा ने जीती
गया जिले के बाराचट्टी विधानसभा क्षेत्र से हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) की ज्योति देवी ने 72491 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 39.21 प्रतिशत है।
दूसरे स्थान पर राष्ट्रीय जनता दल की समता देवी रही। उन्हें 6617 3 वोट मिले जो कुल मतों का 35.79% है।

2015 में यहां राष्ट्रीय जनता दल की समता देवी जीती थीं। तब जीत का अंतर था 19126।
2020 में जीत का अंतर है 6318।
यहां लोक जनशक्ति पार्टी की रेणुका देवी तीसरे स्थान पर रहीं। उन्हें 11244 वोट मिले। यह कुल मतों का 6.08% है।
नोटा छोड़कर यहां कुल 13 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 184902। नोटा को मिले 3767 वोट।

31. बरारी सीट जदयू ने जीती
बरारी विधानसभा क्षेत्र से जनता दल (यूनाइटेड) के विजय सिंह ने 81752 वोट लाकर जीत हासिल की।
उनके वोटों का प्रतिशत है 44.71।
दूसरे स्थान पर राष्ट्रीय जनता दल के नीरज कुमार रहे। उन्हें 71314 वोट मिले। यह कुल मतों का 39% है।
2015 में यहां से नीरज कुमार ने जीत हासिल की थी। तब जीत का अंतर था 14336।
2020 में जीत का अंतर है 10438।
लोक जनशक्ति पार्टी के विभाष चंद्र चौधरी 7920 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे।
नोटा छोड़कर यहां कुल 14 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 182851।
नोटा को मिले 3652 वोट।

32. बरौली सीट भाजपा ने जीती

बरौली विधसनसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के रामप्रवेश राय ने 81956 वोट लाकर जीत हासिल की। उनके वोटों का प्रतिशत रहा 46.55।
दूसरे स्थान पर राष्ट्रीय जनता दल के रियाजुल हक उर्फ राजू रहे। उन्हें 67801 वोट मिले। यह कुल मतों का 38.51% है।
2015 में यहां राष्ट्रीय जनता दल के मोहम्मद नेमतुल्लाह जीते थे। तब जीत का अंतर महज 504 था। 2020 में जीत का अंतर है 14155।
नोटा छोड़कर यहां कुल 18 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 176066।
नोटा को मिले 676 वोट।

33. बरबीघा सीट जदयू ने जीती
शेखपुरा जिले के बरबीघा विधानसभा क्षेत्र से जनता दल (यूनाइटेड) के सुदर्शन कुमार ने 39878 वोट लाकर जीत हासिल की। उनके वोटों का प्रतिशत है 33.19।
दूसरे स्थान पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के गजानंद शाही रहे। उन्हें 3976 5 वोट मिले जो कुल वोटों का 33.09% है।
2015 में यहां से भारतीय जनता पार्टी के ज्ञानेंद्र कुमार सिंह जीते थे। तब जीत का अंतर था 8359। 2020 में जीत का अंतर है महज 113।
लोक जनशक्ति पार्टी के मधुकर कुमार ने 18930 मत प्राप्त किए जो कुल वोटों का 15.75% है।
नोटा को छोड़कर यहां कुल 10 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 120166 को मिले। नोटा को मिले 3639 वोट।

34. बाढ़ सीट से भाजपा जीती
पटना जिले के बाढ़ विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने 49327 लाकर सीट बरक़रार रखी। उन्हें 32.94 प्रतिशत वोट मिले।
दूसरे स्थान पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सत्येंद्र बहादुर रहे। उन्हें 39087 वोट मिले जो कुल मतों का 26.1% है।
2015 में भी भारतीय जनता पार्टी के ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ही जीते थे। तब जीत का अंतर था 8359।
2020 में जीत का अंतर है 10240।
यहां से निर्दलीय उम्मीदवार कर्णवीर सिंह यादव ने 38406 वोट लाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया उनके वोटों का प्रतिशत है 25.65।
नोटा को छोड़कर यहां कुल 18 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 14 9739। नोटा को मिले 1461 वोट।

