पुलिस नहीं, पजिन खोजते रहे अशरफ को, पांचवें दिन मिली लाश

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट
20 जून से अपनी सफेद स्काॅर्पियो के साथ लापता समनपुरा, पटना के निवासी मोहम्मद अशरफ की लाश 24 जून को अररिया के महलगांवा थाने में पड़ने वाले करियात कैम्प के पास पानी भरे गड्ढे में मिली। पुलिस का कहना है कि उनकी हत्या गला दबाकर की गयी है। श्री अशरफ की पत्नी और उनके दो बच्चे अब बेसहारा हो गये हैं।
चार दिन तक श्री अशरफ के रिश्तेदार पटना से अररिया तक उन्हें ढूंढ़ते रहे जबकि पुलिस कुछ नहीं कर सकी। हद तो यह है कि पटना एयरपोर्ट की पुलिस इसे गंभीरता से न लेते हुए महज गुमशुदगी का सन्हा दर्ज कर के बैठ गयी। अब पुलिस वाले कह रहे कि सीसीटीवी फूटेज देखकर अपराधियों की तलाश कर रहे हैं।
यही नहीं घरवालों का आरोप है कि अररिया पुलिस ने भी 22 जून को बहुत आरजू-मिन्नत के बाद एफआईआर दर्ज की।
श्री अशरफ अपनी स्काॅर्पियो रजिस्ट्रेशन नंबरः बीआर01 पीजे 2100- के साथ 20 जून को सवारी लेकर पूर्णिया के लिए रवाना हुए थे। उनके घर वालों ने आशंका जतायी थी कि उनके साथ कोई बड़ी अप्रिय घटना हुई है। श्री अशरफ इस कार के मालिक थे और वे खुद ड्राइविंग कर रहे थे।
इस बारे में पटना एयरपोर्ट थाने में सन्हा दर्ज कराया गया था और अररिया के आदर्श थाने में आईपीसी की धारा 364/365 के तहत एफआईआर 505/21 दर्ज की गयी थी। श्री अशरफ के फोन नंबर 9334057762 का लास्ट लोकेश लठोरा, अररिया मिला था।
प्राथमिकी के अनुसार जिस व्यक्ति ने गाड़ी बुक की थी, उसके आधार कार्ड में उसका नाम अक्षय कुमार गुप्ता लिखा था। पुलिस कह रही है कि सवार बनकर आये लुटेरे ने यह आधार कार्ड कैसे हासिल की, इसकी जांच हो रही है।

 

 474 total views

Share Now

Leave a Reply