छपी-अनछपी: आरजेडी का प्रस्ताव- 2024 में भाजपा हटाएं, अम्बेडकर की बात पर मंत्री हटे

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना। राष्ट्रीय जनता दल की दिल्ली में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 2024 में भाजपा को केंद्र की सत्ता से बेदखल करने, जातीय गणना कराने और प्राइवेट नौकरियों में आरक्षण पर प्रस्ताव पारित हुए हैं। दिल्ली में ही अरविन्द केजरीवाल सरकार के एक मंत्री से इस वजह से इस्तीफा ले लिया गया कि उन्होंने संविधान निर्माता भीम राव अम्बेडकर के 22 संकल्प दोहराए थे जिनमें हिन्दू देवी देवताओं पर विश्वास न करने की बात भी शामिल थी। इनमें से पहली खबर तो हर अखबार में प्रमुखता से छपी है लेकिन दूसरी खबर अंदर है।

जागरण में सबसे बड़ी खबर है: निजी क्षेत्रों में भी आरक्षण के लिए जल्द ही प्रभावी पहल करेगा राजद। इससे संबंधित जागरण की दूसरी खबर है: आरएसएस की विचारधारा के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगा राजद। प्रभात खबर की सबसे बड़ी खबर है: केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ व जातीय गणना करने का प्रस्ताव पेश। हिन्दुस्तान में भी यह खबर पहले पेज पर है जिसकी सुर्खी है: 2024 में भाजपा की शुरू होगी उल्टी गिनती: राजद।

हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर है: तीन एनएच के निर्माण की रुकावटें होंगी दूर। इसमें बताया गया है कि एनएच अथॉरिटी और भूमि एवं राजस्व विभाग की बैठक में 11 शहरों में आ रही जमीन संबंधी बाधा को दूर करने पर चर्चा हुई। ये तीनों एनएच भारतमाला परियोजना में शामिल आमस (गया) – दरभंगा एनएच-119डी, हाजीपुर-मुजफ्फरपुर एनएच-77 और एनएच-80 हैं। उम्मीद की गई है कि अब इनका निर्माण कार्य तेजी से हो सकेगा।
प्रभात खबर की दूसरी सबसे बड़ी और एक्सक्लुसिव खबर है: यौन उत्पीड़न में फंसे डीआईजी रेल, सीएम के निर्देश पर सीआईडी जांच, पाए गए दोषी। यह मामला रेल और एससीआरबी के डीआईजी राजीव रंजन पर 2018 में लगे आरोपों का है। आरोप लगाने वाली महिला से इनकी दोस्ती फेसबुक पर हुई थी।
प्रभात खबर और भास्कर में एक अहम सुर्खी है: सीओ की लापरवाही से डीएम की कोर्ट में पेशी, निलंबित। यह मामला फुलवारी शरीफ के प्रभारी अंचलाधिकारी चंदन कुमार की लापरवाही का है जिनके पास अतिक्रमण हटाने के लिए आवेदन दिया गया था। एक पीड़ित ने केस किया तो पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर को हाई कोर्ट में पेश होना पड़ा। सीओ चंदन पर 4900 से अधिक दाखिल खारिज के मामले लटकाने का भी आरोप है।
घरेलू गैस इस्तेमाल करने वाले के लिए एक और परेशानी में डालने वाली खबर है। खबरों में बताया गया है कि 1 माह में दो और साल में 15 गैस सिलेंडर ही मिलेंगे। किसी उपभोक्ता को अगर उससे अधिक सिलेंडर की जरूरत होगी तो उन्हें इसका कारण बताना होगा।
भास्कर ने लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप और आरजेडी नेता श्याम रजक के बीच विवाद को प्रमुख स्थान दिया है। तेज प्रताप ने श्याम रजक पर गाली देने का आरोप लगाया तो श्याम रजक ने जवाब दिया: समरथ को नहीं दोष गोसाईं।
हिन्दुस्तान ने अपने देश विदेश पर प्रधानमंत्री मोदी का एक बयान दिया है: जनता ने जाति देखे बिना चुनाव जिताया।
इसमें बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि गुजरात की जनता ने उन्हें पिछले दो दशकों से आशीर्वाद देती आयी है। प्रधानमंत्री ने मेहसाणा स्थित मोढेरा को देश का पहला ‘सौर ग्राम’ घोषित किया।
यह बात रोचक है कि जनता ने जाति नहीं देखी लेकिन नेता ने अपनी जाति ज़रूर बताई। श्री मोदी को ओबीसी का बताकर वोट मांगने के आरोप लगते रहे हैं।
अनछपी: दिल्ली के अखबारों में यह खबर प्रमुखता से छपी है जिसमे शपथ विवाद में घिरे मंत्री राजेंद्र पाल गौतम के इस्तीफे की सूचना है। हिन्दुस्तान ने इस बारे में बताया है कि दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने रविवार को इस्तीफा दे दिया। बीती पांच अक्तूबर को एक कार्यक्रम में हिंदू देवी-देवताओं को न मानने की शपथ का वीडियो सामने आने के बाद वे विवाद में घिरे हुए हैं। सूत्रों की मानें तो खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उनसे बेहद नाराज थे। भारत में हिंदुत्व की राजनीति का इतना खौफ है कि अरविंद केजरीवाल इस बात को बर्दाश्त नहीं कर सके कि उनके मंत्री ने अंबेडकर के उन संकल्पों को दोहराया जिनमें हिंदू देवी-देवताओं को न मानने की प्रतिज्ञा ली गयी थी। केजरीवाल खुद को भाजपा विरोधी के रूप में पेश करते हैं लेकिन सही मायनों में वह भाजपा की उन्हीं नीतियों पर चलते हैं जिसके लिए सेक्युलर विचारधारा के लोग उसकी आलोचना करते हैं। कहा जा रहा है कि इस समय केजरीवाल को गुजरात में चुनाव लड़ना है और वह इस तरह की बात मैं अपनी पार्टी का नुकसान देख रहे थे।

 452 total views

Share Now

Leave a Reply