35.  बरहरा सीट भाजपा ने जीती
भोजपुर जिले के बरहरा विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के राघवेंद्र प्रताप सिंह ने 76182 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 46.15% है।
राष्ट्रीय जनता दल के सरोज यादव दूसरे स्थान पर रहे। यह कुल मतों का 43.13% है।
2015 में राष्ट्रीय जनता दल के सरोज यादव यहां से जीते थे। तब जीत का अंतर था 13308।
2020 में जीत का अंतर है 4973।
तीसरे नंबर पर निर्दलीय आशा देवी रहीं जिन्हें 7203 वोट मिले।
नोटा छोड़कर यहां कुल 10 उम्मीदवार थे। वोट पड़े 165087। नोटा को मिले 2784।

36. बड़हरिया सीट राजद ने जीती
सीवान जिले के बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के बच्चा पांडे ने 71793 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 41.62% है।
यहां जनता दल (यूनाइटेड) के श्याम बहादुर सिंह दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें 68234 मत मिले ।यह कुल मतों का 39.55% है।
2015 में जनता दल यूनाइटेड के श्याम बहादुर सिंह जीते थे। तब जीत का अंतर था 14583।
2020 में जीत का अंतर है 3559।
यहां लोक जनशक्ति पार्टी के वीर बहादुर सिंह 5065 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे।

नोटा छोड़कर यहां कुल 14 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 172508। नोटा को मिले 4231 वोट।

37. बरुराज सीट भाजपा ने जीती
मुजफ्फरपुर के बरूराज विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के अरुण कुमार सिंह ने 87407 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 49.47% है.।
दूसरे स्थान पर राष्ट्रीय जनता दल के नंद कुमार राय रहे। यह कुल मतों का 24.76% है।
यहां से बहुजन समाज पार्टी के हीरालाल खड़िया तीसरे स्थान पर रहे। उन्हें 22650 वोट मिले जो कुल का 12.82% है।
2015 में राष्ट्रीय जनता दल के नंद कुमार राय जीते थे। तब जीत का अंतर था 4909।
2020 में जीत का अंतर है 43654।
नोटा को छोड़कर यहां कुल 14 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 176676। नोटा को मिले 5160 वोट।

38. बथनाहा सीट भाजपा ने जीती
सीतामढ़ी जिले के बथनाहा विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के अनिल कुमार ने 92648 वोट लाकर जीत हासिल की। यह कुल मतों का 54.15% है।
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संजय राम दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें चार 45830 वोट मिले। यह कुल मतों का 26.79% है।
2015 में भारतीय जनता पार्टी के दिनकर राम जीते थे। तब जीत का अंतर था 20166।
2020 में जीत का अंतर है 46818।
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के चंद्रिका पासवान 15322 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे।
नोटा छोड़कर यहां कुल 14 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 171093।
नोटा को मिले 5240 वोट।

39.  बेगूसराय सीट भाजपा ने जीती
बेगूसराय विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के कुंदन कुमार ने 7421 साथ वोट लाकर जीत हासिल की। कुल वोटों का 39.66% है।
यहां दूसरे स्थान पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अमिता भूषण रहीं। उन्हें 69663 वोट मिले। यह कुल मतों का 37.23% है।
2015 में अमिता भूषण नहीं जीत हासिल की थी। तब जीत का अंतर था 1653 एक।
2020 में जीत का अंतर है 4554।
यहां राष्ट्रीय लोक समता पार्टी की संजू कुमारी ने 5531 वोट लाए।
निर्दलीय राजेश कुमार ने 18002 वोट लाए।
नोटा छोड़कर यहां कुल 18 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 187135। नोटा को मिले 930 वोट।

40. बेलागंज सीट राजद ने जीती
गया जिले के बेलागंज विधानसभा क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल के सुरेंद्र प्रसाद यादव ने 79708 वोट लाकर जीत बरकरार रखी। यह कुल मतों का 46.91% है।
जनता दल यूनाइटेड के अभय कुमार सिन्हा दूसरे स्थान पर रहे। उन्हें 55745 वोट मिले। यह कुल मतों का 32.81% है।
2015 में राष्ट्रीय जनता दल के सुरेंद्र प्रसाद यादव जीते थे। तब जीत का अंतर था 30341।
2020 में जीत का अंतर है 23963।
यहां लोक जनशक्ति पार्टी के रामाश्रय शर्मा 12005 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे।
निर्दलीय सैयद शाहिद अली ने 4411 वोट लाए।
नोटा छोड़कर यहां कुल 13 उम्मीदवार थे। कुल वोट पड़े 169907।
नोटा को मिले 3071 वोट।

(जारी)

 314 total views

Share Now

Leave a Reply