छपी-अनछपीः शहरी निकायों का चुनाव अक्तूबर में, तिरंगा लिये शिक्षक अभ्यर्थी पर लाठीचार्ज

बिहार लोक संवाद डाॅट नेट, पटना। बिहार में पंचायतों का चुनाव तो समय पर हो गया लेकिन शहरी निकायों यानी निगमों, परिषदों और नगर पंचायतों का चुनाव टलता गया। आज के अखबारों मंे खबर है कि इसके लिए तारीख का ऐलान अगले महीने होगा। पटना में शिक्षक बनने के उम्मीदवारों पर लाठीचार्ज और खासकर तिंरगा लिये अभ्यर्थी पर एडीएम द्वारा लाठी चलाने की खबर प्रमुखता से छपी है।
हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी खबर हैः नगर निकाय चुनावों की घोषणा सितंबर मंे। इसके लिए सभी जिलों में सेल बनाने का निर्देश दिया गया है। प्रभात खबर की सबसे बड़ी सुर्खी बताती हैः राज्य में नगरपालिका चुनाव का चुनाव अक्टूबर में।
जागरण की सबसे बड़ी खबर हैः रूस ने पकड़ा भारत में हमले की तैयारी में जुटा आईएस आतंकी। भास्कर में इसकी सुर्खी हैः रूस में आईएस आतंकी पकड़ाया, भारत में बड़े नेता पर आत्मघाती हमले की साजिश रची।
भास्कर की लीड हैः पितृ मुक्ति महापर्व में शापमुक्त होगी फल्गु, नीतीश बोले- अब इसमें साल भर पानी। यह खबर बाकी जगह भी अच्छे से छपी है। हिन्दूू परंपरा में ऐसा माना जाता है कि फल्गु नदी शाप के कारण सूखी रहती है। भास्कर ने फल्गु में पानी आने को उसका शाप मुक्त होना लिखा है।ं
शिक्षक अभ्यर्थियों के प्रदर्शन पर लाठी चार्ज की खबर हिन्दुस्तान में पहले पेज पर तस्वीर के साथ छपी हैः तिरंगा लेकर प्रदर्शन कर रहे शिक्षक अभ्यर्थी को एडीएम ने पीटा। भास्कर ने लिखा हैः जिस तिरंगे को देख कर यूक्रेन में युद्ध थमा था ताकि बच्चे निकलें…उसी पर एडीएम ने चलाईं लाठियां। किसी अखबार ने इस बात को उजागर नहीं किया है कि क्या धरना-प्रदर्शन निर्धारित जगह पर हो रहा था।
दिल्ली हाईकोर्ट के भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन पर रेप का मुकदमा चलाने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल रोक लगा दी है। यह खबर सभी जगह प्रमुखता से छपी है।
बिहर विधानसभा में कल यानी 24 अगस्त को विश्वास प्रस्ताव पर बहस होनी है। ऐसे में विधानसभा अध्यक्ष भाजपा के विजय कुमार सिन्हा का इस पद से हटना तय माना जा रहा है लेकिन वे इस्तीफा देंगे या अविश्वास प्रस्ताव पारित होने पर हटेंगे, इस पर संशय बना हुआ है। हिन्दुस्तान ने लिखा है कि दोनों हालत में कल नये विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो पाएगा। प्रभात खबर की हेडिंग हैः इस्तीफे पर स्पीकर चुप, पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी।
हिन्दुस्तान की खास खबर हैः पटना एम्स में डाॅक्टरों की कमी से न्यूरोलाॅजी और नेफ्रोलोजी बंद। वास्तविकता यह है कि एम्स के कई विभाग सही से काम नहीं कर रहे हैं। कई जांच की सुविधा भी अभी वहां नहीं है।
इस बीच स्पटाइपेंड को लेकर पीएमसीएच और अन्य मेडिकल काॅलेजों में इंटर्न की हड़ताल से ओपीडी सेवा ठप रहने की खबर भी प्रमुखता से छपी है। एनएमसीएच में तो मरीजों ने तोड़फोड़ भी की है।
अनछपीः पटना में आंदोलनकारियों पर लाठी चार्ज होना दुखद तो है मगर इसमें कोई नयी बात है तो वह है भाजपा का आक्रामक रुख। भाजपा जब नीतीश कुमार के साथ थी तो कई बार कई आंदोलनकारियों पर जमकर लाठियां चली हैं। इस बार तो उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने घटना की जांच कर दोषी अधिकारी पर कार्रवाई की बात भी कही है। इसके अलावा पटना के डीएम ने भी कार्रवाई के साथ यह बात भी कही है कि धरना-प्रदर्शन वहीं होगा जो जगह इसके लिए निर्धारित हैै। एक और बाद जदयू के सीनियर लीडर और मंत्री विजय कुमार चैधरी ने कही है। हिन्दुस्तान के अनुसार उन्होंने कहा है कि अभ्यर्थियों को तिंरगा थमा कर भाजपा कर रही साजिश। अगर भाजपा साजिश कर रही है तो सरकार को चेतना चाहिए और अनावश्यक बल प्रयोग से बचना चाहिए और दोषी लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए। वैसे, यह बात भी ध्यान देने की है कि भाजपा के राज में रहते ऐसे लाठी चार्ज की खबरें राष्ट्रीय मीडिया में जगह नहीं पाती थी।

 456 total views

Share Now

Leave a Reply