अल्पसंख्यकों को रोजगार के लिए रियायती कर्ज स्कीम, आवेदन 7 फरवरी से 8 मार्च तक

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। बिहार सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अंतर्गत बिहार स्टेट माइनॉरिटीज फाइनेंशियल कॉरपोरेशन ने राज्य के अल्पसंख्यक समुदायों को रोजगार के लिए रियायती दर पर क़र्ज़ देने की तारीख का ऐलान कर दिया है।
इस स्कीम का नाम है ‘ मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना’। इसके तहत राज्य के मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध, पारसी और जैन समुदाय को लघु ऋण के तहत अधिकतम 2 लाख रुपये व वृहत्त ऋण के तहत अधिकतम 5 लाख रुपये का कर्ज दिया जाता है। इसके लिए 5% सालाना सूद लिया जाएगा।

इस बार वित्तीय वर्ष 2020-21 और 2021-22 के लिए क़र्ज़ दिया जाएगा हालांकि इनके लिए एक ही आवेदन लिया जाएगा।
इस स्कीम के लिए आवेदन ज़िले के सहायक निदेशक या अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय में हाथोहाथ या डाक के माध्यम से जमा किया जा सकता है।
कर्ज देने का फैसला ज़िला स्तरीय चयन समिति की अनुशंसा पर होगा।
आवेदक के लिए पात्रता
इस लिए आवेदक की उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक उसी जिले के निवासी हो जहां योजना का लाभ लिया जाना है। आवेदक सरकारी या अर्द्ध सरकारी सेवा में ना हो। आवेदक की पारिवारिक वार्षिक आय 4 लाख रुपये से अधिक न हो। मुस्लिम को छोड़कर अन्य अल्पसंख्यक हेतु उनके धर्म संबंधी प्रमाण पत्र संबंधित धर्मावलंबी संस्थान द्वारा निर्गत हो।
अन्य शर्तों के लिए सम्बंधित कार्यालय या वेबसाइट से जानकारी ली जा सकती है।
किन रोजगारों के लिए कर्ज मिलेगा?
लघु ऋण यानी जिस ऋण के अंतर्गत अधिकतम 2 लाख रुपये तक का कर्ज मिल सकता है उसके लिए निम्नांकित रोजगारों की अनुमति है ब्यूटी पार्लर, जनरल स्टोर, स्टेशनरी दुकान, चूड़ी लहठी दुकान, फॉर्चून, किराना दुकान, इलेक्ट्रॉनिक सामग्री की दुकान, क्रोकरी की दुकान, प्लास्टिक की दुकान, ऑटो मोबाइल रिपेयर, स्पेयर पार्ट्स की दुकान, टेलरिंग एवं एंब्रॉयडरी की दुकान, टी स्टॉल, पान की दुकान, चाय-नाश्ता की दुकान, बकरे/मुर्गा मांस की दुकान, टायर ट्यूब रिपेयर की दुकान, अंडा की दुकान, मोमबत्ती/ अगरबत्ती बनाना, मोटर रिवाइंडिंग, एप्लिक वर्क, जूट बैग का निर्माण, मोबाइल/ लैपटॉप रिपेयर, आटा-चक्की मसाला पिसाई उद्योग, तेल घानी उद्योग, ई-रिक्शा एवं फल सब्जी की दुकान आदि।
वृहत ऋण
इसके तहत 2 लाख रुपये से 5 लाख रुपये का कर्ज दिया जाता है।
इसके लिए मोबाइल दुकान, ब्लॉक प्रिंटिंग मशीन, चूड़ी लहठी कारखाना, सीप उद्योग, गेट-ग्रिल निर्माण, राइस/चूड़ा टुडे मिल, जनरेटर, डेस्कटॉप प्रिंटिंग, कंप्यूटर स्पेयर एवं दुकान, टेंपो, मिनी वैन, मालवाहक वाहन, स्कॉर्पियो, बोलेरो, रेडीमेड, फर्नीचर शॉप, जूता चप्पल दुकान, कपड़ा की दुकान, अनाज खरीद बिक्री, बिल्डिंग मटेरियल, दवा की दुकान, मुर्गी पालन, इलेक्ट्रॉनिक की दुकान, मिनरल वाटर प्लांट, ज्वेलरी की दुकान, हार्डवेयर की दुकान, पैथॉलजी, कोचिंग इंस्टीट्यूट, बेकरी, फ्लैक्स एवं डिजिटल प्रिंटिंग दुकान, मेडिकल इक्विपमेंट, स्टील फैब्रिकेशन और टायर-ट्यूब दुकान आदि।

 370 total views

Share Now

Leave a Reply