Bihar में फिर हुई Mob Lynching, पुलिस निष्क्रिय

बिहार लोक संवाद डॉट नेट

नालंदा जिले के सोहसराय थाना का ये बोर्ड देखिये। इस पर लिखा है: नालंदा पुलिस सदैव तत्पर। लेकिन मॉब लिंचिंग के मामले में पुलिस की तत्परता देखने को नहीं मिल रही है।

मॉब लिंचिंग का ताजा मामला 15 अक्तूबर की शाम लगभग साढ़े सात बजे बिहारशरीफ स्थित महुआ टोला दरगाह के पास का है। उस समय चारों तरफ अंधेरा था। 15-20 लोगों की भीड़ ने अलग-अलग तीन लोगों का पहले धर्म पूछा और फिर उनकी बुरी तरह से पिटाई कर दी। इनमें मोहम्मद राजा, सद्दाम कुरैशी और हासमा शामिल हैं। येे तीनों सोहसराय थाना के तहत महुआ टोला के रहने वाले हैं। राजा दर्ज़ी हैं और सद्दाम कबाड़ी का काम करते हैं। वायरल वीडियो में राजा और सद्दाम घटना का ब्योरा इस तरह देते हैं।

19 अक्तूबर को बिहार लोक संवाद डॉट ने राजा से मोबाइल पर संपर्क किया। राजा ने बताया कि वह गवाही के लिए 18 अक्तूबर की शाम को सोहसराय थाना गये थे। लेकिन मॉब लिंचिंग वाले मामले में पुलिस ने अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की है। राजा ने बताया कि उन्होंने बाइक की रौशनी में एक आरोपी मनीष को पहचान लिया है। उन्होंने मनीष समेत तमाम आरोपियों को क्रिमिनल बताया। मनीष की तस्वीर राजा ने उपलब्ध कराई जिसकी बिहार लोक संवाद तस्दीक नहीं करता। बिहार लोक संवाद ने सोहसराय थाना से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया।

सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष शमीम अखतर ने पटना में बिहार लोक संवाद डॉट नेट से बातचीत करते हुए मॉब लिंचिंग की हालिया घटनाओं की निंदा की। उन्होंने दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग भी की।

 342 total views

Share Now

Leave a Reply