छपी-अनछपीः दिल्ली में सिसोदिया पर सीबीआई लगी, बिहार में आरोपः ’जीजा-साले की है सरकार’

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। बिहार में इस समय सुखाड़ के आसार हैं लेकिन बदलती राजनीति के मौसम में आरोप और जवाबी इल्जाम की बरसात आयी हुई है। जब से सरकार बदली है, भाजपा बेहद आक्रामक विपक्ष की भूमिका में है। उधर, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के ठिकानों पर सीबीआई के लगने की खबर पहले पेज पर है लेकिन आज अखबारों में सुखाड़ की आशंका की खबर ही सबसे प्रमुखता से छपी है।
भास्कर की सबसे बड़ी खबर की सुर्खी हैः बिहार में सामान्य से 42 फीसदी कम हुई बारिश, 15 छोटी नदियां सूखीं…मोर्चे पर उतरे मुख्यमंत्री। प्रभात खबर की सुर्खी हैः किसानों को 16 घंटा बिजली देंः सीएम। हिन्दुस्तान में भी यही सबसे बड़ी खबर हैः सूखा प्रभावित किसानों को हर संभव मददः सीएम। यह खबर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गया, औरंगाबाद और जहानाबाद जिलों के हवाई सर्वे पर आधारित है। वैसे, बीस दूसरे जिलों में बारिश और बिजली गिरने के आसार की खबर भी छपी है।
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के ठिकानों पर छापे की खबर सभी अखबारों में प्रमुखता से छपी है। यह मामला दिल्ली की एक्साइज पाॅलिसी 2021-22 बनाने और लागू करने में अनियमितता बरतने का है। उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिसोदिया को दुनिया का सबसे अच्छा शिक्षा मंत्री बताकर उनका बचाव किया है। इधर, भाजपा नेताओं का कहना है कि इस मामले में केजरीवाल को भी लपेटा जाएगा।
अब जरा वो सुर्खियां पढ़िए जो बयानों के बरसात से उपला रही हैं। ’अराजकता की ओर बढ़ रहा बिहार, जीजा-साले की है सरकारः तारकिशोर प्रसाद’। ’सुशील मोदी ने उठाया सवाल- आखिकरकार बैठकों में कैसे पहुंचे शैलेश कुमार।’ शैलेश कुमार लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा देवी के पति हैं। उनपर आरोप है कि वे पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री तेज प्रताप यादव की जगह विभाग की बैठकों का संचालन कर रहे थे। इसके जवाब में राजद का बयान पढ़िएः सुशील मोदी मंेटल डायरिया का शिकार हो चुके हैं। इसके अलावा खान एवं भूतत्व मंत्री रामनंद यादव ने बयान दिया है कि सुशील मोदी के परिजनों ने अकूत संपत्ति बनायी है, जांच करायी जाएगी।
इस बहस में हिन्दुस्तान की यह हेडिंग भी रोचक हैः लालू की बेटी ने चैबे के पीछे खड़े उनके बेटे की तस्वीर पोस्ट कर उठाये सवाल। लालू की बेटी रोहिणी आचार्य ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चैबे की बैठक में उनके बेटे अर्जित की मौजूदगी की तस्वीर जारी कर यह सवाल उठाया है। इधर, जदयू ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में 33 मंत्री दागी हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के योगी सरकार में 22 दागी मंत्री होने का आरोप भी लगाया है।
जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और अब पार्टी से इस्तीफा दे चुके आरसीपी सिंह ने बयान दिया है कि ललन सिंह झूठ व दबंगता की राजनीति करते हैं।
हिन्दुस्तान की खास खबर हैः पूर्व मंत्री नीरज बबलू पर आय छुपाने का आरोप। नीरज बबलू छातापुर से भाजपा के विधायक हैं और पिछली सरकार मे वन एवं पर्यावरण मंत्री थे। उन पर आरोप है कि उन्होंने 2020 के विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग को दिये गये हलफनामे में अपनी संपत्ति के बारे में जानकारी छिपायी है। आरोप है कि इनके पास एक करोड़ की अघोषित संपत्ति मिली है।
अनछपीः मनीष सिसोदिया दिल्ली की सरकार, जो अधिकारों के लिहाज से आधी है, के शिक्षा मंत्री के तौर पर जाने जाते हैं और उनके प्रचार तंत्र ने यह बात बतायी है कि कैसे दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बच्चे बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी यानी ’आप’ के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ’छोटा रिचार्ज’ का उलाहना भी सुनना पड़ता है क्योंकि उनकी बहुत सी नीतियां वही हैं जो भाजपा की हैं और उसमें पूरी कोशिश रहती है कि हिन्दू आस्था व संस्कृति से पूरा लगाव दिखे। इसके अलावा पंजाब में कांग्रेस को पस्त कर ’आप’ ने पहली बार किसी पूर्ण राज्य में सरकार बनायी है। ऐसे में भाजपा ’आप’ को अपना ऐसा प्रतिद्वंद्वी मानती है जो उसकी ही नीतियों से उसे पछाड़ सकती है। मगर ’आप’ को केन्द्रीय एजेंसियों से तभी शिकायत रहती है जब उसका कोई नेता फंसता हो। ऐसे में राष्ट्रीय जनता दल के राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने सही सवाल उठाया है कि ’आप’ को उस समय भी बोलना चाहिए जब विपक्ष के दूसरे सदस्यों के खिलाफ केन्द्रीय एजेंसियों- सीबीआई और ईडी- आदि का इस्तेमाल होता है।

 340 total views

Share Now

Leave a Reply