कौन एमएलसी बनेगा बिहार का नया अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री?

बिहार लोक संवाद ब्यूरो
पटना, 16 नवंबर: बिहार में नई सरकार के गठन की प्रक्रिया आरंभ होने के साथ ही इस बात पर मंथन शुरू हो गया है कि सरकार प्रदेश सरकार का अलपसंख्यक कल्याण मंत्री कौन होगा। इसकी वजह यह है कि एनडीए में एक भी मुस्लिम विधायक नहीं है।

इस बार के विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने एक भी मुसलमान को टिकट नहीं दिया था। वहीं, जनता दल (यू) ने 11 मुस्लिम उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था लेकिन किसी को भी जीत नसीब नहीं हुई। इनमें पिछली सरकार में इकलौते मुस्लिम और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फीरोज अहमद भी शामिल हैं जो चुनाव हार चुके हैं। ये वही खुर्शीद हैं जो जय श्रीराम का नारा लगाकर काफी चर्चित हुए थे।

नई सरकार में बिहार विधान परिषद् के किसी मुस्लिम सदस्य को अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बनाए जाने की संभावना है। फिलहार जेडीयू के छह मुस्लिम परिषद् सदस्य यानी एमएलसी हैं। इनमें से खालिद अनवर, प्रो. गुलाम गौस, मौलाना गुलाम रसूल बलियावी और कमर आलम चर्चित चेहरे हैं। संभावना है कि इनमें से किसी पिछड़े वर्ग से आने वाले एमएलसी को मंत्री बनाया जाए।

 921 total views

Share Now

Leave a Reply