बेऊर जेल, पटना के कैदियों की भूख हड़ताल समाप्त, जेल प्रशासन झुका, मांगें पूरी 

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना।आदर्श कारा बेउर बंदी कल्याण समिति के नेतृत्व में  जेल के अंदर परिजनों से मुलाकात चालू कराने तथा खाद्य सामग्री को बाहर से लाने की मांग पर बंदी कल्याण समिति के नेतृत्व में सैकड़ों कैदियों ने गुुरुवार भूख हड़ताल की तो जेल प्रशासन झुका और बंदियों की मांगें पूरी कीं।

करोना काल से ही बेउर जेल के बंदियों से मिलने जुलने के काम परिवार को तो रोक दिया गया था । ना तो परिवार के लोग मिल सकते थे न किसी तरह के खाद्य सामग्री बाहर से आ जा सकता था । राज्य सरकार के दिशा निर्देश के बावजूद भी पटना के आदर्श बेऊर कारा जबरदस्ती परिवार वालों से मिलने जुलने पर रोक लगा दी थी और सूखी सामग्री भी देने पर पाबंदी लगा दी थी। इसके विरोध में कैदियों के अंदर जबरदस्त आक्रोश था।

यह जानकारी संजय रविदास, विधायक प्रतिनिधि, फुलवारी शरीफ ने दी है। उन्होंने बताया कि सभी आक्रोशित बंदी लोग 28 अक्टूबर को मंदी कल्याण समिति के श्रीकांत दास के नेतृत्व में गेट पर अंदर में आकर भूख हड़ताल पर बैठ गए । इस हड़ताल की खबर तमाम मीडिया, प्रशासनिक पदाधिकारी, अंदर और बाहर सभी को पत्र के माध्यम से बंदी कल्याण समिति के द्वारा लिखित रूप से दी गई थी ।

कार्यक्रम के अनुसार बंदी कल्याण समिति के नेता श्रीकांत दास के नेतृत्व में बेऊ कारोना के अंदर गेट के पास हजारों कैदी भूख हड़ताल कर धरना पर बैठ कर अंदर में नारेबाजी करने लगे जिसकी गूंजे बेऊर प्रशासन तक पहुंची और एक घंटा के बाद जेल सुपरिटेंडेंट बेवर कार्यालय बंदियों की मांगों को पूरा कर दिया ।
जेल सुपरिटेंडेंट ने कहा कि 1 नवंबर से सभी कैदी के परिवार मिल सकते हैं साथ ही साथ झोला में 1 किलो अनाज ही सूखा हर तरह के आइटम ले जा सकते हैं। इस जीत पर कैदियो के बीच काफी हर्षोल्लास रहा । बंदी कल्याण समिति ने सफल हड़ताल के लिए तमाम कैदियों को धन्यवाद देते हुए आगे भी एकजुटता कायम रहने की अपील की है। बंदी कल्याण समिति के नेता ने कहा कि एकजुटता के बल पर ही हम बंदी कल्याण समिति के माध्यम से बंदियों की मांगे पूरी हो सकती है ।

 391 total views

Share Now

Leave a Reply