इस साल भी रमज़ान के दौरान नहीं होगी मस्जिदों में नमाज़-ए-जुमा, घर बन गया है मुक़द्दस मक़ाम

सैयद जावेद हसन, बिहार लोक संवाद डाॅट नेट

बिहार में तेज़ी से फैलते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कई तरह की सख़्त हिदायतें जारी की हैं। इनमे धर्मिक स्थलों पर तालाबंदी भी है। हिदायतों की चपेट में हिन्दुओं का चैत्रा नवरात्रा एवं रामनवमी, सिखों का वैशाखी और मुसलमानों का मुक़द्दस महीना रमज़ान भी आ गया है। इस साल के रमज़ान का पहला जुमा 16 अप्रील को है।

रमज़ान के दौरान मस्जिदों में सामूहिक रूप से तरावीह जैसी नमाज़ होती है। इसके अलावा ऐतिकाफ़ का एहतिमाम होता है। एतिकाफ़ में नमाज़ी कुछ दिनों के लिए घर-बार छोड़ कर मस्जिद में रहकर इबादतें किया करते हैं। खाना-पीना और बाक़ी दिनचर्या वे मस्जिद में ही अंजाम दिया करते हैं। शब-ए-क़द्र की पांच रातों में भी मस्जिदों में ख़ास तौर से इबादतें होती हैं। धर्मिक स्थलों पर तालाबंदी से इस तरह की इबादतें मस्जिदों में मुश्किल हो गई हैं।

वरिष्ठ पत्राकार अहमद रज़ा हाशमी ने इन तमाम सूरतेहाल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि धर्मिक स्थलों पर तालाबंदी का एक सकारात्मक पहलू भी है। लोग घर पर ही ज़्यादा से ज़्यादा इबादतें कर रहे हैं। घरों में तरावीह का एहतेमाम हो रहा है। सियासी दावत-ए-इफ़तार जैसी परंपरा स्थगित हो गई है।

पिछले साल भी माह-ए-रमज़ान कोरोकाल में गुज़र गया था। लोगों ने ईद की नमाज़ तक घरों में ही पढ़ी थी।

इस बीच पटना के  जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह  ने सार्वजनिक स्थलों पर रामनवमी/ छठ पूजा /जुम्मे की नमाज के आयोजन पर प्रतिबंध का सफल एवं प्रभावी कार्यान्वयन हेतु सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं कार्यपालक पदाधिकारी को सभी हितधारकों यथा पूजा समिति के सदस्यों/वार्ड पार्षदों/जनप्रतिनिधियों/ के साथ बैठक करने तथा लोगों को सार्वजनिक स्थलों पर रामनवमी/छठ पूजा/जुम्मे की नमाज अदा नहीं करना है , के बारे में जानकारी देने को कहा।

छठ घाटों पर छठ पूजा का आयोजन करना मना है , संबंधी फ्लेक्स घाटों पर लगाने का निर्देश दिया ताकि लोगों को पूर्व से ही इसकी जानकारी रहे तथा लोग सुरक्षित होकर सावधानी से अपने अपने घरों में ही छठ पूजा करें। रामनवमी के अवसर पर कोई जुलूस नहीं निकाले जाएंगे। संक्रमण के खतरे को देखते हुए सार्वजनिक स्थल पर रामनवमी पूजा का आयोजन नहीं होंगे। इसके अतिरिक्त अभी रमजान का महीना चल रहा है। जुम्मे की नमाज सार्वजनिक स्थल- मस्जिद में अदा नहीं करनी है बल्कि लोग अपने अपने घरों में ही जुम्मे की नमाज अदा करें।

जिलाधिकारी ने लोगों को जानकारी देने हेतु क्षेत्र में माइकिंग करने, संबंधित हितधारकों के साथ बैठक करने तथा सार्वजनिक स्थलों पर रामनवमी /छठ पूजा /जुम्मे की नमाज के आयोजन पर प्रतिबंध संबंधी जानकारी लोगों को देने तथा कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। इस संबंध में जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से अपने अपने अनुमंडलीय क्षेत्र मे उक्त पूजा के सार्वजनिक स्थलों पर आयोजन के रोक लगाने संबंधी तैयारी के बारे में अनुमंडलवार जानकारी प्राप्त की। इस आदेश का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने हेतु सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को जगह जगह पर दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने सभी कार्यपालक पदाधिकारी को अपने-अपने अंचल में वार्ड पार्षदों के साथ बैठक करने तथा उन्हें जानकारी देने एवं अपेक्षित सहयोग प्राप्त करने का निर्देश दिया।

Featured image: Jama Masjid near Patna Junction

Credit: Imran Saghir, Senior Urdu Journalist

 

 368 total views

Share Now

Leave a Reply