दरभंगा के Dr. Jilani जिन्होंने प्लेन में लौटाई संतोष की अटकी सांस

बिहार लोक संवाद डॉट नेट, पटना।

2 नवंबर को डॉक्टर नदीम जिलानी जब दिल्ली से दोहा, क़तर की फ्लाइट पर सवार हुए तो उनके ख्वाब ओ ख्याल में यह बात नहीं होगी कि उनकी डॉक्टरी किसी की सांस लौटाने में काम आएगी, वह भी हवा में तैरते जहाज़ में।
दिल्ली से फ्लाइट को टेक ऑफ के एक घन्टा बीता था कि एलान हुआ कि क्या कोई डॉक्टर यहां हैं? फौरन डॉक्टर जलील ने अपनी सेवा पेश की। उन्होंने देखा कि लगभग 45 साल का एक आदमी टॉयलेट के पास गिरा हुआ है। उनकी सांस रुकी हुई थी। डॉक्टर जिलानी ने फौरन उनकी सांस लौटाने के लिए सीने को दबाना शुरू किया। 20-25 सेकंड में उनकी कराह निकली फिर सांस वापस। संतोष को थोड़ी चौड़ी जगह पर लाया गया। पैरों को ऊपर किया गया।
इस तरह हैदराबाद के रहने वाले संतोष की हालत बेहतर हुई। संतोष के साथ डॉक्टर जिलानी को बिज़नेस क्लास में जगह दी गयी। इसके बाद सारे क्रू मेंबर ने डॉक्टर जिलानी का शुक्रिया अदा किया।

 443 total views

Share Now

Leave a Reply